• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • Sampla News haryana news the pipeline supplied from the canal was laid without testing the level now the supply will start by lowering the bed of hod 3 feet

बिना लेवल जांचे बिछाई थी नहर से आपूर्ति की पाइपलाइन अब होद के बेड को 3 फीट नीचा कर शुरू करेंगे सप्लाई

Rohtak News - जनस्वास्थ्य विभाग की टीम ने सोमवार को हसनगढ़ गांव में एनसीआर नहर से वाटर वर्क्स में पानी नहीं पहुंचने का फॉल्ट ढूंढ...

Bhaskar News Network

Aug 20, 2019, 08:45 AM IST
Sampla News - haryana news the pipeline supplied from the canal was laid without testing the level now the supply will start by lowering the bed of hod 3 feet
जनस्वास्थ्य विभाग की टीम ने सोमवार को हसनगढ़ गांव में एनसीआर नहर से वाटर वर्क्स में पानी नहीं पहुंचने का फॉल्ट ढूंढ लिया है। टीम की जांच में सामने आया है कि नहर के पास बनाया होद का लेवल ऊंचा होने और पाइपलाइन का लेवल सही नहीं होने के कारण नहर का पानी आगे नहीं जा पा रहा था। अब होद के बेड को तोड़ करीब 3 फीट नीचे किया जाएगा। जिससे ग्रामीणों को पेयजल मिल सकेगा। जन स्वास्थ्य विभाग की टीम सोमवार सुबह हसनगढ़ में एनसीआर नहर के पास पहुंची। टीम में जेई सुरेंद्र हुड्डा, सुरेंद्र शर्मा व विनय दलाल के अलावा 5 कर्मचारी शामिल रहे। टीम ने बारिकी से जांच करने के बाद होद को पानी लेवल पर पाया। जिस कारण पानी की सप्लाई आगे नहीं हो रही थी। वहीं अब होद के बेड को तोड़कर करीब 3 फीट नीचे किया जाएगा। ताकि 8 इंची पाइपलाइन में पानी की सप्लाई हो सके। समस्या का मुख्य कारण जन स्वास्थ्य विभाग की ओर से एनसीआर नहर के पानी के लेवल को बिना जांच किए सप्लाई पाइपलाइन बिछाने से आई। वहीं होद के निर्माण में भी अनियमितता की गई। आपको बता दे गांव हसनगढ़ के ग्रामीणों ने 25 अगस्त से पहले एनसीआर नहर से वाटर वर्क्स में पानी नहीं पहुंचने पर मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की बहिष्कार करने की चेतावनी दी थी। जिसके बाद विभाग हरकत में आया।

जमीन खरीदने के बाद भी किसान नहीं छोड़ रहे कब्जा



जन स्वास्थ्य विभाग के जेई सुरेंद्र हुड्डा का कहना है कि विभाग ने 2 कनाल जमीन की रजिस्ट्री अपने नाम करवा रखी है। जिसका मुआवजा दिया जा चुका है। जमीन की खेवट एक होने के कारण जयसिंह व उसकी बहन ने अपना हिस्सा बेच रखा है। जमीन बेचने के बाद जयसिंह का देहांत हो गया। खेवट में 7 हिस्सेदार है। जिनमें से दो समस्या पैदा कर रहे है। ये दोनों न तो नहरी विभाग की जमीन को इस्तेमाल करने दे रहे और न ही जन स्वास्थ्य विभाग की जमीन को। जिस कारण जो होद बनाया गया वह भी उचित स्थान पर नहीं बन सका।

नहर पर लेवल जांचती जन स्वास्थ्य विभाग की टीम।

Sampla News - haryana news the pipeline supplied from the canal was laid without testing the level now the supply will start by lowering the bed of hod 3 feet
X
Sampla News - haryana news the pipeline supplied from the canal was laid without testing the level now the supply will start by lowering the bed of hod 3 feet
Sampla News - haryana news the pipeline supplied from the canal was laid without testing the level now the supply will start by lowering the bed of hod 3 feet
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना