सोनीपत स्टैंड पर छुड़वाएंगे कब्जा, निगम से लेंगे किराया

Rohtak News - जिला परिषद की बैठक को हर बार की तरह इस बार भी जिले के कई आला अधिकारियों ने नजरअंदाज कर दिया। इस बैठक में 6 अधिकारी...

Feb 15, 2020, 08:36 AM IST
Rohtak News - haryana news will take possession of sonipat stand rent from corporation

जिला परिषद की बैठक को हर बार की तरह इस बार भी जिले के कई आला अधिकारियों ने नजरअंदाज कर दिया। इस बैठक में 6 अधिकारी नहीं पहुंचे व उनसे जुड़े हुए मामलों को अधूरा रखना पड़ा। ऐसे में चेयरमैन सतीश भालौठ की मंजूरी पर सीईओ ब्रह्मप्रकाश अहलावत ने सभी अधिकारियों की रिपोर्ट मुख्यालय भेजने का फैसला लिया है। अब जिला परिषद की बैठक को नजरअंदाज करने वाले अधिकारियों को चंडीगढ़ मुख्यालय में एसीएस के सामने जवाब देना होगा। कई अधिकारियों ने तो अपने मातहत कर्मचारियों को ही बैठक में भेजकर इतिश्री पूरी कर ली। बैठक में जिन अधिकारियों को नोटिस जारी किए उनमें सिंचाई विभाग के एसई, पीडब्ल्यूडी बीएंडआर के एसई, जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग के एसई, स्वास्थ्य विभाग से सीएमओ डॉ. अनिल बैसला, पशुपालन विभाग से डिप्टी डायरेक्टर डॉ. सूर्या खटकड़ और मार्केटिंग बोर्ड के एक्सईएन राजेंद्र शर्मा गैरहाजिर रहे। जैसे ही बैठक में इन अधिकारियों के विभागों से संबंधित मामले बैठक में उठाए गए तो इनकी गैर हाजरी के चलते एजेंडों को अधूरा ही रखना पड़ा। ऐसे में पार्षदों ने काफी आपत्ति उठाई कि अधिकारी उनकी बैठक को हर बार नजरअंदाज करते हैं। इस बैठक को गंभीरता से नहीं लेते, जबकि उनका पद विधायक के बाद आता है। वे सभी पार्षद 12 से 15 गांव का प्रतिनिधित्व करते हैं। बैठक के दौरान सीएमओ डॉ. अनिल बिरला के स्थान पर आए डॉ. विकास सैनी भी बैठक को अधूरा छोड़कर चले गए तो इस पर भर आपत्ति जताई गई। इस बैठक में सभी पार्षद रितु, मनाेज फरमाणा, राजीत, लाजवंती, संजय कुंडू, निर्मला, विजय, रिंकू, जसबीर सुंडा, रेणु, नवीन मलिक, दिनेश करौंथा, जेपी भाली, मास्टर राजेंद्र, लक्ष्मी देवी, नरेंद्र दांगी, डिप्टी सीईओ नरेंद्र धनखड़ व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

कमेटी ने उठाई आपत्ति

मनरेगा के कामों की जांच करने के लिए आई कमेटी ने मनरेगा के जरिए किए कामों के सामने साइन बोर्ड लगवाने और जॉब कार्ड और एमबी खाली होने के मामले उठाए थे। इसे लेकर सीईओ ने स्पष्ट किया कि जितने भी काम मनरेगा के तहत किए गए हैं। उसे लेकर कुछ दिन पूर्व एक राष्ट्रीय स्तरीय कमेटी ने आपत्ति उठाई है। ऐसे में इनके पास साइन बोर्ड लगाए जाएं कि कौन सा काम किस योजना के तहत किया है। बीडीपीओ को कहा कि वे जांच करेंगे कि जॉब कार्ड क्यों नहीं बनाए गए हैं। एमबी खाली क्यों है? साथ यह भी पता लगाएं कि पंचायत स्तर पर मजदूरों को काम क्यों नहीं दिया जाता।

स्कूलों में बन रही इमारतों की जांच की मांग

पार्षद जेपी बाली और धर्मवीर ने आपत्ति जताई कि उनके गांव में बने सरकारी स्कूल में निर्माण कार्य करवाया जा रहा है। उसी गुणवत्ता के बारे में अधिकारी कोई भी उचित जवाब देने से कतराते हैं। पार्षद धर्मवीर ने बहलभा और खेड़ी महम के स्कूलों में करवाए जा रहे निर्माण कार्य को लेकर जांच कराने की मांग की। वहीं, पार्षद जेपी बाली ने टूटे हुए स्कूल की इमारत की बात कही। सीईओ ने एक्सईएन पंचायती राज से निर्माण सामग्री की गुणवत्ता की जांच करने को कहा है। निर्माण कार्य होने के बाद भी यूटिलिटी सर्टिफिकेट नहीं देने पर सीईओ ब्रह्मप्रकाश ने बीडीपीओ को स्पष्ट किया कि वे 1 सप्ताह में अपनी जोशी की रिपोर्ट जमा कराएं। इस पर बीडीपीओ राजपाल चहल ने कहा कि अकाउंट की कुछ खामियों के चलते दिक्कत आती है। इसलिए सभी लेखाकारों की एक बैठक बुलाकर इस मामले को सुलझाया जाए।

जिप अपनी जमीन से हटवाएगी कब्जा : जिला परिषद की बैठक में सबसे बड़ा मुद्दा जिप की अपनी ही कब्जाई हुई जमीन को वापस लेने का रहा। इस दौरान चेयरमैन सतीश भालौठ ने आपत्ति जताते कहा कि वर्षों से यहां पर चेयरमैन आते रहे और जाते रहे, लेकिन किसी ने भी जिला परिषद की कब्जाई हुई जमीन का मुद्दा नहीं उठाया। इस बेशकीमती जमीन से करोड़ों रुपए की आमदनी जिला परिषद को हो सकती है। राजनीतिक दबाव को भी अब स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सोनीपत स्टैंड पर जिला परिषद की जमीन है। इसके अलावा पुराना एडीसी ऑफिस की जगह भी उनकी है। यहां पर नगर निगम की ओर से कई साल से किराया नहीं दिया है। यहां करीब 30 लाख रुपए किराया वसूला जाना है, जबकि नगर निगम की ओर से प्रॉपर्टी टैक्स समय पर वसूल लिया जाता है। किराया देने में आनाकानी की जा रही है। इस पर कड़ा संज्ञान लिया जाएगा। जिला परिषद चेयरमैन सतीश भालौठ और वाइस चेयरमैन मास्टर राजेंद्र की ओर से अब इस जमीन को लेकर कमेटी बनाई गई है। इनका कहना है कि हाईकोर्ट में भी इस मामले में अपनी पैरवी करेंगे। साथ ही स्टे हटवाने के लिए 15 दिन में रिपोर्ट एलओ से ली जाएगी।पुरानी कमेटियां भंग, नहीं होगा गठन : जिला परिषद की ओर से पुराने कार्यकाल में बनाई गई छह कमेटियों को भंग कर दिया है। इसका कारण इन कमेटियों की ओर से कोई भी रिपोर्ट पेश ना करना रहा। बैठक में चेयरमैन सतीश ने पाया कि मिड डे मील के लिए बनाई गई कमेटी ने अपनी रिपोर्ट नहीं दी। पंचायती राज के तहत खर्च जांचने को बनाई गई कमेटी को भंग किया। इसके अलावा प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के लिए बनाई गई कमेटी की ओर से भी रिपोर्ट ना भेजे जाने पर उसे भंग कर दिया है। अब सीईओ की ओर से दोबारा कमेटी गठित करने की बात कही गई है। इसी तरह से बीपीएल सर्वे के लिए नई कमेटी का गठन किया है। इसमें पार्षदों को भी भागीदारी शामिल होगी। वहीं, जिला परिषद के सामान खरीदने के लिए कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी को लेकर पार्षद दिनेश ने आपत्ति जताई कि उनकी बिना मंजूरी के ही समान खरीद लिया गया। इसलिए कमेटी ऐसी बने जो उनसे जानकारी लें। इस पर सीईओ ने स्पष्ट किया कि बिना कमेटी की मंजूरी के यदि कोई सामान खरीदा होगा तो उस मामले को जांच करवाएंगे। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

