--Advertisement--

पिराई सत्र 13 से शुरू, 40 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई का लक्ष्य

शुगर मिल में पिराई सत्र 2018-19 के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। प्रदेश के अन्य मिलों के साथ 13 नवंबर को पिराई सत्र...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 03:27 AM IST
Maham - pirai start from session 13 target of 400 million quintals of pigeon pea
शुगर मिल में पिराई सत्र 2018-19 के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। प्रदेश के अन्य मिलों के साथ 13 नवंबर को पिराई सत्र का शुभारंभ किया जाएगा। इस बार 40 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई का लक्ष्य है। पिछली बार शुगर मिल पिराई के मामले में प्रदेश के अव्वल मिलों में शामिल रहा था। लेकिन गन्ना बांड और पर्ची बांटने में अनियमितता बरतने की शिकायतें भी आई थी। जिससे मिल प्रशासन की कार्य प्रणाली पर सवाल खड़े हुए थे। इस बार इनसे निपटने के लिए मिल प्रशासन हाइटेक प्रणाली का प्रयोग करेंगा। किसानों के घर पर्ची भेजने के साथ-साथ एसएमएस के माध्यम से भी गन्ने की पर्ची की जानकारी दी जाएगी। पिछले साल पिराई किए गए गन्ने का पूरा भुगतान किया जा चुका है। शुगर मिल एमडी वेद प्रकाश ने बताया कि पिछली बार 43.75 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई की गई थी। इस बार 40 लाख क्विंटल का लक्ष्य रखा गया है। पिराई सत्र लंबा चलने के कारण किसानों को परेशानी होती है वहीं रिकवरी में भी समस्या होती है। पिछली बार 9.82 लाख की रिकवरी की गई थी इस बार 10 लाख से ऊपर ले जाने का प्रयास रहेगा। मिल का पिराई सत्र रबी की फसल काटने का समय आने से पहले खत्म करने का प्रयास रहेगा।

एमडी का स्वतंत्र प्रभार होने से मिलेगा लाभ

महम शुगर मिल एमडी का प्रभार खंड के एसडीएम के पास होता था। एसडीएम को खंड कार्यालय और शुगर मिल दोनों जगह के काम देखने होते थे। जिससे शुगर मिल को अच्छे से नहीं संभाल पाते थे। इसी को देखते हुए निर्मल नागर का तबादला होने के बाद उनकी जगह एचसीएस वेद प्रकाश की एमडी के पद पर नियुक्ति की गई है। पिछली बार एचसीएस निर्मल नागर को स्वतंत्र प्रभार दिया गया था। जिसका फायदा भी नजर आया था। शुगर मिल पूरे सत्र में एक या दो बार ही ब्रेक डाउन हुआ था।

X
Maham - pirai start from session 13 target of 400 million quintals of pigeon pea
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..