• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rohtak News haryana news presentation of sufi singer nooran sisters in the shahid madan lal dhangra community complex in lohadi and makar sankranti

लोहड़ी और मकर संक्रांति के उपलक्ष्य में शहीद मदन लाल धींगड़ा कम्युनिटी परिसर में सूफी गायक नूरां सिस्टर्स की प्रस्तुति

Rohtak News - लोहड़ी और मकर संक्रांति के मौके पर शहरवासियों ने सूफी गायन का जमकर लुत्फ उठाया। मौका था रविवार की शाम ओल्ड आईटीआई...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 04:31 AM IST
Rohtak News - haryana news presentation of sufi singer nooran sisters in the shahid madan lal dhangra community complex in lohadi and makar sankranti
लोहड़ी और मकर संक्रांति के मौके पर शहरवासियों ने सूफी गायन का जमकर लुत्फ उठाया। मौका था रविवार की शाम ओल्ड आईटीआई ग्राउंड स्थित शहीद मदनलाल धींगड़ा कम्युनिटी परिसर में आयोजित विख्यात सूफी गायक नूरां सिस्टर्स की लाजवाब प्रस्तुति का। खुदा की इबादत के सूफी तरानों पर निहाल हुए श्रोताओं ने मस्ती में खूब नृत्य किया। शुरुआत मशहूर बोल- ये जमीं जब न थी ये जहां जब न था, चांद सूरज न था आसमां भी न था, तब था अल्लाह हू अल्लाह हू से हुआ। इसके बाद घूंघट चक ओ सजना शरमा का नू रखियां, टुंग टुंग बाजे बाजे तेरे मेरे दिल विच साउंड वजदा, परदेश गयो परदेशी होयो तेरी मुड़ वतना नूं लोड, तू है सोणयां तू सोणां तेरे जेया न कोई होना, तेरा रब तो वी वदके दीदार सोणयां या मेरे दाता वलिया दे राजा, जब ते देखी सूरत हम सब बेहाल पड़े, गले लगा लो या ठुकरा दो हम तो तेरे दरबार पड़े की प्रस्तुति दी। जो तेरे फकीर होते कितने रोशन जमीर होते, जो तेरे इतबार करते वो हश्र्र तक इंतजार करते, जो अल्लाह का नाम लेता वो तर जाता, कोई रंग सावां कोई रंग पीला कोई लाल गुलाबी कर दा, बुल्लेशाह रंग मुरशद वाला किसे किसे नूं चढ़दां, तेरे दर पर सब झूमते किसे किसे नूं चढ़दां, ना लौटज्ञ आज तक खाली कोई, तुझे देते नहीं देखा मगर झोली भरी देखी जैसे गीतों के बोल से सूफी गायन को ऊंचाई मिली। इसी क्रम में जो खुद में खो गया उसी खोए को कुछ मिला, न तू बुतखाने में न काबे में मिला, मगर टूटे हुए दिल में मिला, जिसे मैं कह रहा हूं अपनी हस्ती वो तू नहीं तो और क्या है, मेरे दाता सबसे सोणां तेरा जैसा न कोई होणां, ऐ खुदा तेरी दुनिया दे वखरे ने दस्तूर बड़े, सचदा नू कोई पूछदा नहीं झूठे हो गए ने मशहूर वदे और ऐ दुनिया दे रंग न्यारे, ऐथे अवने नाल प्यार करे सों, दाता तेरी रहमत हो कोई मंदिर विच कोई मस्जिद विच कोई जंगल विच लबदा तैनूं और चन्न कित्था गुजारी हाऊ रातवे तैनु वास्ता है अखां ना चुरा सजना सुनकर उपस्थित शहरवासी निहाल हो गए। सूफी गायन की महफिल दो घंटे देर शाम 7 बजे सजी। कार्यक्रम मेें बाबा कपिलपुरी, बाबा सुखा शाह, महिला आयोग की चेयरमैन प्रतिभा सुमन, रमेश भाटिया, जिला महामंत्री धर्मबीर शर्मा व सतीश आहुजा, हिमांशु ग्रोवर, रामचेत तायल, पार्षद राजू सहगल, धर्मेंद गुलिया, मुक्ता नागपाल, कंचन खुराना, अनिल, अशोक खुराना, सुरेश मुंझाल, पवन आहुजा, शमशेर खरक, राजकुमार कपूर, धीरज चावला, रमेश बोहर, नगर निगम आयुक्त आरएस वर्मा, हेल्थ यूनिवर्सिटी के वीसी डॉ. ओपी कालड़ा, डॉ. सुशील गुप्ता, एसएमओ डॉ. रमेश चन्द्र, जिला परिषद के चेयरमैन बलराज कुंडू आदि मौजूद रहे।

रोहतक के पुरानी आईटीआई मैदान में विख्यात सूफी गायक नूरां सिस्टर अपनी प्रस्तुति के दौरान मस्ती में झूमती हुईं और मस्ती में नृत्य करते हुए शहरवासी।

एे खुदा तेरी दुनिया दे वखरे ने हुण दस्तूर बड़े, सचदां नू कोई पूछदा नहीं, झूठे हो गए ने मशहूर बड़े

रोहतक के पुरानी आईटीआई मैदान में सूफी गायक नूरां सिस्टर्स काे सम्मानित करते संत और साथ में मंत्री मनीष ग्रोवर और मेयर मनमोहन गोयल व अन्य।

लोहड़ी और मकर संक्रांति की बधाई दी : देर सायं पुरानी आईटीआई मैदान में सहकारिता मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर ने लोगों को मकर संक्रांति और लोहड़ी की बधाई दी। कहा कि यह पर्व लोगों के लिए खुशहाली लेकर आए। लोगों की मांग को ध्यान में रखकर ही रोहतक मेंं नूरां सिस्टर्स का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। ग्रोवर ने इससे पूर्व नूरां सिस्टर्स का रोहतक की जनता की ओर से स्वागत किया। कहा कि सूफी गायन में सीधा परमात्मा से जुड़ाव होता है। उपस्थित लोगों को नगर निगम के मेयर मनमोहन गोयल ने भी संबोधित किया। जिलाध्यक्ष अजय बंसल ने आए हुए मेहमानों का स्वागत किया।

अगले एलबम में हम 2 नहीं, 3 बहनें दिखाएंगी गायकी : नूरां सिस्टर्स

रोहतक | सूफी गायकी की बुलंदी पर पहुंची नूरां सिस्टर्स ज्योति नूरां व सुलताना नूरां ने रविवार को शहर में अपनी आवाज का जादू बिखेरा। ओल्ड आईटीआई ग्राउंड परिसर में अायोजित लोहड़ी कार्यक्रम की प्रस्तुति के बाद बातचीत में उन्होंने कहा कि उनकी छोटी बहन रितू नूरां भी सूफी गायकी में अपना रियाज कर रही है। हमारा अगला एलबम आने वाला है। इसमें ज्योति नूरां के पति भी अपना टैलेंट दिखाएंगे। हमारी एक नई एलबम मौला मेरे मौला आई थी। इसे पसंद किया गया। अब नए एलबम की तैयारी चल रही है। इसे प्रोजेक्ट करके अपने श्रोताओं के सामने शानदार तरीके से लाएंगे। थोड़ा ज्यादा इंतजार करना पड़ सकता है। लेकिन उस एलबम में हमारे साथ बहन रितू भी जरूर दिखाई देगी। दोनों बहनों ने कहा कि सूफी गायन पर वक्त की चादर कभी नहीं पड़ सकती है। वह हर जमाने में लाजवाब रही है। उसके चाहने वाले कभी कम न होंगे। तभी सूफी गायकी कल और आज दोनों समय में शिखर पर है। आगे भी इसे ऊंचाईयों पर ही रहना है क्योंकि यह सूफी है ना। वैसे जमाना चाहे जितना बदल जाए, गीत-संगीत की दुनिया में कुछ भी आ जाए। हम बहनें अपने ग्रुप के साथ आखिरी दम तक सूफी ही गाएंगी और सूफी ही बजाएंगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वैसे तो हमने फर्श से अर्श तक का सफर तय किया है। इसके लिए अल्लाह के साथ ही श्रोताओं के शुक्रगुजार हैं। अल्लाह ने हमेशा हमें बरकत दी है। कुछ ख्वाहिशें जो बच रही हैं वो भी आगे हर हाल में पूरी कर देंगे।

सूफी गायक ज्योति नूरां व सुलताना बोलीं

अपने ग्रुप के साथ आखिरी दम तक हम सूफी ही गाएंगे और सूफी ही बजाएंगे

Rohtak News - haryana news presentation of sufi singer nooran sisters in the shahid madan lal dhangra community complex in lohadi and makar sankranti
Rohtak News - haryana news presentation of sufi singer nooran sisters in the shahid madan lal dhangra community complex in lohadi and makar sankranti
X
Rohtak News - haryana news presentation of sufi singer nooran sisters in the shahid madan lal dhangra community complex in lohadi and makar sankranti
Rohtak News - haryana news presentation of sufi singer nooran sisters in the shahid madan lal dhangra community complex in lohadi and makar sankranti
Rohtak News - haryana news presentation of sufi singer nooran sisters in the shahid madan lal dhangra community complex in lohadi and makar sankranti
COMMENT