--Advertisement--

हसनगढ़ फैक्ट्री हादसे में मृतकों के परिजनों का आरोप

हसनगढ़ के खुर्मपुर रोड पर स्थित शिवा पेट्रोलियम फैक्ट्री में सुबह करीब 7 बजे 3 बाइक सवार बदमाशों ने फैक्ट्री के...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 03:47 AM IST
Sampla - hassanagar factory accident accused of kin of dead
हसनगढ़ के खुर्मपुर रोड पर स्थित शिवा पेट्रोलियम फैक्ट्री में सुबह करीब 7 बजे 3 बाइक सवार बदमाशों ने फैक्ट्री के क्वार्टरों में रहे रहे परिवारों को खाली करने की धमकी दी । फैक्ट्री के 7 क्वार्टरों में करीब 15 लोग रहे है। शुक्रवार को सुबह टैंक की सफाई करते समय रोहित उर्फ छोटू व रणजीत की दम घुटने से मौत हो गई थी। वहीं जोगेंद्र को बेहोशी की हालत में टैंक से बाहर निकाला गया। मृतक रोहित के पिता शंभुदास ने बताया कि सुबह करीब 7 बजे वह अपने परिजनों के साथ बिहार के मोतिहारी से ट्रेन द्वारा रोहतक आ रहा था। इसी दौरान उसके बड़े भाई हरिदास का फोन उसके पास आया । हरिदास भी इसी फैक्ट्री में काम करता है ओर फैक्ट्री परिसर में बने क्वार्टरों में ही रहता है। हरिदास ने उसे बताया कि फैक्ट्री में 3 बाइक सवार बदमाश आये हुए है। वे जल्दी से जल्दी क्वार्टर खाली करने का दबाव बना रहे है। क्वार्टर खाली नहीं करने की सूरत में यहीं सभी को दफनाने की बात कह रहे है। जिसके चलते क्वार्टरों में रहने वाले दहशत में हैं।

बदमाशों ने कहा-क्वार्टर खाली करो नहीं तो यहीं गड्ढा खोद दफन कर देंगे

पुलिस कार्रवाई : दूसरे दिन भी नहीं हो पाई आरोपी फैक्ट्री मालिक की गिरफ्तारी

मोटरसाइकिल मैकेनिक बनना चाहता था रोहित : मृतक रोहित के पिता शंभुदास का कहना है कि रोहित मोटर साइकिल मैकेनिक बनना चाहता था। इसी लिये करीब डेढ़ माह पहले वह बिहार से हरियाणा आया था। एक मैकेनिक से बात भी हो गई। लेकिन शंभुदास को करीब 25 दिनों पहले किसी काम से बिहार जाना पड़ गया । रोहित अपने ताऊ हरिदास के साथ फैक्ट्री में ही रह गया । शुक्रवार फैक्ट्री मैनेजर व मालिक सुशील रोहित से जबरदस्ती टैंक की सफाई करवाना चाहते थे। यह बात उसके बड़े भाई हरिदास ने उसको बताई तो उसने तत्काल मैनेजर को फोन कर रोहित से टैंक की सफाई नहीं करवाने को कहा। लेकिन मैनेजर सुंदर व मालिक सुशील ने 500 रुपए का लालच देकर जबरदस्ती रोहित को टैंक साफ करवाने के लिये अंदर उतार दिया। इसके चलते उसकी मौत हो गई।

मृतकों के परिवार को मिले 20 - 20 लाख की आर्थिक मदद

वन कर्मचारी संघ के प्रधान जोगेंद्र करौंथा व उप महासचिव आनन्द शर्मा का कहना है कि शिवा पेट्रोलियम फैक्ट्री में मृतकों के परिवार को 20 - 20 लाख रुपए की आर्थिक सहायता मिलनी चाहिए। इसके लिये फैक्ट्री मालिकों के साथ सरकार भी जिम्मेवार है। श्रम कानूनी की घोर अवहेलना फैक्ट्री संचालक कर रहे है, लेकिन सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है।

बोर्ड देगा 5-5 लाख की मदद

हरियाणा श्रम कल्याण बोर्ड के चेयरमैन रमेश बल्हारा और सदस्य भूषण चुघ ने बताया कि हसनगढ़ की फैक्टरी में हुए हादसे काे लेकर जांच रिपोर्ट मांगी गई है। इस मामले में फिलहाल दोनों मृतकों के पीड़ित परिवारों को मुख्यमंत्री सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत 5-5 लाख रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी।

दोषियों पर कानून के हिसाब से कार्रवाई करेंगे

मृतक रोहित के ताऊ हरिदास के बयान पर फैक्ट्री मालिक सुशील के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। दोषियों के खिलाफ कानून के हिसाब से कार्रवाई की जाएगी। - कुलबीर सिंह, थाना प्रभारी, सांपला

ये जानना भी जरूरी.. जहां दो जान गईं वहां किस प्रकार होता है काला तेल रिफाइंड

मोटर मैकेनिकों से 25 रुपए लीटर के भाव में काला तेल खरीदा जाता है। इसके बाद इसको फैक्ट्री में ले जाकर बायलर में डाला जाता है। करीब 12 से 18 घंटे तक तेल को करीब 400 डिग्री पर गर्म किया जाता है। इसके बाद तेल दूसरे टैंक में आता है। यहां पर विशेष मिट्टी के साथ 130 डिग्री पर रखा जाता है। फिर इस तेल को धीरे धीरे ठंडा किया जाता है और फिल्टर किया जाता है। एक ड्रम में मोबिलऑयल व दूसरे में डीजल फिल्टर होने के बाद आता है।

समझौता करने का बना रहे दबाव : मृतक रणजीत के साले व संध्या के छोटे भाई सुशील का कहना कि फैक्ट्री प्रबंधन की तरफ से समझौता करने का दबाव बनाया जा रहा है। जबकि परिवार की आर्थिक हालत को देखते हुए परिजन मृतक रणजीत के पांचों बच्चों के नाम एक - एक लाख रुपए बैंक डिपॉजिट व मृतक की प|ी संध्या को 3 लाख रुपए की आर्थिक सहायता की मांग कर रहे है। वहीं फैक्ट्री प्रबंधक महज 10 हजार रुपए की नौकरी मृतक की प|ी संध्या को देने पर सहमति दे रहे है।

X
Sampla - hassanagar factory accident accused of kin of dead
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..