रेवाड़ी / मुकाबला त्रिकोणीय, भाजपा के बागी विधायक बिगाड़ सकते हैं समीकरण



रेवाड़ी की आनाज मंडी में आजकल नेताओं की हार-जीत के समीकरण पर ही चर्चाएं चल रही हैं। रेवाड़ी की आनाज मंडी में आजकल नेताओं की हार-जीत के समीकरण पर ही चर्चाएं चल रही हैं।
X
रेवाड़ी की आनाज मंडी में आजकल नेताओं की हार-जीत के समीकरण पर ही चर्चाएं चल रही हैं।रेवाड़ी की आनाज मंडी में आजकल नेताओं की हार-जीत के समीकरण पर ही चर्चाएं चल रही हैं।

  • चर्चा में सीट क्योंकि राव व कैप्टन परिवार की प्रतिष्ठा दांव पर है

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2019, 06:15 PM IST

अहीरवाल की अहम सीट रेवाड़ी, राव और कैप्टन परिवार की प्रतिष्ठा का सवाल बनी हुई है। टिकट बंटवारे के वक्त से ही यहां घटनाक्रम हो रहे हैं। कांग्रेस ने टिकट कैप्टन अजय को दिया, लेकिन उन्हाेंने बेटे चिरंजीव काे उतरवा दिया। कैप्टन खुद यहां से 5 बार जीते हैं। भाजपा विधायक कापड़ीवास की टिकट कटी तो वे बागी होकर निर्दलीय उतर गए। राव इंद्रजीत सुनील मुसेपुर को टिकट दिलवा लाए। अब यहां त्रिकोणीय मुकाबला है। जनता मनेठी एम्स, सीवरेज व टूटी सड़काें पर जवाब मांग रही है ताे कार्यकर्ता अनदेखी का आरोप लगा रहे हैं... इस पर पढ़िए विवेक मिश्रा की रिपोर्ट

 

दोपहर दो बजे अनाज मंडी में चौपाल लगाकर आढ़ती और जमींदार हुक्के की गुड़गुड़ाहट के बीच चुनावी चर्चा करते हुए मिले। ओमप्रकाश, शिवचरण, पवन कुमार, रामनरेश, भूप सिंह ने बताया कि शहर की समस्याएं निपटी नहीं हैं। सेक्टरों में सड़कें टूटी हैं। मामूली बारिश में जलभराव हो जाता है। सीवरेज व ड्रेनेज सिस्टम ठीक न होने से शहर में जलभराव की स्थिति बन आती है।

 

यह सब मुद्दे फिर से मैदान में हैं। धनौरा चिल्हड़ गांव के ओमप्रकाश ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में भले ही नए चेहरों को मौका दिया हो, लेकिन रूठे विधायक रणधीर सिंह कापड़ीवास के निर्दलीय मैदान में आने से मुकाबला रोचक हुआ है। क्षेत्रीय दलों का बहुत ज्यादा अहम रोल नहीं रहेगा। चुनावी मुकाबला तो इन तीनों उम्मीदवारों के बीच ही है। जमींदार पवन कुमार ने कहा कि सांसद राव इंद्रजीत सिंह सुनील मुसेपुर को नाटकीय तरीके से टिकट दिलवाने में कामयाब हुए हैं। भाजपा के विधायक रणधीर सिंह कापड़ीवास बागी होकर निर्दलीय मैदान में हैं। रणधीर सिंह की जनता के बीच अच्छी पैठ है।

 

इसलिए कयास लगाए जा रहे हैं भाजपा प्रत्याशी और निर्दलीय प्रत्याशी के बीच टक्कर होगी, जिसका सीधा फायदा कांग्रेस प्रत्याशी चिरंजीव राव को मिलने की संभावना है। गांव काकोडिया के जमींदार कंवर सिंह ने कहा कि पहली बार पिछले साल किसानों को सरकार की ओर से सर्वाधिक मुआवजा दिया गया। किसानों की फसल सरकार निर्धारित समर्थन मूल्य पर खरीदकर ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत बैंक खातों में राशि का भुगतान हो रहा है। खरीदने और बेचने वालों के बीच बिचौलियों का हस्तक्षेप खत्म हुआ है। आढ़ती अशोक कुमार और संजय गुप्ता ने कहा कि वर्तमान में 15 प्रत्याशी चुनाव में भाग्य आजमा रहे हैं। किसी भी उम्मीदवार के पास ठोस मुद्दे नहीं हैं। वे सिर्फ आरोप प्रत्यारोप लगाने में जुटे हैं।

 

नई अनाज मंडी में 1989 से बनी हुई आढ़तियों की दुकानें हैं। मार्केट कमेटी के अधिकारियों को सारे दस्तावेज उपलब्ध कराने के बाद भी आज तक दुकानों को ट्रांसफर नहीं किया गया। इससे आढ़ती वर्ग निराश है। बस स्टैंड पर रोडवेज कर्मचारी चुनावी समीकरण बनाकर भाजपा, कांग्रेस और बागी प्रत्याशी के त्रिकोणीय मुकाबले की गुत्थी को सुलझाने का प्रयास करते दिखे। इस बीच जब उनसे पिछले पांच साल के कार्यकाल में हुए विकास कार्यों के बारे में बात की तो उन्होंने कहा कि भाई वो सरकारी कर्मचारी हैं। सरकार के विरोध में नहीं बोल सकते हैं। हां, ये जरूर है कि शहर में सीवर ड्रेनेज सिस्टम को सुधारने की दिशा में पहल नहीं हुई। बाजारों में अतिक्रमण है, इससे आवागमन मुश्किल रहता है। अब चुनाव ने जोर पकड़ा है तो फिर वादों की बौछार हाे गई है। बच्चों के साथ आई महिला शिवदेवी, संतों ने बताया कि यहां का बस स्टैंड विकास होने की बाट जोह रहा है। यहां पर यात्रियों से ज्यादा मवेशियों का जमावड़ा रहता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना