क्राइम / सिनेमा घर में एटीएम स्वाइप करने वाले ग्राहकों का बना लेते थे क्लोन, फिर करते थे ठगी



पुलिस गिरफ्त में आरोपी। पुलिस गिरफ्त में आरोपी।
X
पुलिस गिरफ्त में आरोपी।पुलिस गिरफ्त में आरोपी।

  • फरीदाबाद पुलिस ने एटीएम क्लोन बनाकर पैसे निकालने वाले गैंग के चार सदस्य किए गिरफ्तार

Dainik Bhaskar

May 16, 2019, 07:01 PM IST

फरीदाबाद। एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर लोगों के खाते से पैसे निकालने वाले गैंग के चार सदस्यों को क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से पुलिस ने वारदात में प्रयोग की जाने वाली एमएसआर मशीन, एक लैपटॉप, 3 मिनी डीएक्स मशीन, चार्जर, लीड एवं 10 ब्लैंक कार्ड इत्यादि इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद किए गए हैं। गुरुवार को आरोपियों को कोर्ट में पेश कर 5 दिन का पुलिस रिमांड लिया गया है। 

सेक्टर 12 स्थित सिनेमा घर में करते थे नौकरी

  1. पकड़े गए आरोपियों की पहचान सेक्टर 56 निवासी शिवम सिंह पुत्र घनश्याम, पर्वतीय कॉलोनी निवासी नरेंद्र सिंह पुत्र भाग्य चंद, राहुल पुत्र अशोक कुमार और मुकेश कॉलोनी बल्लभगढ़ निवासी हिमांशु तायल पुत्र संजय तायल के रूप में हुई है।
     

  2. एसीपी क्राइम अनिल कुमार ने सेक्टर 30 में प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि आरोपी राहुल और नरेंद्र सेक्टर 12 स्थित सिल्वर सिटी माॅल में स्थित सिनेमा घर में नौकरी करते थे। उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच में आरोपियों द्वारा करीब आधा दर्जन घटनाओं को अंजाम देने की बात सामने आई है।
     

  3. उन्होंने बताया कि सिनेमा में आने वाले लोग जो अपना कार्ड स्वैप कराते थे उनके कार्ड को स्वैप मशीन में स्वैप कर पास रखी दूसरी मिनी डीएक्स मशीन में भी स्वैप कर देते थे। साथ ही कार्ड मेम्बर के द्वारा डाले गए पासवर्ड (पिन कोड) भी देख कर नोट कर लेते थे। 

  4. नरेन्द्र और राहुल डाटा एकत्र कर अपने दोस्त शिवम सिंह व हिमांशु को दे देते थे। शिवम और हिमांशु उक्त डाटा से कार्ड का क्लोन तैयार करते थे। इसके बदले एक कार्ड पर नरेन्द्र व राहुल को 1500 रुपए देते थे। एसीपी ने बताया कि आरोपी हिमांशु व शिवम कार्ड का जरूरी डाटा मिनी डीएक्स मशीन से उसको एमएसआर मशीन(एक प्रकार की डाटा रीडर मशीन) में फीड करके एक ब्लैंक कार्ड में सभी डाटा डालकर कार्ड बना लेते थे। 

  5. इसके बाद उससे पैसे निकालने और शॉपिंग करते थे। असली कार्ड धारक के मोबाइल पर जब मैसेज आता था तब उसे घटना की जानकारी होती थी। उन्होंने बताया कि 16 अप्रैल 2018 में सेक्टर 7 थाना पुलिस और सदर बल्लभगढ़ ने धोखाधड़ी के चार केस भी दर्ज किया है। एसीपी ने बताया कि आरोपियों को कोर्ट में पेश कर पांच दिन की रिमांड पर लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।
     

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना