शॉट्स और एंगल के बारे में बताते हुए विद्यार्थियों को टिप्स दिए कैसे डॉक्यूमेंट्री को एडिट करें

Rohtak News - प्रॉपर्टी विवाद और सेव वाटर जैसे मुद्दे दिखाए लुजियाना स्टोरी एक छोटे से गांव की स्टोरी है। ये गांव डीजल और...

Feb 18, 2020, 08:45 AM IST

प्रॉपर्टी विवाद और सेव वाटर जैसे मुद्दे दिखाए

लुजियाना स्टोरी एक छोटे से गांव की स्टोरी है। ये गांव डीजल और पेट्रोल की नदी के किनारे बसा हुआ है। इस गांव में ट्रांसपोर्ट का जरिया केवल एक नाव है। स्टोरी से ये मैसेज मिलता है कि और गांव के लोगों के लिए उस डीजल और पेट्रोल की कोई वैल्यू नहीं है क्योंकि वहां संसाधन नहीं है तो तो उनके लिए पेट्रोल और डीजल किसी काम का नहीं है। ऐसे ही एक स्टोरी में प्रॉपर्टी को लेकर विवाद और सेव वाटर जैसे मुद्दे दिखाए गए है।

सिटी रिपाेर्टर} विद्यार्थियों को एडिटिंग के बारे में बताते फिल्म एडिटर। साथ ही डॉक्यूमेंट्री दिखाकर शॉट्स और एंगल के बारे में भी जानकारी दी गई। मौका था सुपवा यूनिवर्सिटी में स्ट्रक्चर ऑफ नॉन फिक्शन वर्कशॉप का। जिसमें सुपवा के फिल्म एंड टेलीविजन डिपार्टमेंट के स्टूडेंट्स ने पार्टिसिपेट किया। वर्कशॉप में कोलकाता से आए फिल्म एडिटर सुमित घोष ने विद्यार्थियों को महत्वपूर्ण जानकारियां दी। इस वर्कशॉप में स्टूडेंट्स को डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई, जिसमें विद्यार्थियों को एडिटिंग के बारे में बताया गया। वर्कशॉप में बताया गया कि डॉक्यूमेंट्री किस तरह से तैयार की जाती है और इसके लिए क्या-क्या चीजें होनी जरूरी है और उसमें शूट करने के तरीके दिखाए गए। विद्यार्थियों को लुजियाना स्टोरी जाे 1 घंटे 30 मिनट की है, सिटी ऑफ लव जाे 31 मिनट की है, द फ्यूचर स्टेटस जो 18 मिनट की है यह डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई। इस वर्कशॉप में सुभाष, साहिल ,आशीष, चेतना, दीप्ति, सक्षम, मोहित, सूज दूपिंदर कौर, विनेश, हनीश मौजूद रहे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना