एमडीयू को नई ऊंचाईयों तक ले जाने के लिए इनोवेटिव पहल करनी होगी : वीसी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एमडीयू को विकास के नए आयाम प्रदान करने के लिए गुणवत्तापरक नूतन पहल किए जाएंगे। विश्वविद्यालय विकास यात्रा से एलुमनाई को सक्रिय रूप से जोड़ा जाएगा। ये निर्णय शनिवार को एमडीयू की गुणवत्ता परामर्शदायी परिषद (क्वालिटी एडवाइजरी काउंसिल) की बैठक में लिए गए। कुलपति प्रो. राजबीर सिंह की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में एमडीयू के भविष्योन्मुखी पहल की ब्लू प्रिंट पर गहन मंथन हुआ। कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने कहा कि भविष्य में एमडीयू को नई ऊंचाईयों तक ले जाने के लिए इनोवेटिव पहल करनी होगी। उन्होंने कहा कि किसी भी शैक्षणिक संस्थान के विकास में एलुमिनाई अहम स्टेक होल्डर है। एमडीयू के एलुमनाई विभिन्न क्षेत्रों में महत्त्वपूर्ण पदों पर आसीन हैं, बतौर एन्त्रोप्रोनियरशिप कार्यरत हैं। उनके अनुभव एवं कौशल का उपयोग विश्वविद्यालय वर्तमान विद्यार्थियों के कॅरियर प्लेसमेंट के दृष्टि से करेगा। साथ ही, प्राध्यापकों की रूचि अनुसार उनके अनुभव का उपयोग एक्सट्रा करीकुलर एक्टीविटीज में किया जाएगा। कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि विश्वविद्यालय में सेंटर फॉर एक्सीलेंस बनाने के लिए समग्र प्रयास किए जाएंगे। इस बैठक में स्टूडेंट रिकाॅर्ड सिस्टम को अप टू डेट रखने तथा बेहतर बनाने, स्टूडेंट प्रोग्रेशन रिकार्ड को उत्कृष्ट बनाने, विद्यार्थियों के लिए और अधिक कॅरियर अवसर जुटाने, विभागीय रिकार्ड को चुस्त-दुरूस्त बनाने पर गंभीर मंथन हुआ।

गुणवत्ता परामर्शदायी परिषद की बैठक लेते कुलपति प्रो. राजबीर सिंह।

बैठक में लिए थे निर्णय : विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार एवसं निदेशक, इंटर्नल क्वालिटी एस्युरेंस सैल प्रो. गुलशन लाल तनेजा ने बैठक की कार्य सूची बारे बताया। प्रो. तनेजा ने बताया कि 30 अप्रैल को क्वालिटी एडवाइजरी काउंसिल में विश्वविद्यालय काम-काज तथा शैक्षणिक एवं शोध कार्यों में गुणवत्तापरक उन्नयन के लिए कई निर्णय लिए गए थे।

खबरें और भी हैं...