• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rohtak News haryana news drinking water crisis even after 5 days of receiving the water will get rid of water from the water body of claim huda

नहरी पानी मिलने के 5 दिन बाद भी पेयजल संकट, दावा-हुडा के जलघर से पानी आने से दूर होगी समस्या

Rohtak News - जेएलएन में नहरी पानी की आपूर्ति के पांच दिन बाद भी शहरवासियों की प्यास बुझाने में पब्लिक हेल्थ विभाग अक्षम साबित...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:30 AM IST
Rohtak News - haryana news drinking water crisis even after 5 days of receiving the water will get rid of water from the water body of claim huda
जेएलएन में नहरी पानी की आपूर्ति के पांच दिन बाद भी शहरवासियों की प्यास बुझाने में पब्लिक हेल्थ विभाग अक्षम साबित हो रहा है। जबकि नहर बंदी के समय अफसरों का यही दावा था कि जैसे ही नहर में पानी छोड़ा जाएगा, शेड्यूल के हिसाब से दोनों टाइम सप्लाई दुरुस्त मिलेगी। विभाग का दावा है कि हुडा के जलघर से पानी मिले तो समस्या का समाधान हो जाएाग। शिकायत करने वाले उपभोक्ताओं को गर्मी से लग रहे बिजली कट को इसकी वजह समझाने की कोशिश हो रही है। गुुरुवार को भी पॉश इलाके सहित पुराने शहर के कई मोहल्लों व आउटर कॉलोनियों में पानी की आपूर्ति सुनिश्चित नहीं हो पाई है। हालांकि इस बीच राजीव गांधी स्टेडियम के पास से सोनीपत रोड स्थित प्रथम जलघर तक बिछाई गई 10 इंच व 20 इंच की दोनों पाइप लाइनों से हुडा विभाग के जलघर से पानी की आपूर्ति का ट्रायल सफल होने से पुराने शहर में पानी की समस्या के समाधान की उम्मीद जगी है।

जगदीश काॅलोनी, शिवाजी कॉलोनी और ओल्ड हाउसिंग बोर्ड में गुरुवार को सप्लाई में गंदे पानी के अलावा एक तिहाई समय 20 मिनट ही पानी घरों के नलों में आया। शाम को लो प्रेशर होने से टेल तक पानी नहीं पहुंचा है। पुराने शहर के पाड़ा मोहल्ला, माता दरवाजा चौक क्षेत्र, शौराकोठी, डेयरी मोहल्ला की 3 गलियों में टेल तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। ऐसे ही परधाना मोहल्ला और ऊंचाई वाले इलाके जुलाहा चौक, कायस्थान मोहल्ला, कलालान मोहल्ला, चमेली मार्केट, प्रताप बाजार, प्रताप मोहल्ला और किला मोहल्ला में पानी की समस्या बनी हुई है।

राेहतक में साेनीपत राेड स्थित रेलवे फाटक पर खुला पड़ा रजवाहा।

लाढ़ौत राेड पर बरसाती नाले की समस्या काे दिखाते हुए निवासी।

गुरुनानक पुरा में 4 दिन से नहीं आया पानी : गोहाना अड्‌डा स्थित गुरुनानक पुरा में 4 दिन से पीने के पानी का संकट चल रहा है। यहां गोहाना अड्‌डा बूस्टर से पानी की सप्लाई दी जाती है। चार दिन हो गए, यहां से पानी की आपूर्ति कॉलोनी में नहीं हो पा रही है। सुरेंद्र, तिलक, वीरेंद्र, अशोक कपूर, राजकुमार, मुकेश गर्ग, राजेश सेट्टी व सुनील ने बताया कि शिकायत के बाद पानी का टैंकर भी पब्लिक हेल्थ विभाग की अोर से नहीं भिजवाया गया है।

एक्सईएन भानु प्रकाश से सीधी बात..

सवाल: शहर में पानी की दिक्कत की वजह क्या है?

जवाब: सिंचाई विभाग के नहरी पानी की आपूर्ति और दावे में फर्क है। दूसरे शहर में स्थित जलघरों के टैंकों में सिल्ट भरी है। इससे टैंकों की क्षमता 25 प्रतिशत तक घट गई है।

सवाल: हर साल पब्लिक हेल्थ सिल्ट जमा होने का बहाना समझाता है। अब तक टैंकों की सफाई क्यों नहीं करवाई गई?

जवाब: अम्रुत योजना में टैंकों की डी सिल्टिंग का प्रोजेक्ट शामिल है। लेकिन यह काम नगर निगम के जिम्मे है। हम चाहकर भी टैंक साफ नहीं करवा सकते हैं। देरी को देखते हुए निगम के अधिकारियों से बातचीत की जा रही है कि वे अविलंब टैंक साफ करवाएं। टैंक सफाई की टाइम लाइन हम नहीं दे सकते हैं।

सवाल: नहरी पानी मिलने के पांच दिन बाद भी जलापूर्ति सामान्य नहीं हो पाई। टैंक सूखे पड़े हैं?

जवाब: टैंक 24 दिन मिलने वाले नहरी शेड्यूल पर डिजाइन किए गए हैं। पांच दिन में कोई प्रगति नहीं दिखेगी। लेकिन 24 दिन बाद टैंक पानी से फुल मिलेंगे। क्योंकि जितना नहरी पानी आता है। उसका बड़ा हिस्सा हर दिन की वाटर सप्लाई में चला जाता है।

सवाल: हुडा विभाग के जलघर से पानी लेने की योजना का क्या रहा?

जवाब: गुरुवार की शाम को राजीव गांधी स्टेडियम के पास से बिछाई गई 20 इंच की पाइप लाइन से सोनीपत रोड स्थित प्रथम जलघर को पानी की आपूर्ति शुरू हो गई है। यहां से पानी मिलता रहा तो पुराने शहर की पानी की किल्लत समाप्त हो जाएगी।

जल संकट से जूझ रहे 250 परिवार : लाढ़ौत रोड पर स्थित शास्त्री नगर निवासी 250 परिवार 4 साल से पीने के पानी की समस्या झेल रहे हैं। इस संबंध में पब्लिक हेल्थ विभाग के अधिकारियों, सहकारिता मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर से भी शिकायत कर चुके हैं। लेकिन आज तक समाधान नहीं हो पाया। यहां के निवासी राम कुमार कौशिक, राम कुमार लठवाल, ओम प्रकाश शर्मा, राज सिंह, जगदीश रोहिला, मंजीत सिंह फौगाट, रवींद्र देशवाल, धर्मराज अहलावत आदि ने बताया कि पीने के पानी का इंतजाम करने की बजाए अधिकारी बिना जरूरत के करोड़ों की लागत से नाला बनवाने में जुटे हैं। जबकि पेयजल समस्या का तत्काल समाधान किया जाए। लोग खरीद कर पानी पी रहे हैं।

Rohtak News - haryana news drinking water crisis even after 5 days of receiving the water will get rid of water from the water body of claim huda
X
Rohtak News - haryana news drinking water crisis even after 5 days of receiving the water will get rid of water from the water body of claim huda
Rohtak News - haryana news drinking water crisis even after 5 days of receiving the water will get rid of water from the water body of claim huda
COMMENT