विज्ञापन

हरियाणा / 60-70 किलोमीटर प्रति घंटा तीव्र गति से चल सकती है आंधी, किसानों के सपनों पर फिर न जाए पानी

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 06:01 AM IST


करनाल | अनाज मंडी में गेहूं की तुलवाई न होने कारण पड़ी गेंहू। यदि बारिश हुई खुले में पड़े लाखों टन गेहूं को नुकसान होगा। करनाल | अनाज मंडी में गेहूं की तुलवाई न होने कारण पड़ी गेंहू। यदि बारिश हुई खुले में पड़े लाखों टन गेहूं को नुकसान होगा।
X
करनाल | अनाज मंडी में गेहूं की तुलवाई न होने कारण पड़ी गेंहू। यदि बारिश हुई खुले में पड़े लाखों टन गेहूं को नुकसान होगा।करनाल | अनाज मंडी में गेहूं की तुलवाई न होने कारण पड़ी गेंहू। यदि बारिश हुई खुले में पड़े लाखों टन गेहूं को नुकसान होगा।
  • comment

  • आज और कल रबी की फसलों पर भारी, कल दोपहर बाद साफ होगा मौसम

पानीपथ. रबी की फसलें मौसम के अच्छे मिजाज से सीजन में बहुत अच्छी पकी हैं। अब सबसे बड़ी फसल गेहूं पर दो दिनों का संकट है। प्रदेश के काफी इलाकों में अाज और कल बरसात के साथ ओले पड़ सकते हैं। ऐसे में न केवल उत्पादन प्रभावित हो सकता है, बल्कि गेहूं का सीजन भी लेट हो सकता है। यदि बरसात के साथ तेज हवा चली तो नुकसान और भी बढ़ सकता है। 


मंडियों में जिन किसानों का गेहूं पहुंच चुका है, वह भीग सकता है। ऐसे में किसानों को एहतियात बरतने की जरुरत है। प्रदेश की अनाज मंडियों में अब तक करीब तीन लाख टन गेहूं की खरीद हो चुकी है। जबकि रोजाना एक लाख टन के करीब गेहूं की आवक हो रही है। यानी दो दिन यदि बरसात होती है तो गेहूं की खरीद का कार्य भी प्रभावित हो सकता है।

पत्र जारी कर पुख्ता इंतजाम करने के आदेश

  1. मार्केटिंग बोर्ड के सीओ जे गणेशन की ओर से प्रदेश के सभी मार्केट कमेटी के सचिवों को पत्र के जरिए आदेश दिए गए हैं कि किसानों का गेहूं बरसात के कारण भीगने न पाए। आढ़तियों को तिरपाल आदि तैयार रखने काे कहा गया है। यही नहीं जो गेहूं खरीदा जा चुका है, उसकी लिफ्टिंग भी तेजी से हो रही है। प्रदेश में करीब 385 अनाज मंडियों में गेहूं की खरीद हो रही है। अनाज मंडियों में करीब 50 हजार टन गेहूं देर रात तक पहुंचता है, क्यांेकि कंबाइन से कटाई भी शुरू हो चुकी है। 

  2. आंधी और ओले पड़ने की संभावना

    आईएमडी के अनुसार 16 व 17 अप्रैल को प्रदेश के काफी इलाकों मंे 60 से 70 किलोमीटर प्रति घंटा आंधी चलने, बरसात होने के अलावा ओले पड़ने की संभावना है। 17 अप्रैल दोपहर बाद तक आसमान के साफ होने की संभावना बनेगी। ऐसे में किसानों को चाहिए कि वे मौसम को ध्यान में रखते हुए ही फसल की कटाई का कार्य करें।
     

  3. पारा सामान्य से 5 डिग्री अधिक हुआ

    प्रदेश में पारा लगातार बढ़ रहा है। गर्म हवाओं से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। सोमवार को करनाल का अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं अधिकांश जिलों में दिन का पारा 38 से 39 डिग्री के आस-पास रहा। अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री अधिक दर्ज किया गया है।
     

  4. ये हो सकता है नुकसान

    कृषि अधिकारियों का कहना है कि यदि ओले पड़े या तेज हवा चली तो गेहूं की पकी फसल को नुकसान हो सकता है। बरसात में फसल के भीगने से भी क्वालिटी प्रभावित हो सकती है। अमूमन अप्रैल में इस तरह से पश्चिम विक्षोभ आते हैं और बरसात भी होती हैं। लेकिन ओले पड़ने या तेज हवा से नुकसान हो सकता है।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन