ठंड से पशुओं के दुग्ध उत्पादन पर पड़ता है विपरीत प्रभाव

Rohtak News - ठंड के मौसम में किसान अपने पशुओं की देखभाल में विशेष एहतियात बरते, ताकि पशुओं के दुग्ध उत्पादन पर बदलते मौसम का असर...

Jan 16, 2020, 08:15 AM IST
Maham News - haryana news cold affects the milk production of animals
ठंड के मौसम में किसान अपने पशुओं की देखभाल में विशेष एहतियात बरते, ताकि पशुओं के दुग्ध उत्पादन पर बदलते मौसम का असर न पड़े। सर्दी के मौसम में यदि पशुओं के रहन-सहन और आहार का ठीक प्रकार से प्रबंध नहीं किया गया, तो ऐसे मौसम का पशु के स्वास्थ्य व दुग्ध उत्पादन की क्षमता पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फबारी के बाद मैदानी इलाकों में चली शीत लहर का असर अब पशुओं पर भी दिखने लगा है। ठंड की वजह से दुधारु पशुओं की दूध उत्पादन क्षमता प्रभावित हो रही है।

वरिष्ठ पशु चिकित्सक डॉक्टर राजेश धनखड़ ने बताया कि ठंड के मौसम में पशुपालक अपने पशुओं को संतुलित आहार दें जिसमें ऊर्जा, प्रोटीन, खनिज तत्व, पानी, विटामिन व वसा आदि पोषक तत्व मौजूद हो। ठंड के दिनों में पशुओं को विशेष देखभाल की जरूरत होती है, ऐसे में पशुओं के खान-पान व दूध निकालने का समय एक ही रखना चाहिए। इसके अलावा ठंड में पशुओं को बीमारियों से बचाने के लिए पशुपालन विभाग की ओर से चलाए जाने वाले विशेष टीकाकरण अभियानों में टीके लगवाने चाहिए।

ठंड से बचाने के लिए पशु के बांधने की जगह का रखें ध्यान

सर्दी के मौसम में अंदर व बाहर के तापमान में अच्छा खासा अंतर होता है। पशु के शरीर का सामान्य तापमान विशेष तौर से गाय व भैंस का 101.5 डिग्री फारेनहाइट व गाय का 98.3 से103 डिग्री फारेनहाइट (सर्दी-गर्मी) रहता है और इसके विपरीत पशुघर के बाहर का तापमान कभी-कभी शून्य तक चला जाता है यानि पाला तक जम जाता है। इस ठड से पशु को बचाने के लिए पशु का बिछावन की मोटाई, खिड़कियों पर बोरी व टाट के पर्दे आदि पर विशेष ध्यान देना चाहिए। जिससे पशुओं पर शीत लहर का सीधे प्रकोप न पड़ सके।

दुधारू पशुओं को खिलाएं कपास का बिनौला व सेंधा नमक : वरिष्ठ पशु चिकित्सक डॉ. राजेश धनखड़ ने बताया कि सर्दी के मौसम में दुधारू पशुओं को कपास के बिनौले अधिक मात्रा में खिलाना चाहिए। बिनौला दूध के अंदर चिकनाई की की मात्रा को बढ़ाता है। इसके अलावा अपचन व अफारा से बचाने के लिए पशु की खोर के ऊपर सेंधा नमक का ढेला रखें, ताकि पशु जरूरत के अनुसार उसे चाटता रहे। सर्दी में पशुओं को सिर्फ हरा चारा खिलाने से अफारा व अपचन भी आ सकता है। ऐसे में हरे चारे के साथ सूखा चारा भी खिलाए।

X
Maham News - haryana news cold affects the milk production of animals
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना