हरियाणा / कैंसर मरीज से बिल पास कराने के बदले अधीक्षक ने मांगे पैसे, सस्पेंड



Superintendent sought bribe in exchange for passing bill to cancer patient
X
Superintendent sought bribe in exchange for passing bill to cancer patient

  • सीएम विंडो की शिकायतों में लापरवाही बरतने पर सख्त कार्रवाई
  • तीन कर्मियों को कारण बताओ नोटिस और 1 कर्मी को रूल-7 के तहत चार्जशीट किए जाने के निर्देश
     

Dainik Bhaskar

Aug 14, 2019, 07:07 AM IST

पानीपत. प्रदेश में भ्रष्टाचार कम होने का नाम नहीं ले रहा। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग में अधीक्षक ने कैंसर मरीज से ही बिल पास करवाने के बदले में पैसे की मांग कर दी, जबकि एक अन्य मामले में भगत फूल सिंह राजकीय मेडिकल कॉलेज खानपुर की एक अधीक्षक ने क्लर्क भर्ती के लिए सरकार द्वारा निर्धारित की गई शैक्षणिक योग्यता को बदलकर स्नातक से 12वीं कर दिया। जबकि रोडवेज में भी टैक्स चोरी का मामला सामने आया है। यह मामले सीएम विंडो पर आए।

 
सीएम विंडो पर प्राप्त शिकायतों के सही निपटान न करने और काम में लापरवाही बरतने पर कड़ा संज्ञान लेते हुए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की अधीक्षक नीलम और भगतफूल सिंह राजकीय मेडिकल कॉलेज, खानपुर कलां की अधीक्षक सुरेश कुमारी को सस्पेंड करने के निर्देश जारी किए गए हैं, जबकि विभिन्न विभागों के 3 कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस और एक कर्मचारी को रूल-7 के तहत चार्जशीट किए जाने के भी निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी कार्यक्रम के परियोजना निदेशक डॉ. राकेश गुप्ता ने मंगलवार को सीएम विंडो के संबंध में नोडल अधिकारियों के साथ बैठक की। 

 

कैंसर मरीज से भी मांगे पैसे : बैठक में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अंतर्गत विभाग की अधीक्षक द्वारा कैंसर मरीज से बिल पास करवाने की एवज में पैसों की मांग करने की शिकायत मिली। इस मामले को दो साल से लंबित रखने के आरोप थे। इस विभाग की अधीक्षक नीलम को सस्पेंड करने के निर्देश दिए गए हैं। विभाग को इस मामले में एक सप्ताह में कार्रवाई करने और कैंसर मरीज काे पैसे देने के भी निर्देश दिए गए। इसके अलावा भी अधीक्षक पर 6 अन्य मामलों में भी इसी तरह ढील बरतने के कई मामले सामने आए हैं। इस पर विभागीय कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए हैं।

 

परिवहन विभाग में टैक्स चोरी, दो को कारण बताओ नोटिस : बैठक में परिवहन विभाग के अंतर्गत टैक्स चोरी के दो अलग-अलग मामलों की शिकायत प्राप्त हुई। इन शिकायतों का सही तरीके से निपटान न करने और काम में लापरवाही बरतने पर विभाग के दो अधीक्षकों वीरेंद्र शर्मा व अनिल रॉय को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए हैं।

 

राजस्व विभाग के तहसीलदार चार्जशीट : बैठक में पुलिस विभाग के अंतर्गत एक शिकायत प्राप्त हुई, जिसमें कुछ कर्मचारियों द्वारा रिकॉर्ड के साथ छेड़छाड़ करके ग्राम पंचायत की जमीन को निजी पक्षों के नाम किया गया है। इस मामले में दो एफआईआर पहले ही दर्ज हो चुकी हैं। इस मामले पर संज्ञान लेते हुए जमीन स्थानांतरण में मिलीभगत को देखते हुए राजस्व विभाग के तहसीलदार को रूल-7 के तहत चार्जशीट करने के निर्देश दिए गए हैं। विकास एवं पंचायत विभाग के तहत भ्रष्टाचार की एक शिकायत आई जो काफी लंबे समय से एसडीओ पंचायती राज के पास लंबित है। संबंधित एसडीओ को कारण बताओ नोटिस जारी करने और मामले के जल्द निपटान के निर्देश जारी किए हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना