हरियाणा बोर्ड का 10वीं कक्षा का  रहा रिजल्ट 15004 में से 8961 विद्यार्थी हुए पास

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:36 AM IST

Rohtak News - हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने शुक्रवार को 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट घोषित कर दिया। वर्ष 2018 की तुलना...

Rohtak News - haryana news haryana board39s 10th class result of 15004 out of 8961 students passed
हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने शुक्रवार को 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट घोषित कर दिया। वर्ष 2018 की तुलना में वर्ष 2019 में 10वीं का रिजल्ट 4.87 फीसदी बढ़कर 59.72 फीसदी पर पहुंच गया। जिले से 15,004 विद्यार्थियों ने परीक्षा में हिस्सा लिया, जिनमें से 8961 छात्र-छात्राएं पास हुए। जबकि 700 विद्यार्थी एक या एक से अधिक विषय में फेल हुए। 5343 विद्यार्थियों को फेल घोषित किया गया। वर्ष 2018 में बेहतर परिणाम देने वाले जिलों की टॉप 10 की सूची में रोहतक जिला सातवें पायदान पर था, लेकिन वर्ष 2019 की टॉप 10 की सूची से बाहर होकर रोहतक जिले को 11वां स्थान मिला है। वहीं प्रदेश की टॉप 10 मेधावियों की सूची में जिले के 5 छात्र-छात्राओं ने नाम दर्ज कराया। जिनमें रोहतक शहर के वैश्य सीनियर सेकेंडरी स्कूल की छात्रा दीपिका, ओजोन इंटरनेशनल सीनियर सेकेंडरी स्कूल, चिड़ी गांव की छात्रा सलोनी, एसडी हाईस्कूल, खिड़वाली की छात्रा छवि, त्रिवेणी स्कूल, कलानौर के छात्र अंकुश,न्यू आदर्श हाईस्कूल बहलबा गांव की छात्रा संध्या ने क्रमश: आठवां, नौवां व 10वां स्थान हासिल किया है। गांव और शहरी क्षेत्रों के मध्यम वर्ग के परिवारों के बच्चों ने कड़ी मेहनत, सेल्फ स्टडी और टाइम मैनेजमेंट को अपनाया। सोशल मीडिया से दूरी बनाए रखी साथ ही आर्थिक तंगी को सफलता की ऊंचाई पर पहुंचने पर रुकावट नहीं बनने दिया।

4 साल का पास%

2016 55.05

2017 51.09

2018 54.85

2019 59.72

4.87 फीसदी बढ़ा रिजल्ट, प्रदेश के टॉप-10 में छाए 5 मेधावी

जानिए टाॅपर्स की सफलता की कहानी और सपनों की उड़ान... उनकी ही जुबानी

10 घंटे पढ़ाई कर दीपिका ने 10वीं में किया टॉप

नाम :
दीपिका वर्मा : प्रदेश में 8वां स्थान

कुल अंक 500/490

स्कूल : वैश्य सीनियर सेकेंडरी स्कूल, रोहतक। पिता रामनारायण, मां रेखा रानी।

सक्सेस मंत्र : सुबह और शाम की 10 घंटे पढ़ाई, एनसीईआरटी की किताबों से सिलेबस रिवाइज किया। लक्ष्य: आईआईटी में चयन कराकर इंजीनियर बनना।

जनता काॅलोनी निवासी और दिल्ली में प्राइवेट कंपनी में जॉब करने वाले रामनारायण की बेटी दीपिका ने 98 फीसदी अंक हासिल कर प्रदेश के टॉपर्स में 8वां स्थान हासिल किया है। मां रेखा हाउसवाइफ है। ताऊ लक्ष्मीनारायण ने बताया कि दीपिका ने बड़े भाई अमित के 95 फीसदी अंक देखकर 95 फीसदी से अधिक अंक लाने की जिद ठानी। उसने सुबह और शाम 10 घंटे की पढ़ाई की।

सोशल मीडिया से दूरी और टाइम मैनेजमेंट ने दिलाया स्थान

नाम :
सलोनी : प्रदेश में आठवां स्थान।

कुल अंक 500/490

स्कूल : ओजोन इंटरनेशनल सीनियर सेकेंडरी स्कूल, चिड़ी गांव, लाखनमाजरा। पिता नरेश, मां गीता। सक्सेस मंत्र : सोशल मीडिया से दूरी, टाइम मैनेजमेंट व सेल्फ स्टडी। लक्ष्य: 12वीं कक्षा में प्रदेश में प्रथम स्थान हासिल करना।

