• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rohtak News haryana news when the sister was not allowed to go to the wedding the pair brought to her was framed

बहन की शादी में जाने को छुट्टी नहीं मिली ताे उसके लिए लाए जोड़े को फंदा बना दी जान

Rohtak News - पीजीआई के रेजीडेंट डॉक्टर्स के ब्वायज हॉस्टल में रह रहे डॉ. ओमकार ने गुरुवार रात को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:30 AM IST
Rohtak News - haryana news when the sister was not allowed to go to the wedding the pair brought to her was framed
पीजीआई के रेजीडेंट डॉक्टर्स के ब्वायज हॉस्टल में रह रहे डॉ. ओमकार ने गुरुवार रात को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना रात 10 बजे के करीब की है। डॉ. ओमकार कर्नाटक के बारीदाबाद के रहने वाले थे और इस समय पीजीआई के पीडियाट्रिक विभाग में पीजी तृतीय वर्ष में अध्ययनरत थे। वहीं सुसाइड मामले के बाद पीजीआई में हालात काफी तनावपूर्ण हो गए। पहले रेजीडेंट डॉक्टर्स ने पीजीआई में काम बंद कर दिया। तब सीनियर डॉक्टर को मोर्चा संभालना पड़ा।

वहीं डॉ. ओमकार के साथी रेजीडेंट डाक्टर्स ने पीजीआई कैंपस में पीडियाट्रिक डिपार्टमेंट की हैड डॉ. गीता गठवाल के आवास पर हंगामा किया। इस दौरान दरवाजों को तोड़ने का प्रयास भी किया गया। सूचना मिलने पर भारी पुलिस बल पहुंचा और डॉक्टर्स को वहां से हटाया। हंगामा कर रहे सीनियर और जूनियर रेजीडेंट डॉक्टर्स का आरोप है कि विभाग की एचओडी डॉ. गीता गठवाल ने डॉ. ओमकार को उनकी बहन की शादी में जाने के लिए छुट्टी नहीं दी। शादी शुक्रवार को है। ओमकार के साथियों ने बताया कि डॉ. ओमकार अपनी बहन के लिए शादी का जोड़ा खरीदकर लाए थे। बताया जा रहा है कि डॉ. ओमकार ने उन्हीं कपड़ों में से एक को फंदा बना जान दी है। दूसरी ओर रेजीडेंट डॉक्टर्स ने ओमकार का शव भी हॉस्टल रूम से नहीं उठाने दिया। उनकी मांग थी कि जब तक आरोपी अधिकारी के खिलाफ केस दर्ज नहीं किया जाता वो शव नहीं उठाने देंगे। रात करीब डेढ़ बजे वीसी डॉ. ओपी कालरा हंगामा कर रहे डॉक्टर्स के पास पहुंचे। उन्होंने उचित कार्रवाई का भरोसा देकर रेजीडेंट डॉक्टर्स को डॉ. गीता के आवास से हटाया।

एचओडी के घर आधी रात तोड़फोड़, भारी पुलिस बल की मौजूदगी में घर से निकलीं डॉ. गीता गईं हॉस्टल

साथी डॉक्टर ने रूम खुला देखा तो सुसाइड का पता चला

डाॅ. ओमकार ब्वायज हॉस्टल के फर्स्ट फ्लोर पर रूम नंबर 33 में रहते थे। रेजीडेंट डॉक्टर्स के अनुसार डॉ. ओमकार गुरुवार शाम करीब साढ़े नौ बजे अपने कमरे पर लौटे थे। इसके बाद रात करीब 10 बजे जब उनके साथी ने कमरे का गेट खोला तो वो फंदे पर लटके हुए थे। वहीं ये भी बताया जा रहा है कि डॉ. ओमकार पर करीब दो साल पहले पीजीआई में एक बच्चे की मौत मामले में लापरवाही का केस दर्ज हुआ था। इससे भी वो तनाव में थे। हालांकि पुलिस को मामले में कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

शव न उठाने देने पर अड़े रहे डॉक्टर्स : रात करीब 10 बजे डॉ. ओमकार के सुसाइड करने के बाद हॉस्टल में एकत्रित हुए रेजीडेंट्स डॉक्टर्स ने हंगामा शुरू कर दिया। विभाग की एचओडी डॉ गीता गठवाल पर ओमकार को प्रताड़ित करने के आराेप लगाते हुए उन्होंने पुलिस को शव उठाने देने से इंकार कर दिया। पीजीआई प्रबंधन के कई अधिकारी उन्हें समझाने आए लेकिन हंगामा कर रहे डॉक्टर्स नहीं माने।

बसाना में भी संदिग्ध परिस्थिति में महिला ने फंदा लगा दी जान

रात डेढ़ बजे अपने आवास पर हंगामे के बाद वीसी डॉ. ओपी कालरा के साथ पुलिस बल की मौजूदगी में ब्वायज हॉस्टल की ओर जातीं डॉ. गीता व अन्य। (दाएं) शादी के लिए लाए जोड़े को बनाया फंदा। (इनसेट) डॉ. ओमकार का फाइल फोटो।

कलानौर| गांव बसाना में गुरुवार दोपहर को 24 वर्षीय आरती प|ी मनजीत ने संदिग्ध परिस्थिति में फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। सूचना मिलने पर कलानौर पुलिस मौके पर पहुंची। एफएसएल टीम डॉ. सरोज ने भी मामले की गंभीरता से जांच पड़ताल की ओर सुबूत जुटाए। फरमाणा निवासी आरती की शादी 3 साल पहले बसाना के मनजीत के साथ हुई थी। मृतका महिला के डेढ साल का बेटा और एक बेटी है।

आधी रात डॉ. गीता गठवाल के आवास की ओर बढ़ी भीड़, पुलिस से भी उलझे

रात करीब एक बजे हंगामा कर रहे रेजीडेंट्स डॉक्टर्स काफी संख्या में पीजीआई कैंपस में ही स्थित डॉ. गीता गठवाल के आवास की ओर बढ़ गए। हालात को देखते हुए मौके पर मौजूद पुलिस बल ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो कुछ डॉक्टर्स पुलिस से उलझ गए। बाद में भीड़ डॉ. गीता के आवास पर पहुंच गई। वहां पर मेन गेट पार करने के बाद उन्होंने डॉ. गीता को बाहर आने के लिए नारेबाजी शुरू कर दी। कुछ डॉक्टर्स ने कमरों की खिड़कियों के शीशे भी तोड़ दिए। कईयों ने दरवाजों को लात मारकर तोड़ने की कोशिश की। इस दौरान भारी पुलिस फोर्स भी कैंपस में पहुंच गई।

रात 2 बजे : हॉस्टल में डॉ. गीता के पहुंचने के बाद फिर बढ़ा हंगामा : अपने आवास पर हंगामे के बाद डॉ. गीता रात करीब दो बजे वीसी डॉ. ओपी कालरा और पुलिस बल के साथ हॉस्टल पहुंची। वहां ओमकार के रूम में पहुंचने पर रेजीडेंट डॉक्टर्स ने उन्हें घेर लिया। इसके बाद रूम में काफी हंगामा हुआ। पुलिस को बीच बचाव करना पड़ा। कुछ डॉक्टरों ने डॉ. गीता पर कई गंभीर आरोप लगाए।

वीसी के पहुंचने के बाद ही आवास से बाहर आईं डॉ. गीता

सुसाइड मामले में आरोपों का सामना कर रहीं डॉ. गीता गठवाल अपने आवास पर हुए हंगामे के बाद रात करीब सवा एक बजे बाहर आईं। उन्होंने हंगामा कर रहे डॉक्टर्स को समझाने का प्रयास किया। इसी दौरान वीसी डॉ. ओपी कालरा भी वहीं पहुंच गए। उन्होंने उचित कार्रवाई का भरोसा दिया। बाद में वीसी डॉ. ओपी कालरा, डॉ. गीता गठवाल और स्टूडेंट्स उनके आवास से कैंपस में हॉस्टल की ओर चले गए।

Rohtak News - haryana news when the sister was not allowed to go to the wedding the pair brought to her was framed
Rohtak News - haryana news when the sister was not allowed to go to the wedding the pair brought to her was framed
X
Rohtak News - haryana news when the sister was not allowed to go to the wedding the pair brought to her was framed
Rohtak News - haryana news when the sister was not allowed to go to the wedding the pair brought to her was framed
Rohtak News - haryana news when the sister was not allowed to go to the wedding the pair brought to her was framed
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना