--Advertisement--

रोहतक / आईएमटी रोहतक में 50 एकड़ में बनेगा मेगा फूड पार्क



रोहतक | मेगा फूड पार्क में ऐसे होगी फूड प्रोसेसिंग। रोहतक | मेगा फूड पार्क में ऐसे होगी फूड प्रोसेसिंग।
X
रोहतक | मेगा फूड पार्क में ऐसे होगी फूड प्रोसेसिंग।रोहतक | मेगा फूड पार्क में ऐसे होगी फूड प्रोसेसिंग।
  • यमुनानगर, सोनीपत और सिरसा में भी इसी पार्क से जुड़ने वाले तीन प्राथमिक प्रसंस्करण केंद्र बनेंगे
  • सीएमओ की मंजूरी के बाद केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल को पत्र लिख शिलान्यास के लिए समय मांगा 

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 06:00 AM IST

रत्न पंवार, रोहतक.  आईएमटी रोहतक में बनने वाले प्रदेश के दूसरे मेगा फूड पार्क को सीएमओ ने मंजूरी दे दी है।  रोहतक आईएमटी में 75 साल की लीज पर 50 एकड़ जमीन हैफेड की ओर से ली गई है। इसमें खाद्य पदार्थों से संबंधित करीब 80 औद्योगिक इकाई स्थापित की जा सकेंगी। इसके साथ ही कोल्ड स्टोरेज की सुविधा भी मिलेगी। 

 

प्रदेश में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में अपनी तरह की पहली परियोजना होगी, जहां खाद्य प्रसंस्करण गतिविधियों की पूरी प्रक्रिया शुरू की जा सकेंगी। इसमें किसान भी समूह बनाकर यूनिट ले सकेंगे। पार्क के निर्माण में 179.75 करोड़ रुपए की लागत आएगी।

 

इसमें नाबार्ड की ओर से करीब 55 करोड़ रुपए का कर्ज भी लिया जाएगा। साथ ही 50 करोड़ रुपए की राशि केंद्रीय मंत्रालय की ओर से ग्रांट के तौर पर मिलेगी। इस मेगा फूड पार्क के साथ ही यमुनानगर, सोनीपत और सिरसा में इसी पार्क से जुड़ने वाले तीन प्राथमिक प्रसंस्करण केंद्र बनाए जाएंगे। इनकी अभी जगह तय नहीं हो पाई है। सीएमओ से फाइल निकलने के बाद अब केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल को पत्र लिखकर शिलान्यास के लिए समय भी मांगा गया है। 

 

सोनीपत के बड़ी में बन रहा एक मेगा फूड पार्क : हालांकि 2015 में सोनीपत के बड़ी गांव में एचएसआईआईडीसी की ओर से एक मेगा फूड पार्क बनाने का काम चल रहा है, लेकिन एक कंपनी को दो पार्क न मिल पाने के चलते ही हैफेड इस पार्क को बनाएगा। इसकी भारत सरकार ने फरवरी 2018 में मंजूरी दी है। देश में 42 मेगा फूड पार्क की योजना 2008 में लागू की गई थी। वर्ष 2014 तक 2 पार्क ही शुरू किए गए थे। अब इस वर्ष 10 और फूड पार्क शुरू हो जाएंगे। 

 

 

6 हिस्सों में बनेगा फूड पार्क : 

 

1.     इंडस्ट्रियल प्लॉट का होगा।  
2.     कोर प्रोसेसिंग फैसिलिटी के लिए तय किया है। इसमें बहुउद्देश्यीय कोल्ड स्टोरेज, डीप फ्रीजर, स्टीम बायलर, कच्चे माल के गोदाम, गुणवत्ता और नियंत्रण प्रयोगशाला।  
3.     तीसरे हिस्से में नॉन कोर इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार होगा।
4. चौथे हिस्से में 12 शेड से लेकर पक्का एरिया बनेगा।  
5.     5वें हिस्से में ग्रीन एरिया रखा जाएगा।  
6.     छठे हिस्से में सड़कों का नेटवर्क, पार्किंग से लेकर बैंक, कैंटीन, बैंक एटीएम भी बनेंगे। 

 

 


 

मेगा फूड पार्क में निवेशकों को सुविधाएं दी जाएंगी। युवाओं को भी रोजगार मिल सकेंगे। केएमपी के निर्माण होने के बाद यहां पर छोटे निवेशकों से लेकर बड़े निवेशक तक अपना प्लांट चालू कर सकेंगे। - मनीष ग्रोवर, सहकारिता मंत्री, हरियाणा।

 

--Advertisement--
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..