क्राइम / एसपीओ ने जगुआर लूटने से रोका तो पेट में गोली मारकर भागा था झज्जर का बदमाश खली, गिरफ्तार



haryana news gurugram police caught anshul alias khali who shoot a SPO
X
haryana news gurugram police caught anshul alias khali who shoot a SPO

  • गुड़गांव पुलिस ने चलाया था अभियान, पानीपत से इनोवा कार छीनकर गुड़गांव में की वारदात
     

Dainik Bhaskar

Jul 29, 2019, 10:43 AM IST

गुड़गांव। चार दिन पहले पानीपत से इनोवा कार छीनकर लाए बदमाशों ने उसी इनोवा में आकर शनिवार रात को गुड़गांव में जगुआर कार को छीनने का प्रयास किया। लेकिन पुलिस के एक एसपीओ ने बहादुरी दिखाकर गाड़ी को लूटने से बचा लिया, पीछा करने पर बदमाश एसपीओ को गोली मारकर भाग गए। इसके बाद गुड़गांव की सभी क्राइम ब्रांच व थानों की टीम ने सर्च ऑपरेशन चलाया।


एसपीओ के पेट में गोली मारकर फरार हुए थे आरोपी
सेक्टर-10 क्राइम ब्रांच के प्रभारी ललित की टीम कार्रवाई करते हुए पैदल भागे बदमाशों को तलाशने की कार्रवाई की। दो से तीन घंटे बाद महाराणा प्रताप चौक के नजदीक एक बदमाश को पुलिस ने घेर कर गिरफ्तार कर लिया। जिसकी पहचान अंशुल उर्फ खली पुत्र श्याम सुन्दर निवासी हनुमान बगीची, चरखी दादरी के रूप में हुई। 

 

वहीं पेट में गोली लगने से घायल एसपीओ को निजी अस्पताल में एडमिट कराया गया है। बदमाश खली ने पुलिस पूछताछ में बताया है कि गत 24 जुलाई की रात को पानीपत के इसराना में अपने साथी रामबीर फौजी व महिला साथी पूजा के साथ मिलकर इनोवा कार को एक व्यापारी से लूट लिया था। 

 

महिला ने व्यापारी से लिफ्ट ली थी और बाद में अंशुल व रामबीर के साथ मिलकर उसकी गाड़ी लूटी थी। इस संबंध में पानीपत में मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी अंशुल उर्फ खली ने बताया कि वह एमडी यूनिवर्सिटी, रोहतक में बीए प्रथम वर्ष तक पढ़ाई की है और वह कुश्ती का अच्छा खिलाड़ी है। इसके दोस्त और इसके पड़ोसी इसे खली कहकर पुकारते हैं। वर्ष 2013 में इसने अपने अन्य साथियों सहित थाना साल्हावास, जिला झज्जर से एक स्विफ्ट डिजायर कार छीनी थी। इस मामले में यह झज्जर जेल में बन्द रहा।

 

इन वारदातों को अंजाम देने की बात कबूली
आरोपी अंशुल उर्फ खली ने पुलिस पूछताछ में बताया है कि उसने वर्ष-2013 में चार साथियों के साथ मिलकर थाना साल्हावास से एक स्विफ्ट डिजायर कार छीनी थी। आरोपी जेल साढ़े तीन महीने झज्जर जेल में रहा। इसके बाद 2014 में आरोपी ने अपने एक प्रदीप दहिया नाम के साथी के साथ मिलकर दिल्ली में एक व्यक्ति पर जानलेवा हमला किया था। इस मामले में आरोपी 18 महीने तिहाड़ जेल में बंद रहा था। 

 

वर्ष 2017 में आरोपी पटियाला हाऊस, दिल्ली में अवैध हथियार सहित पकड़ा गया था। वर्ष 2017 में ही आरोपी द्वारका, दिल्ली में अवैध हथियार सहित पकड़ा गया था। इसके अलावा गत 24 जुलाई को उसने अपने साथी सहित जिला पानीपत के एरिया में एक इनोवा गाड़ी के चालक से लिफ्ट मांगकर उससे हथियार के बल पर उसकी इनोवा कार छीनने की वारदात को अंजाम दिया था। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना