पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कूड़ा फैलाने वाले लोगों पर अाज से 22 टीमें रखेंगी नजर, चालान काटने की दी चेतावनी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एनजीटी और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट रुल्स 2016 पर अमल के लिए नगर निगम ने ठोस कार्य योजना तैयार करने का दावा किया है। इसके लिए वार्ड वार 7 सूत्रीय जागरूकता अभियान एक साथ चलाया जाएगा। अधिकारियों की 22 टीमें शहर में सफाई व कूड़ा निस्तारण संबंधित गतिविधियों पर नजर रखेंगी।

प्रतिबंधित प्लास्टिक में सामान खरीदने-बेचने पर पूर्णत: पाबंदी लगाने का दावा किया गया है। नाले में कूड़ा डालने पर 1500 रुपए जुर्माना भी वसूल किया जाएगा। यह फैसला बुधवार को अंबेडकर चौक स्थित नगर निगम कार्यालय में हुई अधिकारियों की बैठक में लिया गया। डीटीपी केके वार्ष्णेय ने कहा कि सभी टीमें 8 से 13 अगस्त तक अपने-अपने वार्ड में सभी नागरिकों को सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट 2016 और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट बाई लॉ 2018 के बारे में जानकारी देगी।

नगर निगम कार्यालय में अधिकारियों व कर्मचारियों की बैठक को संबोधित करते डीटीपी केके वार्ष्णेय।

डोर टू डोर कूड़ा गाड़ियां सूखा व गीला कूड़ा अलग ही लेगी

नियमों की अनदेखी पाई गई तो जिम्मेदार लोगों के खिलाफ नोडल अधिकारियों की ओर से एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी। 15 अगस्त के बाद डोर टू डोर कूड़ा उठान करने वाली निगम की गाड़ियां सूखा व गीला कूड़ा अलग-अलग ही लेगी। साथ ही कचरा अलग नहीं करने वालों से जुर्माना भी वसूल किया जाएगा। कंपोस्ट प्लांट नहीं लगाने वाले होटल, बैक्वेंट हॉल व सब्जी मंडी प्रबंधन के खिलाफ 15 अगस्त के बाद जुर्माना लगेगा।

इन नियमों की करनी होगी पालना

हर घर, दुकान, संस्थान में गीले व सूखे कूड़े के लिए अलग कूड़ेदान रखना व उसे अलग-अलग ही कचरा उठाने वाली गाड़ी में डालना जरूरी है।

किसी भी हाल मेंे प्रतिबंधित प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करना।

-मलबा, निर्माण सामग्री मलबा मात्र सुनारियां जेल रोड पर निर्धारित किए गए स्थल पर डालना।

पार्कों व घरों में जहां भी स्थान हो गीले कूड़े के लिए कंपोस्ट प्लांट, पिट बनवाना।

होटल, बैंक्वेट हॉल, धार्मिक स्थानों में प्रतिबंधित प्लास्टिक का प्रयोग न होने देना। गीले कूड़े के लिए कंपोस्ट प्लांट लगाना।

नालों की नियमित सफाई व उनको कवर करना।

सॉलिड वेस्ट, प्लास्टिक वेस्ट, सीएनडी वेस्ट, बॉयो मेडिकल वेस्ट और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट रूल्स 2016 का पूर्णत: पालन करना।

खबरें और भी हैं...