पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rohtak News Haryana News Hasla Takes Out March On Foot And Submits Memorandum On Science Faculty39s Decision To Close Schools

विज्ञान संकाय के स्कूलाें काे बंद करने के फैसले पर हसला ने पैदल मार्च निकालकर सौंपा ज्ञापन

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेश के 429 सरकारी स्कूलों में बंद किए गए विज्ञान संकाय को बहाल करने व प्रस्तावित ट्रांसफर ड्राइव की विसंगतियों को दूर करने की मांग को लेकर हसला ने शहर में प्रदर्शन किया। अध्यक्षता हरियाणा स्कूल लेक्चरर्स एसोसिएशन केराज्य प्रधान दयानंद सिंह दलाल ने की। हसला के सदस्यों ने पैदल मार्च निकालने के बाद जिला उपायुक्त की प्रतिनिधि जिला राजस्व अधिकारी पूनम बब्बर के माध्यम से मुख्यमंत्री मनोहर लाल को ज्ञापन भेजा। राज्य प्रधान दयानंद सिंह दलाल ने कहा कि एक तरफ जहां देश भर में विज्ञान एवं तकनीक की पढ़ाई को बढ़ावा देने के लिए बहुआयामी प्रयास किए जा रहे हैं वहीं प्रदेश सरकार का शिक्षा विभाग कम छात्र संख्या के नाम पर गांव-देहात के उन सरकारी स्कूलों से विज्ञान संकाय को बंद करने को आमादा है। जहां विभाग की खामियों के चलते छात्र संख्या आज भी कम है। कहीं विज्ञान विषय के प्राध्यापकों के पदों का रिक्त होना तो कहीं अन्य विभागीय कारणों से उक्त छात्र संख्या कम हुई है। उन्होंने कहा कि विभाग का यह नैतिक दायित्व बनता है कि संबंधित स्कूलों में छात्र संख्या बढ़ाने के लिए शिक्षकों एवं अभिभावकों के साथ एक रचनात्मक मुहिम चलाये। जिलाध्यक्ष बलजीत सहारण ने कहा कि संबंधित स्कूलों में विज्ञान विषय के छात्र संख्या बढ़ाने के लिए उचित प्रयास किए जाए। इस अवसर पर जिला प्रधान बलजीत, ब्लॉक प्रधान राकेश दलाल, कलानौर प्रधान वीरेंद्र सिंह, लाखन माजरा प्रधान दर्शन लाल, राज्य उपप्रधान सुरेन्द्र परमार, ओमप्रकाश खत्री, सतपाल मलिक, अजमेर हुड्डा, सुनील कुमार, राजीव देशवाल, जगदीप मिगलानी, सुमन, कुसुम लता आदि थे।

राज्य प्रधान दयानंद दलाल ने छात्र संख्या बढ़ाकर विज्ञान संकाय को दोबारा शुरू करने की रखी मांग

भास्कर न्यूज | रोहतक

प्रदेश के 429 सरकारी स्कूलों में बंद किए गए विज्ञान संकाय को बहाल करने व प्रस्तावित ट्रांसफर ड्राइव की विसंगतियों को दूर करने की मांग को लेकर हसला ने शहर में प्रदर्शन किया। अध्यक्षता हरियाणा स्कूल लेक्चरर्स एसोसिएशन केराज्य प्रधान दयानंद सिंह दलाल ने की। हसला के सदस्यों ने पैदल मार्च निकालने के बाद जिला उपायुक्त की प्रतिनिधि जिला राजस्व अधिकारी पूनम बब्बर के माध्यम से मुख्यमंत्री मनोहर लाल को ज्ञापन भेजा। राज्य प्रधान दयानंद सिंह दलाल ने कहा कि एक तरफ जहां देश भर में विज्ञान एवं तकनीक की पढ़ाई को बढ़ावा देने के लिए बहुआयामी प्रयास किए जा रहे हैं वहीं प्रदेश सरकार का शिक्षा विभाग कम छात्र संख्या के नाम पर गांव-देहात के उन सरकारी स्कूलों से विज्ञान संकाय को बंद करने को आमादा है। जहां विभाग की खामियों के चलते छात्र संख्या आज भी कम है। कहीं विज्ञान विषय के प्राध्यापकों के पदों का रिक्त होना तो कहीं अन्य विभागीय कारणों से उक्त छात्र संख्या कम हुई है। उन्होंने कहा कि विभाग का यह नैतिक दायित्व बनता है कि संबंधित स्कूलों में छात्र संख्या बढ़ाने के लिए शिक्षकों एवं अभिभावकों के साथ एक रचनात्मक मुहिम चलाये। जिलाध्यक्ष बलजीत सहारण ने कहा कि संबंधित स्कूलों में विज्ञान विषय के छात्र संख्या बढ़ाने के लिए उचित प्रयास किए जाए। इस अवसर पर जिला प्रधान बलजीत, ब्लॉक प्रधान राकेश दलाल, कलानौर प्रधान वीरेंद्र सिंह, लाखन माजरा प्रधान दर्शन लाल, राज्य उपप्रधान सुरेन्द्र परमार, ओमप्रकाश खत्री, सतपाल मलिक, अजमेर हुड्डा, सुनील कुमार, राजीव देशवाल, जगदीप मिगलानी, सुमन, कुसुम लता आदि थे।

खबरें और भी हैं...