पीजीआई के डॉक्टर से रंगदारी मांगने वाला काबू

Rohtak News - पीजीआई के एक सीनियर डॉक्टर को ब्लैकमेल कर रंगदारी मांगने के आरोपी टैक्सी ड्राइवर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।...

Jan 16, 2020, 08:45 AM IST
Rohtak News - haryana news controller seeking extortion from pgi doctor
पीजीआई के एक सीनियर डॉक्टर को ब्लैकमेल कर रंगदारी मांगने के आरोपी टैक्सी ड्राइवर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बुधवार को दिल्ली के मालवीय नगर निवासी विनोद कुमार को अदालत में पेश किया, जहां अदालत ने उसे एक दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस जांच मे सामने आया कि आरोपी चालक को डॉक्टर के परिवार, प्रॉपर्टी व बैकग्राउंड के बारे में पता चला गया था। इसी बात का फायदा उठाकर आरोपी ने डॉक्टर को ब्लैकमेल कर रंगदारी की मांग की।

हेडक्वार्टर डीएसपी गोरखपाल राणा ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि पीजीआई के एक डॉक्टर ने सिटी थाना पुलिस को शिकायत दी थी कि वह 2019 में आगरा में एक संस्थान के निरीक्षण पर गए थे। संस्थान की तरफ से कार भेजी गई थी। गाड़ी का चालक दिल्ली निवासी विनोद कुमार था। संस्थान का निरीक्षण करने के बाद चालक विनोद कुमार ने डॉक्टर को वापिस उनके घर पर छोड़ दिया था। करीब 2 महीने बाद चालक विनोद कुमार पीजीआई में ओपीडी में डॉक्टर से मिला। आरोपी ने डॉक्टर से अपनी कार की मरम्मत कराने के लिए पैसे की मांग की। डॉक्टर ने उसे रुपये दे दिए। उसके कुछ दिनों बाद विनोद कुमार ने फोन पर डॉक्टर को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। विनोद कुमार ने डॉक्टर से रुपयों की मांग की। रुपये न देने पर डॉक्टर के परिवार के साथ कोई अनहोनी करने की धमकी दी। सिटी थाना पुलिस ने डॉक्टर के बयान पर आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। सिटी थाना प्रभारी प्रमोद गौतम की टीम ने छापेमारी करते हुए आरोपी विनोद कुमार को गिरफ्तार कर लिया है।

डॉक्टर से रंगदारी मांगने का आरोपी टैक्सी ड्राइवर गिरफ्त में।

भास्कर न्यूज | रोहतक

पीजीआई के एक सीनियर डॉक्टर को ब्लैकमेल कर रंगदारी मांगने के आरोपी टैक्सी ड्राइवर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बुधवार को दिल्ली के मालवीय नगर निवासी विनोद कुमार को अदालत में पेश किया, जहां अदालत ने उसे एक दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस जांच मे सामने आया कि आरोपी चालक को डॉक्टर के परिवार, प्रॉपर्टी व बैकग्राउंड के बारे में पता चला गया था। इसी बात का फायदा उठाकर आरोपी ने डॉक्टर को ब्लैकमेल कर रंगदारी की मांग की।

हेडक्वार्टर डीएसपी गोरखपाल राणा ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि पीजीआई के एक डॉक्टर ने सिटी थाना पुलिस को शिकायत दी थी कि वह 2019 में आगरा में एक संस्थान के निरीक्षण पर गए थे। संस्थान की तरफ से कार भेजी गई थी। गाड़ी का चालक दिल्ली निवासी विनोद कुमार था। संस्थान का निरीक्षण करने के बाद चालक विनोद कुमार ने डॉक्टर को वापिस उनके घर पर छोड़ दिया था। करीब 2 महीने बाद चालक विनोद कुमार पीजीआई में ओपीडी में डॉक्टर से मिला। आरोपी ने डॉक्टर से अपनी कार की मरम्मत कराने के लिए पैसे की मांग की। डॉक्टर ने उसे रुपये दे दिए। उसके कुछ दिनों बाद विनोद कुमार ने फोन पर डॉक्टर को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। विनोद कुमार ने डॉक्टर से रुपयों की मांग की। रुपये न देने पर डॉक्टर के परिवार के साथ कोई अनहोनी करने की धमकी दी। सिटी थाना पुलिस ने डॉक्टर के बयान पर आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। सिटी थाना प्रभारी प्रमोद गौतम की टीम ने छापेमारी करते हुए आरोपी विनोद कुमार को गिरफ्तार कर लिया है।

X
Rohtak News - haryana news controller seeking extortion from pgi doctor
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना