• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • Sampla News haryana news registration of 7 kanal 19 meral instead of 8 in samples trouble makers in the village are facing trouble on the portal
--Advertisement--

सांपला में 8 की जगह 7 कनाल 19 मरले का हो रहा पंजीकरण, शामलात खेवट वाले किसानों को पोर्टल पर हो रही परेशानी

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 04:32 AM IST

Rohtak News - किसानों की आय दोगुणी करने के लिए सरकार की ओर से मेरी फसल-मेरी ब्योरा के तहत ई खरीद पोर्टल पर पंजीकरण करने की सुविधा...

Sampla News - haryana news registration of 7 kanal 19 meral instead of 8 in samples trouble makers in the village are facing trouble on the portal
किसानों की आय दोगुणी करने के लिए सरकार की ओर से मेरी फसल-मेरी ब्योरा के तहत ई खरीद पोर्टल पर पंजीकरण करने की सुविधा किसानों को दी गई। किसानों को शामलात खेवट का पंजीकरण करते समय काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। तो वहीं पोर्टल पर पूरे एक एकड़ का भी पंजीकरण नहीं हो पा रहा है। पंजीकरण करते समय एक इंट्री 7 कनाल 19 मरला की हो रही है। जबकि एक एकड़ में 8 कनाल होते है। खेवट नंबर एक हो लेकिन किला नंबर बदल जाए तो दूसरी इंट्री करनी पड़ रही है। योजना का मकसद प्रदेश के किसानों की आर्थिक हालत में सुधार लाना है। प्रदेश की सीमा से लगे अन्य प्रदेशों के किसान हरियाणा की मंडियों में अपनी फसल न बचे सके इसके लिए गेहूं, सरसों की फसल का 25 दिसंबर से पंजीकरण किया जा रहा है। हालांकि पंजीकरण करने की पहले 8 जनवरी अंतिम डेट दी गई थी। लेकिन ज्यादातर किसानों का पंजीकरण नहीं हो पाने के चलते अब 20 जनवरी तक का समय दिया गया है। ताकि प्रदेश के किसानों को सही व उचित दाम अपनी फसलों का मिल सके। सरकारी एजेंसियां उन्हीं किसानों की फसल खरीदेगी जिनका पंजीकरण हो चुका होगा। जिले में करीब 1,40,000 हेक्टेयर भूमि पर रबी फसल की बुआई की गई है। जिसमें से 105000 हेक्टेयर भूमि पर गेंहूं, 9123 हेक्टेयर पर सरसो व 25877 हेक्टेयर भूमि पर अन्य पर की फसलों की बुआई इस बार हुई है।

ये सवाल जिनका जवाब देने में किसान हो रहे परेशान

पोर्टल पर पंजीकरण के अंतिम पड़ाव पर यह भरा जाना है कि किस डेट को मंडी में गेहूं बचने जाना है। कौन गेहूं लेकर जाएगा। कितने एकड़ का गेहूं मंडी पहुंचेगा। जिसका जवाब देना किसानों के लिए मुश्किल भरा है।

गांव चुलियाना निवासी किसान संते का कहना है कि एक तो पंजीकरण करने में ही काफी दिक्कतें आ रही है, वहीं किस तारीख को मंडी में गेंहूं लेकर जाया जाएगा वह अभी से कैसे बताया जा सकता है। गेहूं काटने के लिए मशीन समय पर नहीं मिली तो मंडी में कैसे पहुंचा जाएगा।

20 जनवरी तक करना है पंजीकरण

उप कृषि निदेशक रोहताश सिंह का कहना है कि किसानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। जो फसल का ब्योरा दिया गया है, उसी के हिसाब से टोकन मिल रहा है। तारीख बढ़ने के बाद भी रबी की फसल खरीदी जाएंगी। पंजीकरण 20 जनवरी तक किया जा रहा है। किसान मेरी फसल मेरा ब्योरा पर पंजीकरण समय रहते करवाए।

गांव किसरेंटी निवासी किसान पप्पू का कहना है कि मंडी में फसल कौन लेकर जाएगा यह आज कैसे बताया जा सकता है। फसल ले जाने की डेट वाले दिन कोई बीमार हो जाए, किसी के घर अनहोनी हो जाए, यह किसी अन्य के की ओर से भी गेहूं या सरसों मंडी में भेजी जा सकती है। इस प्रकार के सवालों का जवाब क्या दिया जाए समझ नहीं आ रहा।

गांव हुमायूंपुर निवासी किसान सिलकराम का कहना है कि उसने 10 एकड़ ़ पर गेहूं की बुआई कर रखी है। निर्धारित डेट पर उसके महज 5 एकड की ही कटाई हो पाई तो बाकि का क्या होगा। इस प्रकार किसानों की आय दोगुणी नहीं हो सकती।

Sampla News - haryana news registration of 7 kanal 19 meral instead of 8 in samples trouble makers in the village are facing trouble on the portal
Sampla News - haryana news registration of 7 kanal 19 meral instead of 8 in samples trouble makers in the village are facing trouble on the portal
X
Sampla News - haryana news registration of 7 kanal 19 meral instead of 8 in samples trouble makers in the village are facing trouble on the portal
Sampla News - haryana news registration of 7 kanal 19 meral instead of 8 in samples trouble makers in the village are facing trouble on the portal
Sampla News - haryana news registration of 7 kanal 19 meral instead of 8 in samples trouble makers in the village are facing trouble on the portal
Astrology

Recommended

Click to listen..