--Advertisement--

जो काम प्रेम के माध्यम से संभव है वह हिंसा से नहीं हो सकता : पं. किशोर

Panipat News - सतकरतार कॉलोनी में चल रही सात दिवसीय श्रीमद‌्भागवत कथा का शनिवार को संपन्न हुआ। कथा वाचक वृंदावन के पं नवल किशोर...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:21 AM IST
Panipat News - the work that is possible through love can not be from violence pt kishor
सतकरतार कॉलोनी में चल रही सात दिवसीय श्रीमद‌्भागवत कथा का शनिवार को संपन्न हुआ। कथा वाचक वृंदावन के पं नवल किशोर कहा कि जो काम प्रेम के माध्यम से संभव है वह हिंसा से संभव नहीं हो सकता है। क्षणभंगुर इस जीवन में देश एवं समाज के लिए अच्छे कामों द्वारा अपना छाप छोड़ने को कहा। समाज में कुछ लोग ही अच्छे कर्मों द्वारा सदैव चिर स्मरणीय होता है। इतिहास इसका साक्षी है।

पं नवल किशाेर ने कहा कि हवन-यज्ञ से वातावरण एवं वायुमंडल शुद्ध होने के साथ-साथ व्यक्ति को आत्मिक बल मिलता है। व्यक्ति में धार्मिक आस्थाएं जागृत होती हैं। दुर्गुणों की बजाय सद्गुणों के द्वार खुलते हैं। यज्ञ से देवता प्रसन्न होकर मनवांछित फल प्रदान करते हैं। उन्होंने बताया कि भागवत कथा के श्रवण से व्यक्ति भव सागर से पार हो जाता है। श्रीमद् भागवत से जीव में भक्ति, ज्ञान एवं वैराग्य के भाव उत्पन्न होते हैं। इसके श्रवण मात्र से व्यक्ति के पाप पुण्य में बदल जाते हैं। विचारों में बदलाव होने पर व्यक्ति के आचरण में भी स्वयं बदलाव हो जाता है।

X
Panipat News - the work that is possible through love can not be from violence pt kishor
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..