लाखनमाजरा ब्लॉक के निजी स्कूल की सलोनी ने परीक्षा के दौरान सोशल मीडिया से दूरी बनाए रखी। टाइम मैनेजमेंट को अपनाते हुए सुबह और शाम छह घंटे की पढ़ाई की। एनसीईआरटी की किताबों से सेल्फ स्टडी काे प्राथमिकता दी। तनावमुक्त होकर परीक्षा दी। अब मेधावी सलोनी का लक्ष्य 12वीं कक्षा में प्रदेश के टॉपर्स की लिस्ट में पहला स्थान हासिल करना है।

स्कूल में जाकर मां लेती रही परफार्मेंस रिपोर्ट

नाम: छवि : प्रदेश में नौवां स्थान।

कुल अंक 500/489

स्कूल: एसडी हाईस्कूल, खिड़वाली, रोहतक। पिता संदीप, मां सुनील।

सक्सेस मंत्र : एनसीईआरटी की किताबों से पढ़ाई, तीन साल के प्रश्नपत्रों से तैयारी।

लक्ष्य: 12वीं की परीक्षा में टॉप कर आईएएस की तैयारी करना।

खिड़वाली गांव के एसडी हाईस्कूल की छात्रा छवि ने 10वीं की परीक्षा में 489 अंक हासिल कर प्रदेश के टॉपर्स की लिस्ट में नौवां स्थान पाया है। छवि बताती है कि उनकी मां सुनील ने प्रदेश का टॉपर बनने के लिए काफी मोटिवेट किया। मां ने समय समय पर स्कूल में जाकर परफार्मेंस रिपोर्ट जानी। किसान पिता संदीप ने संसाधनों की कमी नहीं होने दी। स्कूल मैनेजमेंट से भाल सिंह हुड्‌डा ने उसकी पढ़ाई में काफी मदद की।

एनसीईआरटी की किताबों से की पढ़ाई, टीवी से रही दूरी

नाम: अंकुश : प्रदेश में 10वां स्थान।

कुल अंक 500/488

स्कूल: त्रिवेणी पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल, कलानौर। पिता अनिल कुमार, मां प्रमिला। सक्सेस मंत्र : टीवी व सोशल मीडिया से दूरी, बिना तनाव चार घंटे सब्जेक्ट पर फोकस करते हुए पढ़ाई की। लक्ष्य: आईआईटी के लिए चयन कराकर इंजीनियर बनना।

गांव गुढाण निवासी किसान अनिल कुमार के बेटे अंकुश ने बताया कि चार घंटे पढ़ाई की। एनसीईआरटी की किताबों से सेल्फ स्टडी की। टीवी नहीं देखा, सोशल मीडिया से दूरी बनाए रखी। अब आईआईटी में चयन कराना प्राथमिकता रहेगी।

नियमित क्लास जाने से सब्जेक्ट को समझने में हुई आसानी, सेल्फ स्टडी ने बनाया टॉपर

बहलबा गांव निवासी कारपेंटर सत्यनारायण की बेटी संध्या ने 10वीं की परीक्षा में प्रदेश स्तर पर टॉप 10 मेधावियों की सूची में 10वां स्थान हासिल किया है। स्कूल के हेडमास्टर प्रमोद सिंह ने बताया कि संध्या ने नियमित तौर पर क्लास में आने को प्राथमिकता दी। सब्जेक्ट पर फोकस करते हुए पढ़ाई की और स्कूल में होने वाले टेस्ट पेपर में अव्वल अंक हासिल किए। संध्या ने सेल्फ स्टडी को प्राथमिकता दी। वह 12वीं की परीक्षा में टॉपर बनने का सपना पूरा करने के बाद इंजीनियरिंग के क्षेत्र में कॅरियर बनाने की चाह रखती है।

नाम : संध्या

प्रदेश में 10वां स्थान

कुल अंक 500/488

स्कूल : न्यू आदर्श हाईस्कूल, बहलबा गांव, कलानौर। पिता सत्यनारायण, मां सुदेश।

सक्सेस मंत्र : नियमित रूप से क्लास में जाना, सब्जेक्ट पर फोकस करते हुए पढ़ाई।

लक्ष्य :12वीं परीक्षा में प्रदेश के टापर्स में पहला स्थान हासिल पाना।

Rohtak News - haryana news haryana board39s 10th class result of 15004 out of 8961 students passed
Rohtak News - haryana news haryana board39s 10th class result of 15004 out of 8961 students passed
Rohtak News - haryana news haryana board39s 10th class result of 15004 out of 8961 students passed
X
Rohtak News - haryana news haryana board39s 10th class result of 15004 out of 8961 students passed
Rohtak News - haryana news haryana board39s 10th class result of 15004 out of 8961 students passed
Rohtak News - haryana news haryana board39s 10th class result of 15004 out of 8961 students passed
Rohtak News - haryana news haryana board39s 10th class result of 15004 out of 8961 students passed
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543