गलत जगह बना दी पुलिया

इसी दौरान गांव चिड़ी के अनिल ने मामला उठाया कि गांव में रजवाड़ा के पास पुलिया बनाई गई है। उसका कहीं भी कोई रिकॉर्ड नहीं है। यह पुलिया अपनी सही जगह पर बनाई ही नहीं गई। अनिल ने आरटीआई के कागज भी दिखाए कि किस तरह से अधिकारी ग्रामीणों की आंखों में धूल झोंक रहे हैं। इस पर चेयरमैन सतीश ने स्पष्ट किया कि चिड़ी में बनाई गई गलत पुलिया को लेकर जांच कराएंगे। जो भी अधिकारी दोषी होगा उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। पार्षद दिनेश ने खेल विभाग की ओर से गांव में बनाए गए राजीव गांधी खेल स्टेडियम को लेकर की खराब व्यवस्था को लेकर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि 4 साल से स्टेडियम में कोई भी कर्मचारी सफाई तक करने नहीं आया, जबकि उसके नाम पर वेतन वसूला जा रहा है। उन्होंने बताया कि कराैंथा के नाम पर कर्मचारी को सेक्टर 6 के राजीव गांधी खेल परिसर में लगाया है। इस मामले की जांच होनी चाहिए। पार्षद राजेश ने बीपीएल कार्ड न बनने, सिंगल रोड काे डबल करने के मामले भी उठाए। वार्ड नंबर 12 से नवनियुक्त पार्षद नरेंद्र दांगी ने बीपीएल राशन कार्ड, स्वच्छ पेयजल और पानी में टीडीएस ज्यादा होने की शिकायत की। वाइस चेयरमैन मास्टर राजेंद्र ने पटवापुर में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की इमारत खराब होने व आंगनबाड़ी जर्जर होने की शिकायतें उठाई। पार्षद जसवीर सुंडा ने सड़कों की हालत और नालियों की सफाई न होने की शिकायत की।

सोनीपत रोड डेढ़ साल से खराब

बीते डेढ़ साल से खराब पड़े भालौठ के पास से गुजरने वाले सोनीपत रोड को वन- वे किया है। इस कारण दिनभर जाम लगता है। कई बार हादसे भी हो चुके। चेयरमैन सतीश की ओर से उठाए गए इस मामले पर अधिकारियों ने बताया कि इस काम को जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। भालौठ में शहीद हरिओम की प्रतिमा लगाने के लिए जवाब मांगा तो पता चला कि यहां पर 1.6 लाख रुपए का एस्टीमेट तैयार हो चुका है। स्ट्रक्चर भी तैयार कर लिया है। वहीं, बलंबा में 17 लाख 68 हजार का स्टीमेट बनाया है, जो कि निर्माणाधीन है। अधिकतर पार्षदाें ने बैठक के दौरान गंदे पेयजल और नालियां भरे होने का मामला उठाया। पेंशन लेने के लिए बुजुर्गों को चक्कर काटने पड़ते हैं। इस मामले पर अधिकतर पार्षदों की ओर से मांग उठाई गई कि बुजुर्गों को घर पर जाकर पेंशन दी जाए। एसडीएम मुकेश कुमार जैन ने जवाब दिया कि 5 किमी की दूरी पर बैंक की सुविधा होना जरूरी है। यदि ऐसा नहीं है तो बैंक एजेंट लगाकर बुजुर्गों को इस सुविधा का लाभ दिया जा सकता है। अब अगली बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा होगी।

सभी पार्षदों से मांगे काम के लिए प्रस्ताव

चेयरमैन सतीश ने बैठक में स्पष्ट किया कि सभी पार्षद अपने-अपने क्षेत्रों में होने वाले कामों के लिए प्रस्ताव लिखित में दें। इसके अलावा बड़े कामों के लिए एस्टीमेट बनवा कर प्रस्ताव भेजे जाए, जिसे प्रदेश सरकार के पास से बजट के लिए भेजा जाएगा। यह काम आगामी 10 दिन में पूरा करना होगा। सीधे तौर पर अब पार्षदों को दो हिस्सों में प्रस्ताव देने होंगे, जिसमें पहला आए हुए बजट को लेकर होगा। पार्षद नवीन मलिक ने गांव खरावड़ में। पशु अस्पताल की हालत खराब होने का मामला उठाया, लेकिन पशुपालन विभाग से कोई अधिकारी ना होने के चलते।

जिला विकास भवन में जिला परिषद की बैठक को संबोधित करते सीईओ ब्रह्मप्रकाश।

Rohtak News - haryana news will take possession of sonipat stand rent from corporation
X
Rohtak News - haryana news will take possession of sonipat stand rent from corporation
Rohtak News - haryana news will take possession of sonipat stand rent from corporation
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना