रक्षा बैंड का बटन दबाने पर बुजुर्गों के पास मदद भेजेगा एनजीओ

Rohtak News - श्री राम सरनदास भ्याना मेमोरियल ट्रस्ट (आरएसडीबीएम) की ओर से बुजुर्गों को विशेष बैंड मुफ्त उपलब्ध करवाए जाएंगे।...

Feb 15, 2020, 08:40 AM IST
Rohtak News - haryana news ngo will send help to elders after pressing the button of defense band

श्री राम सरनदास भ्याना मेमोरियल ट्रस्ट (आरएसडीबीएम) की ओर से बुजुर्गों को विशेष बैंड मुफ्त उपलब्ध करवाए जाएंगे। घड़ी की तरह दिखने वाले इस बैंड की खासियत यह होगी कि इमरजेंसी में एक बटन दबाते ही ट्रस्ट कार्यालय में फोन मिल जाएगा और यहां से बुजुर्ग को तुरंत मदद पहुंचाई जाएगी। ट्रस्ट के चेयरमैन सुमित भ्याना ने बताया कि इस उपकरण को निर्मल रक्षा बैंड का नाम दिया गया है। 16 फरवरी को सेक्टर-1 स्थित ट्रस्ट के कार्यालय में 50 बुजुर्गों को यह बैंड वितरित किए जाएंगे। कार्यक्रम में मुख्यातिथि जिला उपायुक्त आरएस वर्मा होंगे। सुमित भ्याना ने बताया कि निर्मल रक्षा बैंड में कई खासियत हैं और पहली कड़ी में यह बैंड ऐसे बुजुर्गों को वितरति किए जाएंगे जो या तो घरों में अकेले रहते हैं, या कोई दिल संबंधी बीमारी है या जो चलने फिरने में असमर्थ हैं। कार्यक्रम में उन सभी बुजुर्गों को बुलाया गया है, जिन्हें यह बैंड वितरित किए जाने हैं। पत्रकार वार्ता के दौरान रमेश अहलावत, सुनील कुमार बुंतरा, गौरव जुनेजा, श्रीनिवास सिंह, वीरेंद्र अरोड़ा, बिजेंद्र सिंह और रवि मौजूद रहे।

बैंगलुरू के इंजीनियर ने किया डिजाइन, चीन में बनवाया : सुमित भ्याना ने बताया कि निर्मल रक्षा बैंड बैंगलुरू के एक इंजीनियर ने डिजाइन किया है। इसके बाद चीन की कंपनी ने इसे बनाया। अब ट्रस्ट से जुड़े बुजुर्गों को यह बैंड वितरित किए जाएंगे।


तय सीमा से आगे जाएंगे तो घर पर पहुंच जाएगी सूचना : अगर किसी व्यक्ति को याददाश्त जाने जैसी बीमारी है तो उनके लिए बैंड के जरिए एक सीमा रेखा भी तय की जा सकती है। इसके लिए घर के किसी भी सदस्य का स्मार्ट फोन एक एप के जरिए बैंड से जोड़ना होगा। कोई बुजुर्ग सीमा रेखा को पार करता है तो तुरंत स्मार्ट फोन अलर्ट कर देगा।

27 जगहों पर पहुंचेगी एंबुलेंस

सुमित भ्याना ने बताया कि आरएसडीबीएम ट्रस्ट की ओर से बुजुर्गों की सहायता के लिए निशुल्क एंबुलेंस सेवा पहले से ही उपलब्ध है। लेकिन अब इसका दायरा बढ़ा दिया गया है। अब तीन एंबुलेंस हैं और यह तीनों शहर में 27 जगहों पर सेवाएं देंगी। ट्रस्ट कार्यालय में फोन आते ही यह एंबुलेंस मदद के लिए पहुंच जाएंगी। एंबुलेंस सेक्टर-1, 2, 3, 4, 5, 6, 14, ओमेक्स सिटी, फ्रेंड्स कॉलोनी, राम गोपाल कॉलोनी, देव कॉलोनी, सेक्टर-34, 35, 36, बसंत विहार, इंद्रप्रस्थ कॉलोनी, जसबीर कॉलोनी, चाणक्यपुरी, विशाल नगर, मॉडल टाउन, कमल कॉलोनी, सुभाष नगर, तिलक नगर, आदर्श नगर, संजय कॉलोनी और गांधी कैंप तक मदद देगी।

लाल बटन दबाने पर एनजीओ के ऑफिस में पहुंच जाएगी लोकेशन

चेयरमैन सुमित भ्याना ने बताया कि घड़ी की तरह दिखने वाले इस निर्मल रक्षा बैंड में दो बटन हैं। लाल रंग के बटन को पांच सेकेंड तक दबाने के बाद ट्रस्ट के कार्यालय में कॉल मिलेगी और बुजुर्ग की लोकेशन भी मालूम हो जाएगी। दूसरा हरे रंग का बटन दबाने के बाद कोई भी बुजुर्ग वायस मैसेज भेजकर अपनी जानकारी दे सकता है। मैसेज भी ट्रस्ट कार्यालय में विशेष उपकरण पर पहुंचेगा। कोई भी मैसेज या कॉल आते ही ट्रस्ट के सदस्य तुरंत बुजुर्ग की मदद के लिए पहुंचेंगे।

रक्षा बैंड के बारे में बताते चेयरमैन सुमित भ्याना।

X
Rohtak News - haryana news ngo will send help to elders after pressing the button of defense band
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना