• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rohtak News haryana news chemical nicotin accessible from mumbai and delhi college students in the city hukka bar open with friends
--Advertisement--

मुंबई और दिल्ली से पहुंच रहा केमिकल निकोटिन, शहर में कॉलेज स्टूडेंट्स हुक्का बार खोलकर साथियों को फंसा रहे

Dainik Bhaskar

Jan 10, 2019, 03:25 AM IST

Rohtak News - शहर में चोरी-छिपे से मुंबई और दिल्ली से केमिकल निकोटिन पहुंच रहा है। स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाले 17 से 28 साल तक के...

Rohtak News - haryana news chemical nicotin accessible from mumbai and delhi college students in the city hukka bar open with friends
शहर में चोरी-छिपे से मुंबई और दिल्ली से केमिकल निकोटिन पहुंच रहा है। स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाले 17 से 28 साल तक के युवाओं को ये केमिकल हरियाणा की शान हुक्के के नाम में पिलाया जा रहा है। ड्रग कंट्रोल विभाग के अनुसार नशे का ये रूप कोकीन से भी खतरनाक हैै। बुधवार को ड्रग कंट्रोल ऑफिसर डॉ. मनदीप मान की टीम ने आर्यनगर में हुक्का बार नुक्कड़ स्नूकर प्वाइंट नाम से चल रहे एक क्लब और छोटूराम चौक पर आसाराम कॉम्प्लैक्स में शीशा कैफे के नाम से चल रहे हुक्का बार का पर्दाफाश किया। कंट्रोल ऑफिसर डॉ. मनदीप मान ने बताया कि पायजन एक्ट, टोबेको एक्ट ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट के तहत दीपांशु, एविल, बाबरा मोहल्ले के दीपांशु और सुरेंद्र के खिलाफ केस दर्ज करा दिया है। इनसे 7 प्रकार के फ्लेवर्ड तंबाकू के छह बड़े पैकेट और 15 हुक्के बरामद हुए हैं। पुलिस ने जिन युवकों पर केस दर्ज किया है इनमें से तीन शहर के ही एक कॉलेज के स्टूडेंट्स हैं। पैसे के लालच में ये इस कारोबार में आए थे।

शातिरों का साफ्ट टारगेट यूथ : स्टूडेंट्स को आसानी से अपने साथ जोड़ रहे अपराधी, पार्टनरशिप तक का लालच दे अपने जाल में फंसाते हैं

आरोपी बोला- सर प्लीज मुझे छोड़ दो, पापा हार्ट पेशेंट हैं

ड्रग विभाग की टीम द्वारा हुक्का बार चलाते पकड़े गए तीन युवकों में से एक युवक ने ड्रग विभाग की टीम के सामने गिड़गिड़ाते हुए गुहार लगाई कि सर प्लीज छोड़ दो मेरे पापा हार्ट पेशेंट है और चाचा की कल ही क्रिया हुआ है। अगर मेरे परिवार वालों को पता चलेगा तो कोई भी बढ़ी घटना घटित हो सकती है। हालांकि नशे के कारोबार से जुड़े इस युवक पर टीम ने कोई रहम नहीं किया और उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

हुक्का बार सिंडीकेट नहीं तोड़ पाई पुलिस व ड्रग कंट्रोल टीम

शहर में हुक्का बार पर पुलिस और ड्रग कंट्रोल विभाग की ओर से हर साल इन हुक्का बार पर कार्रवाई की बात कही जाती है। लेकिन आंकड़े बता रहे हैं कि जितनी कार्रवाई ये दोनों विभाग मिलकर नशे के इन सौदागरों पर करते हैं हकीकत उसके उलट है। शहर के हर गली मुहल्ले में हुक्का बार का सिंडीकेट अपनी जड़ें जमा चुका है। परचून तक की दुकानों पर फ्लेवर्ड तंबाकू आसानी से उपलब्ध हो रहा है।

आर्यनगर में हुक्का बार में पकड़े गए युवक। आरोपी युवकों को काबू कर ले जाते ड्रग कंट्रोल विभाग के अिधकारी।

अभी तक हुक्का बार पर एक्शन

2012 में 4, 2015 में एक, 2017 में एक, 2018 में 2 , 2019 में अब तक 2 मामले।

ये है सजा का प्रावधान







खुफिया विभाग की रिपोर्ट : शहर में 12 बड़े हुक्का बार, रेट 200 से 500

रोहतक पुलिस ने हुक्का बार पर एक्शन लेने में भले ही देर कर दी हो। लेकिन उसके पास शहर में चल रहे हुक्का बार के बारे में काफी इनपुट उपलब्ध हैं। कुछ दिनों पहले ही खुफिया विभाग ने आला अधिकारियों को एक रिपोर्ट दी थी। जिसमें शहर में 12 ऐसे बड़े हुक्का बार के बारे में बताया गया था जहां पर टीनएज के स्टूडेंट्स भी बैठक कर रहे हैं। शहर के डी पार्क, शीला बाईपास, अशोका चौक, शांत मई चौक, छोटूराम चौक, मेडिकल मोड समेत पर हुक्का बार चल रहे है। कई स्थानों पर होटल और कैफे की आड़ में हुक्का बार चलाया जा रहा है।

कई स्टूडेंट ही चला रहे हुक्का बार

हुक्का बार संचालकों में बीबीए और बीकॉम के छात्र शामिल है। ये अपने साथ पढ़ने वाले छात्रों को भी हुक्के के आदी बनाते है। इसके बाद उनसे कुछ समय उन्हीं से पैसे वसूलने शुरू कर देते है। हालांकि पैसों के लेन देने को लेकर कई बार विवाद भी होता है। पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया है कि अब तक जितने भी मामले पकड़े में आए उनमें हुक्का बार के संचालकों ने यूनिवर्सिटी और कॉलेज के ऐसे छात्रों को अपना पार्टनर बनाया हुआ था जिनका सोशल दायरा काफी बड़ा होता है।

X
Rohtak News - haryana news chemical nicotin accessible from mumbai and delhi college students in the city hukka bar open with friends
Astrology

Recommended

Click to listen..