इन बच्चों के हौसले और मुस्कान से कैंसर भी हार गया, 150 हो चुके स्वस्थ

Rohtak News - पीजीआई में शुक्रवार को हौसले, हिम्मत और जज्बात की जिंदा तस्वीर देखने को मिली। मौका था वर्ल्ड चाइल्ड कैंसर डे के...

Feb 15, 2020, 08:40 AM IST
Rohtak News - haryana news cancer has also been lost due to the courage and smile of these children 150 are healthy

पीजीआई में शुक्रवार को हौसले, हिम्मत और जज्बात की जिंदा तस्वीर देखने को मिली। मौका था वर्ल्ड चाइल्ड कैंसर डे के अवसर पर जागरूकता कार्यक्रम का। इस कार्यक्रम में कैंसर से जंग जीत चुके या लड़ रहे 54 बच्चों ने भाग लिया। 14 वर्ष तक के इन बच्चों ने जिस जिंदादिली से डांस, पेंटिंग और अन्य एक्टिविटी में भाग लिया, उसे देखकर खुशी से सभी की आंखें नम हो गईं। अपने बच्चों को खेलता देखकर परिजन भी एक पल के लिए भूल गए कि ये बच्चे कैंसर से लड़ रहे हैं। शिशु रोग विभाग ने कैनकिड्स किड्सकैन संस्था के सहयोग से यह कार्यक्रम किया। शुभारंभ निदेशक डॉ. रोहताश यादव, अर्जुन अवाॅर्डी बॉक्सर जितेंद्र कुमार, विभागाध्यक्ष डॉ. संजीव नंदा ने किया। डायरेक्टर ने कहा कि उनका प्रयास रहेगा कि कैंसर से पीड़ित बाल रोगियों के लिए एक अलग से स्पेशल वार्ड बनाया जाए। एसो. प्रोफेसर अलका यादव ने कहा कि पीजीआई में 10 वर्ष के दौरान ही 150 से ज्यादा बच्चों को ठीक किया जा चुका है। पेरेंट्स को सकारात्मक सोच रखते हुए इलाज करवाना चाहिए। बच्चों में ठीक होने की सफलता दर 90 प्रतिशत तक है। हर वर्ष बच्चों के 50 नए कैंसर के केस आते हैं। बच्चों की फन एक्टिवटी में ललिता कुमारी, राजकौर, विशाल, पूजा, हर्ष, तमन्ना, ललिता, समीर, विशाल, सोभित, उर्वशी व हरमन ने प्रतियोगिता जीती। संचालन हाउस सर्जन डॉ. जैसलीन ने किया।

बेटी को कैंसर हाेने का पता चला ताे ठाना-इसकी मुस्कान जाने नहीं देंगे

जींद के श्रमिक अशोक बताते हैं कि उनके दो बच्चे हैं। 10 अक्टूबर 2019 को पता चला 8 साल की बेटी छवि की जांघ के पास गांठ है। पीजीआई में चेकअप में पता चला कि उसे गांठ का कैंसर है। डॉ. अलका यादव ने उसे इलाज कराने के लिए अस्पताल में भर्ती कर लिया। लेकिन चिकित्सकों ने सलाह दी कि बिना सर्जरी कराए वो गांठ खत्म नहीं होगी। पीजीआई के पूर्व हड्‌डी रोग विशेषज्ञ डॉ. जिले सिंह कुंडू से संपर्क किया तो उन्होंने गांठ का सफल आॅपरेशन करने को आश्वस्त किया। उन्होंने 80 हजार रुपए का सहयोग कराकर आॅपरेशन करने को कहा है। पिता अशोक ने बताया कि उसने और प|ी सोनिया ने बच्ची के कैंसर होने का पता चलने के बाद हिम्मत नहीं टूटने दी बल्कि फैसला लिया कि कैसे भी हो बेटी के चेहरे की हर संभव ख्वाहिश पूरी कर उसकी मुस्कुराहट को बरकरार रखेंगे।

7 फरवरी को मनाना था बेटी का जन्मदिन, जांच रिपोर्ट में कैंसर का पता चला

े भालौठ निवासी श्रमिक सोमबीर ने बताया कि उसकी पांच साल की बेटी कनिका को चार फरवरी को अचानक दो से तीन खून की उल्टियां आईं। उसे फौरन पीजीआई में भर्ती करवाया गया। सोमबीर अपनी प|ी रेनू के साथ 7 फरवरी को बेटी कनिका का जन्मदिन वार्ड 14 के रूम में मनाने की तैयारी कर रहा था तभी रिपोर्ट में बेटी को ब्लड कैंसर होने की पुष्टि हुई। दोनों ने फैसला किया कि बेटी के चेहरे से मुस्कुराहट नहीं जाने देेंगे और उसका हरसंभव इलाज कराने के लिए जी जान लगा देंगे। चिकित्सक डॉ. अलका यादव ने आश्वस्त किया है कि कनिका को स्वस्थ करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

डायरेक्टर ने माना - कागजों पर चल रहा है न्यूक्लियर मेडिसन डिपार्टमेंट, सुधारेंगे

सेमिनार के दौरान डायरेक्टर डॉ. रोहतास कंवर यादव ने अपने संबोधन में स्वीकार किया कि न्यूक्लियर मेडिसन डिपार्टमेंट कागजों पर ही चल रहा है। जब-जब यह डिपार्टमेंट शुरू करने का प्रयास किया तो अनुभवी चिकित्सकों की कमी आड़े आई। कैंसर पीड़ित रोगियों की जांच की सुविधा के लिए जल्द ही पेट स्कैन मशीन संचालित की जाएगी।

रोहतक। पीजीआई में कैंसर पीड़ित बच्चों व उनके रिश्तेदारों ने डांस कर दिखाया हौसला।

Rohtak News - haryana news cancer has also been lost due to the courage and smile of these children 150 are healthy
Rohtak News - haryana news cancer has also been lost due to the courage and smile of these children 150 are healthy
X
Rohtak News - haryana news cancer has also been lost due to the courage and smile of these children 150 are healthy
Rohtak News - haryana news cancer has also been lost due to the courage and smile of these children 150 are healthy
Rohtak News - haryana news cancer has also been lost due to the courage and smile of these children 150 are healthy

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना