हरियाणा / पिता के हत्यारों को सजा दिलवाने के बहाने किया था गैंगरेप, 3 दोषियों को 20-20 साल की सजा

haryana news faridabad rape accused got 20 years imprisonment each
X
haryana news faridabad rape accused got 20 years imprisonment each

  • न्यायाधीश केपी सिंह की कोर्ट ने तीनों दोषियों पर 20-20 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया
  • जबकि साक्ष्य के अभाव में दो आरोपियों को बरी कर दिया गया

दैनिक भास्कर

Aug 22, 2019, 04:53 PM IST

फरीदाबाद. युवती के पिता के हत्यारों को सजा दिलवाने के बहाने उससे गैंगरेप करने वाले तीन दोषियों को अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश केपी सिंह की कोर्ट ने 20-20 साल की सजा सुनाई है। तीनों पर 20-20 हजार रुपए जुर्माना भी लगाया है। जबकि साक्ष्य के अभाव में दो आरोपियों को बरी कर दिया गया। घटना 17 मई 2018 की है। युवती से मुख्य आरोपी की मुलाकात बदरपुर बॉर्डर के पास स्थित मस्जिद के पास हुई थी। बाद में दोनों ने एक दूसरे का नंबर भी शेयर कर लिया और बातचीत करते रहे। युवती सेक्टर 55 थानाक्षेत्र में रहती है।

ये था पूरा मामला

लीगल सेल के एडवोकेट रविंद्र गुप्ता ने बताया कि सेक्टर 55 स्थित कॉलोनी में एक युवती अपने परिवार के साथ रहती थी। वह गुजराती भाषा में 12वीं पास है। कुछ  दिन पहले ही उसके पिता की हत्या कर दी गई थी। 11 मई 2018 को युवती बदरपुर बॉर्डर स्थित मस्जिद के पास खड़ी थी। वहीं पर मेवात जिले के फिरोजपुर निवासी नवाब की मुलाकात हुई।

बातचीत में युवती ने नवाब को बताया कि उसके पिता की हत्या हो चुकी है। उनका केस दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में चल रहा है। उसकी बात सुनकर नवाब ने कोर्ट में अपना मित्र वकील होने की बात बताई और आरोपियों को कठोर सजा दिलवाने का भरोसा दिया। युवती ने उस पर विश्वास कर लिया और दोनों एक दूसरे का मोबाइल नंबर शेयर कर लिए।

एडवोकेट ने बताया कि 16 मई 2018 को नवाब ने युवती से मिलने के लिए बदरपुर बॉर्डर पर बुलाया। वहां पहुंचने पर दोषी ने युवती को बाइक पर बैठाकर सेक्टर 56 स्थित कबाड़ की दुकान पर ले गया। शाम करीब साढ़े सात बजे नवाब ने कमरें में दुष्कर्म किया। विरोध करने पर पिता के हत्यारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कराने का भरोसा देकर चुप करा दिया।

कुछ देर बाद नवाब ने कोल्ड ड्रिंक मंगाई। उसमें नशीला पदार्थ मिलाकर पिता दिया। अचेत होने पर नवाब ने अपने अन्य मित्रों मेवात के पुन्हाना निवासी इब्राहिम और राजीव कॉलोनी सेक्टर 56 को बुला लिया। सभी ने उसके साथ गैंगरेप किया। बाद में उसे नहर के पास ले गए और घटना के बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी।

दोषियों के चंगुल से बचकर युवती ने 100 नंबर पर फोन कर दिया। पुलिस मौके पर पहुंच गई तो सभी वहां से फरार हो गए। बाद में पुलिस ने 18 मई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। तभी से मामला कोर्ट में विचाराधीन था। गुरुवार को मामले की सुनवाई करते हुए  अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश केपी सिंह की कोर्ट ने तीनों को 20-20 साल की सजा सुनाई। उन पर जुर्माना भी लगाया। जबकि साक्ष्य के अभाव मेंं आरोपी बनाए गए पुन्हाना मेवात निवासी अजर और जगमाल को बरी कर दिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना