फरीदाबाद एचआर मैनेजर हत्याकांड / साढू ही निकला कातिल, शादी में साली पर कमेंट करने को लेकर हुआ था विवाद

पुलिस गिरफ्त में आरोपी। पुलिस गिरफ्त में आरोपी।
मृतक प्रवीण कौशिक। (फाइल) मृतक प्रवीण कौशिक। (फाइल)
X
पुलिस गिरफ्त में आरोपी।पुलिस गिरफ्त में आरोपी।
मृतक प्रवीण कौशिक। (फाइल)मृतक प्रवीण कौशिक। (फाइल)

Jul 09, 2019, 07:12 PM IST

फरीदाबाद। ऑटो मोबाइल कंपनी के एचआर मैनेजर प्रवीण कौशिक हत्याकांड का डीएलएफ क्राइम ब्रांच ने खुलासा करते हुए दो सगे भाइयों को गिरफ्तार कर लिया। मैनेजर के साढू ने ही अपने छोटे भाई के साथ मिलकर गोली मारकर हत्या कर दी थी। घटना के वक्त मैनेजर अपनी कार से दफ्तर जा रहे थे। हत्यारोपी साढू ने पल्सर बाइक से प्रवीण का घर से ही पीछा किया था। पुलिस के मुताबिक दोनों में शादी के दौरान फोटो खिंचवाने और साली पर अभद्र कमेंट करने को लेकर विवाद हुआ था। इसी बात से रंजिश पालकर हत्या कर दी। पुलिस ने घटना प्रयोग की गई पल्सर बाइक और हथियार भी बरामद कर लिया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान मांदकौल निवासी देवदत्त और जतिन के रूप में हुई है। 

दफ्तर जाते वक्त सिर में मारी थी गोली

26 जून की सुबह बल्लभगढ़ के गांव हीरापुर निवासी प्रवीण कौशिक अपनी कार से सीकरी स्थित जौहर ऑटो मोबाइल दफ्तर जा रहे थे। वह ऑटो मोबाइल कंपनी में बतौर एचआर मैनेजर काम करते थे। बाइपास रोड कैली गांव के पास रहस्यमय परिस्थितियों में प्रवीण के सिर में गोली लगी और उनकी कार नियंत्रित होकर पोल से टकराकर खड़ी हो गई।

आसपास के लोग जब मौके पर पहुंचे तो उन्हें किसी तरह बाहर निकालकर सेक्टर 8 स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने  हत्या का केस दर्ज कर लिया था लेकिन हत्यारोपियों का कोई सुराग नहीं लग पाया था।

पुलिस कमिश्नर संजय कुमार ने बताया कि हत्यारोपी मांदकौल निवासी देवदत्त और उसका छोटा भाई जतिन रिश्ते में मृतक के साढू हैं। देवदत्त और जतिन ने पल्सर बाइक से ही घटना वाले दिन गांव से ही प्रवीण का पीछा किया था। चूंकि दोनों ने हेलमेट पहन रखा था इसलिए प्रवीण उन्हें पहचान भी नहीं पाया।  

प्रवीण कार को बाइपास रोड से होते हुए जैसे ही कैली गांव के पास पहुंचे कि सुनसान एरिया देखकर देवदत्त ने पिस्टल निकालकर एक गोली ड्राइविंग सीट की ओर मार दी। गोली प्रवीण के सिर में जा लगी और उसकी मौत हो गई।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि एक साल पहले ही प्रवीण की साली से देवदत्त की शादी हुई थी। शादी में फोटो खिंचवाने को लेकर दोनों में कहासुनी हो गई थी। इसी बात को वह रंजिश मान बैठा था। पुलिस ने ये भी बताया कि मृतक प्रवीण ने शादी के बाद मजाक में साली से अभद्र टिप्पणी कर दी थी। उस बात को लेकर भी देवदत्त नाराज था। 

 साढू से बदला लेने के लिए देवदत्त योजना बनाई। 26 जून को अपने छोटे भाई जतिन को साथ लेकर पल्सर बाइक से प्रवीण का गांव से पीछा करना शुरू किया और कैली गांव के पास मौका मिलते ही गोली मार कर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि हत्यारोपी देवदत्त और जतिन के पिता ब्रह्मदत्त जमींदार हैं। वह खेतीबाड़ी करते हैं।
  
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना