कोरोना से निपटने के लिए प्रदेश में 447 अतिरिक्त डॉक्टर किए नियुक्त: सीएम

Rohtak News - लॉकडाउन आगे बढ़े, हम उसके लिए भी तैयार, आवश्यक वस्तुओं के लिए बनेंगी 20 हजार कमेटी सीएम मनोहर लाल ने कहा कि...

Apr 07, 2020, 08:06 AM IST

{लॉकडाउन आगे बढ़े, हम उसके लिए भी तैयार, आवश्यक वस्तुओं के लिए बनेंगी 20 हजार कमेटी

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए राज्य में 447 अतिरक्त डाॅक्टरों को नियुक्त किया गया है ताकि इस कार्य में किसी प्रकार की कोई बाधा न आए। 10 अन्य अस्पतालों को स्पेशल कोविड अस्पताल बनाने का निर्णय लिया गया है। टेस्टिंग का कार्य दो सरकारी और छह निजी टैस्टिंग लैब में किया जा रहा है। प्रदेश में इस महामारी से लडऩे के लिए चार प्रकार की हेल्पलाइन कार्य कर रही हैं।

मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत लगभग 6.50 लाख परिवारों को 15 मार्च से 31 मार्च तक 4000 रुपए प्रति परिवार की सहायता प्रदान की है। भवन निर्माण में लगे श्रमिकों के 3.50 लाख परिवारों, मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत ना आने वाले 6.50 लाख बीपीएल परिवारों, 1.50 लाख असंगठित क्षेत्र के मजदूरों सहित कुल 18 लाख परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान की गई है। इन सभी को 1000 रुपये प्रति सप्ताह की सहायता प्रदान की जा रही है। अभी तक 360 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं। इन हालातों के मद्देनजर 1200 करोड़ से 1500 करोड़ रुपए मासिक खर्च की संभावना बनती है, जो हम करते रहेंगे।

लॉकडाउन आगे बढ़े, हम उसके लिए भी तैयार

सीएम ने कहा कि लॉकडाउन की अवधि चाहे 14 अप्रैल को समाप्त हो रही हो पर यह परिस्थितियों पर निर्भर करता है कि हमारे प्रधानमंत्री क्या आह्वान करें। हम प्रकार की स्थिति का सामना करने के लिए तैयार हैं, लॉकडाउन चाहे चरणों में समाप्त हो या लॉकडाउन को आगे बढ़ाया जाए, हम उसके लिए भी तैयार हैं। प्रधानमंत्री ने गरीबों की सहायता के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना शुरू कर 1.70 लाख करोड़ रुपए की राशि जारी की है। हमने भी प्रदेश में हरियाणा कोरोना रिलिफ फंड की स्थापना की है, जिसमें 10 हजार लोगों ने अब तक 40 करोड़ रुपए का योगदान दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के कर्मियों ने 68 करोड़ रुपए की राशि का योगदान देने का आश्वासन दिया है। सप्लाई चैन को सुचारू रूप से चलाने के लिए 70 हजार स्वयंसेवकों ने अपने आपको पंजीकृत करवाया है। कोविड-19 से निपटने के लिए निजी अस्पताल भी अपना पूरा सहयोग दे रहें हैं और इन अस्पतालों में 25 प्रतिशत बेड कोविड पीड़ितों के लिए रखे गए हंै।

7344 बिस्तरों वाले आइसोलेशन वार्ड बनाए

चौदह ब्लाकों में 7344 बिस्तरों वाले आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। 3696 कमरे व डोरमैट्रीस में क्वारंटाइन की व्यवस्था की गई है। राज्य में 13396 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है और 26 हजार लोगों के क्वारंटाइन की व्यवस्था की गई है। डाक्टरों, नर्सों व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों के लिए 16190 पीपीई किट्स, 49000 एन-95 मास्क और 41000 सैनिटाइजर भी उपलब्ध करवाए हैं। ऐसे सामान की कोई कमी नहीं है और नए आर्डर भी दे दिए गए हैं। सरकार द्वारा चिकित्सकों के ठहरने के लिए कुछ होटलों और विश्राम गृहों में व्यवस्था की है। आवश्यक वस्तुओं, दवाओं आदि की आपूर्ति के लिए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने सप्लाई चेन बनाई है। शीघ्र ही ऐसी 20000 कमेटियां बनाई जाएंगी जो दवाओं, आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति और सर्वे जैसे विभिन्न कार्य करेंगे। हमें अभी सचेत रहना है क्योंकि खतरा अभी समाप्त नहीं हुआ है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना