• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rohtak News haryana news on the orders of vc of health university central store management started the arrangements for the stay of the timardars in vishram sadan

हेल्थ यूनिवर्सिटी के वीसी के आदेश पर सेंट्रल स्टोर प्रबंधन विश्राम सदन में तीमारदारों के रुकने के प्रबंध शुरू

Rohtak News - सर्द रातों मंे ठिठुरते हुए किसी भी मरीज या उनके तीमारदारों को खुले आसमान के नीचे रात न बितानी पड़े, इसके लिए हेल्थ...

Dec 04, 2019, 08:32 AM IST
Rohtak News - haryana news on the orders of vc of health university central store management started the arrangements for the stay of the timardars in vishram sadan
सर्द रातों मंे ठिठुरते हुए किसी भी मरीज या उनके तीमारदारों को खुले आसमान के नीचे रात न बितानी पड़े, इसके लिए हेल्थ यूनिवर्सिटी में प्रबंध शुरू हो गए हैं। मरीजों और तीमारदारों के अस्थायी ठहराव के लिए 29 साल से संचालित विश्राम सदन में व्याप्त अव्यवस्थाओं की लगातार शिकायत मिलने पर वीसी डॉ. ओपी कालरा ने सोमवार को रजिस्ट्रार डॉ. एचके अग्रवाल, पीजीआई डायरेक्टर डॉ. रोहतास कंवर यादव व अन्य अधिकारियों को साथ लेकर निरीक्षण किया।

इस दौरान बंद कमरों के ताले खुलवाकर उनमें बेड डलवाने और सेंट्रल स्टोर प्रशासन को डंप रखे बेड और खाना वितरण करने वाली ट्रालियों को हटवाने के आदेश दिए। वीसी डॉ. ओपी कालरा के निर्देशों का असर यह हुआ कि मंगलवार को चार कमरों में बंद ताले खुल गए और यहां पर मरीजों और तीमारदारों के ठहराव के लिए 24 बेड लगाने की प्रक्रिया चलती रही और सेंट्रल स्टोर प्रशासन के अधिकारी सदन में डंप रखे बेड व ट्रालियों को हटवाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था बनाने की प्रक्रिया मंे जुटा रहा। पहले यहां मरीजों और तीमारदारों के ठहराव के लिए सुविधा नहीं थी। सर्दी शुरू होने के बाद सभी को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। पता होने के बाद भी अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे थे।

भास्कर की ओर से मुद्दा उठाने के बाद अधिकारी हरकत में आए

पीजीआई मंे प्रदेश के विभिन्न जिलों और दूसरे राज्यों से मरीजों को उपचार के लिए लाने वाले परिजनों काे ठंड के दिनों मंे खुले आसमान के नीचे ठिठुरते हुए रात न बितानी पड़े, इसके लिए भास्कर की ओर से लगातार विश्राम सदन में व्याप्त अव्यवस्थाओं को लेकर खबरें प्रमुखता से प्रकाशित की गईं। पीजीआई डायरेक्टर ने विश्राम सदन में व्याप्त अव्यवस्थाओं की तो सुध नहीं ली, लेकिन हेल्थ यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. ओपी कालरा ने संज्ञान लेते हुए विश्राम सदन में खामियों को चिह्नित करने के लिए खुद प्रशासनिक अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया। वीसी के निरीक्षण में तमाम खामियां मिलने के बाद इन्हें दूर कराने की उम्मीद है।

ये भी जानें : कमरों के ताले खुल जाएंगे, लेकिन यहां छतों के प्लास्टर उखड़े, बारिश में टपकता है पानी

वीसी डॉ. ओपी कालरा ने भले ही विश्राम सदन के कमरों के ताले खुलवा दिए हों। लेकिन यहां के कमरों की हालत खस्ता हो चुकी है। 29 साल पुराने विश्राम सदन की छतों से उखड़ रहे प्लास्टर, बारिश में टपकते पानी और अन्य समस्याएं यहां सबसे ज्यादा है। हालांकि इन समस्याओं के निस्तारण के लिए विश्राम सदन प्रबंधन ने दो साल में सात पत्र संपदा अधिकारी को लिखे हैं। प्रबंधन का आरोप है कि संपदा अधिकारी की ओर से पत्र को संज्ञान में नहीं लिया गया। लिहाजा अब इस भवन की बिल्डिंग बदहाल हालत में पहुंच गई है। हालांकि वीसी के आदेशों के बाद विश्राम सदन के रंग रोगन व पुनर्निर्माण कराने की आस बंधी है।

अराजकतत्वों की निगरानी करने के लिए सिक्योरिटी गार्ड तैनात होंगे

विश्राम सदन में आने जाने वाले अराजकतत्वों पर अंकुश लगाने के लिए चीफ सिक्योरिटी आॅफिसर मेजर नीरज शर्मा ने तीन शिफ्ट मंे एक-एक सिक्योरिटी गार्ड की तैनाती करने के आदेश जारी कर दिए हैं। आदेशों को अमल में लाते हुए मंगलवार से सिक्योरिटी गार्ड की तैनाती हो गई। ड्यूटी पर मौजूद गार्ड आने जाने वाले मरीजों व तीमारदारों को उनकी पर्ची देखकर ही प्रवेश करने की अनुमति दी। पीजीआई प्रशासन के अधिकारी का दावा है कि विश्राम सदन मंे अराजकतत्वों काे कतई प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा।

03 दिसंबर को छपी खबर।

पालिका कॉलोनी में रैन बसेरा शुरू, 200 यात्रियों के ठहरने का इंतजाम

रोहतक |
भिवानी रोड पर पालिका कॉलोनी में बनकर तैयार दो मंजिला रैन बसेरा शुरू कर दिया गया है। यहां 200 यात्रियों के ठहरने का इंतजाम है। इसमें 100 महिलाओं व पुरुषों के अलग-अलग तल पर रहने की व्यवस्था हुई है। नगर निगम कमिश्नर प्रदीप गोदारा ने मंगलवार की शाम इसका उद्घाटन किया। यहां पर सुरक्षा की दृष्टि से एक महिला व एक पुरुष चौकीदार की तैनाती की गई है। मुख्य द्वार पर सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है। यात्रियों को ठंड से बचाने के लिए कंबल, गद्दा, चादर, तकिया आदि की व्यवस्था की गई है। पीने के पानी के लिए आरओ का इंतजाम है। अलग-अलग स्नानागार और शौचालय भी बना हुआ है। इस संबंध में जेटीओ जगदीश चंद शर्मा ने बताया कि यात्रियों की जरूरत के और भी सामान का सामान का प्रबंध किया जाएगा। यदि कोई एनजीओ इस रैन बसेरे को निशुल्क संचालित करना चाहता है तो उसे यह जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। वर्तमान में नगर निगम ही रैन बसेरे का संचालन करेगा।

पोटा केबिन रखवाने से मना किया, निगम अग्निशमन परिसर में रखवाएगा

पुरानी अनाज मंडी के दुकानदारों ने अपने यहां पोटा केबिन रखवाने से मना कर दिया है। ऐसे में पुरानी अनाज मंडी में रेलवे स्टेशन से उठाकर पोटा केबिन रखकर उसको रैन बसेरा के रूप में इस्तेमाल करने की योजना पर विराम लग गया है। फिलहाल नगर निगम रेलवे स्टेशन परिसर से दोनों पोटा केबिन उठाकर अग्निशमन परिसर में रखवाएगा। यदि अन्य कहीं रैन बसेरा बनाने के लिए मांग उठी और जगह उपलब्ध हुई तो इस पोटा केबिन को वहां पहुंचा दिया जाएगा।

Rohtak News - haryana news on the orders of vc of health university central store management started the arrangements for the stay of the timardars in vishram sadan
X
Rohtak News - haryana news on the orders of vc of health university central store management started the arrangements for the stay of the timardars in vishram sadan
Rohtak News - haryana news on the orders of vc of health university central store management started the arrangements for the stay of the timardars in vishram sadan
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना