पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चंदन का तिलक लगाकर मनाएं होली: पदम नंदिनी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

सिविल रोड सराय माेहल्ला स्थित श्री दिगंबर जैन मंदिर मेंं चल रहे संगीतमय श्री 1008 सिद्धचक्र महामण्डल विधान के छठे दिन शनिवार को श्रद्धालुओं ने आर्यिका र| 105 पदम नंदनी माता के सानिध्य में पूजा अर्चना व विधान किया। पदम नंदिनी माता ने कहा कि यदि छोटे से छोटे बड़े से बड़े दुख और संकटों और अशांति का निवारण का सबसे उत्तम उपाय जिनेंद्र भगवान के चरणों में भक्ति भाव समर्पित होना। इससे शरीर में नई ऊर्जा का विकास होता हे। यह सिद्ध चक्र महामंडल विधान अनंत शुभ फलों का दाता है। कहा कि होली का पर्व आपसी प्रेम, भाईचारे का पर्व है। इसमें किसी भी तरह के पक्के रंग व पानी के साथ होली न खेलें। केवल केसर व चंदन का तिलक लगाकर होली का पर्व मनाएं। ग्रीन रोड में स्थित श्री दिगंबर जैन महावीर जिनालय मंदिर प्रात: 5:30 बजे बजे भगवान श्री पार्श्वनाथ भगवान का जलाभिषेक एवं महाशांति धारा समाजसेवी योगाचार्य डाॅ. एसके जैन व समाजसेवी अश्विनी जैन ने परिवार सहित श्रद्धालुओं के साथ की।

खबरें और भी हैं...