--Advertisement--

ग्रुप डी की भर्ती क

शुक्रवार रात स्टेशन पर युवकों ने किया हंगामा, इंटरसिटी एक्सप्रेस का संचालन ढाई घंटे तक न होने देने का मैसेज...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 03:41 AM IST
Rohtak - recruit group d
शुक्रवार रात स्टेशन पर युवकों ने किया हंगामा, इंटरसिटी एक्सप्रेस का संचालन ढाई घंटे तक न होने देने का मैसेज दिल्ली पहुंचने पर डीआरएम दफ्तर में मचा हड़कंप, जांच बैठी


ग्रुप डी की भर्ती के परीक्षार्थियों की ओर से शुक्रवार रात को रोहतक रेलवे स्टेशन पर हुए हंगामे की रेलवे ने जांच शुरू कर दी है। रेलवे के दिल्ली मुख्यालय मंडल की ओर से इस मामले में जांच कमेटी बनाने के आदेश जारी हुए हैं। दरअसल ग्रुप डी की भर्ती परीक्षा देने के लिए अंबाला, कुरुक्षेत्र, जींद, पंचकुला, चंडीगढ़ की ओर जाने वाले यात्रियों ने 9 नवंबर की रात खूब बवाल काटा था। 10:42 बजे से आधा घंटा देरी से रेलवे स्टेशन पर पहुंची चंडीगढ़ इंटरसिटी एक्सप्रेस में जगह न मिलने पर काफी संख्या में एकत्रित युवकों ने ट्रेन को रोके रखा। करीब ढाई घंटे तक हंगामे के बाद ही ट्रेन रोहतक से चली। ढाई घंटे तक ट्रेन रोककर हंगामा किए जाने का मैसेज दिल्ली मंडल मुख्यालय में पहुंचा, तो अफसरों में हड़कंप मच गया। अब रेलवे ने पूरे घटनाक्रम की जांच बिठा दी गई है।

शाम 7 बजे तक दो हजार टिकट बेचने पर भी अफसरों ने स्पेशल ट्रेन की डिमांड नहीं भेजी थी, पायलट को सिग्नल भी नहीं मिला, जांच कमेटी तय करेगी जिम्मेदारी

रोहतक के रेलवे स्टेशन पर परीक्षार्थियों की लगी भीड़।

एग्जाम स्पेशल चलवाकर युवाओं को दी राहत


युवकों ने रोडवेज बस में सफर किया: स्पेशल ट्रेन व चंडीगढ़ इंटरसिटी एक्सप्रेस में जगह न मिलने से मायूस हुए देर रात तीन बजे युवक बड़ी संख्या में बस स्टैंड पहुंचे। यहां से उन्होंने कैथल, यमुना नगर, चंडीगढ़, पानीपत, गुरुग्राम के लिए 25 रिजर्व बसों के लिए 70 अतिरिक्त बसें मांग वाले रूट पर चलाईं गई। यह सिलसिला देर शाम तक चलता रहा। जीएम विकास यादव ने बताया कि उम्मीदवारों को बस परिवहन सुविधा दिलाने के लिए 100 के करीब बसों का संचालन किया गया है। देर शाम तक उम्मीदवार बसों के जरिए रोहतक पहुंचते रहे। उन्होंने बताया कि रविवार सुबह भी मांग के अनुसार रूट पर बसों का संचालन किया जाएगा।

रोहतक जंक्शन पर बवाल में खामियां

1. रेलवे की अब तक जांच ये बात सामने आई है कि रोहतक से चंडीगढ़ रूट पर इंटरसिटी एक्सप्रेस से सफर करने के लिए शुक्रवार शाम सात बजे तक दो हजार से अधिक टिकट बिक्री हुई थी। भीड़ बढ़ती गई लेकिन एसएस ने डिवीजनल ऑपरेटिंग मैनेजर से स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग नहीं की। इससे यात्रियों की भीड़ बढ़ती गई और उम्मीदवार स्पेशल ट्रेन को चलवाने की मांग करने लगे। सही समय पर फैसला नहीं लिया गया। इसी बीच सैकड़ों की संख्या में युवक हंगामा करते हुए ट्रैक पर आग जलाकर बैठ गए।

2. इंजन पर चढ़े युवकों को आरपीएफ ने सख्ती बरतकर हटाया और इंटरसिटी एक्सप्रेस के लोको पायलट कैलाश को ट्रेन चलाने के लिए कहा। तो पायलट की ओर से जवाब मिला कि कंट्रोल रूम से सिग्नल नहीं मिल रहा। रात 11:45 बजे से रात 12:30 बजे तक लोको पायलट सिग्नल न मिलने की वजह से ट्रेन को नहीं चला पाए। लिहाजा हंगामा बढ़ता चला गया। रात 1:50 बजे ट्रेन रवाना हो सकी।

ट्रेन के कोच में परीक्षार्थी।

चंडीगढ़ इंटर सिटी से पहले एग्जाम स्पेशल ट्रेन चलाई: शुक्रवार को हुए घटनाक्रम से सबक लेते हुए शनिवार सुबह दिल्ली से आरपीएफ के जवानों को भीड़ कंट्रोल करने के लिए बुला लिया गया। शाम को चंडीगढ़ से आने और जाने वाले युवाओं की भीड़ रेलवे स्टेशन पर जुटने पर आरपीएफ के इंस्पेक्टर आरके ओझा, जीआरपी एसएचओ नरेश सिंह मय फोर्स के लिए प्लेटफार्म पर गश्त करते रहे। पूछताछ केंद्र से रात 10 बजे तक एनाउंसमेंट कराकर एग्जाम स्पेशल ट्रेन का संचालन किए जाने की सूचना प्रसारित होती रही। रेलवे प्रशासन ने चंडीगढ़ इंटरसिटी आने से 42 मिनट पहले 10 बजे एग्जाम स्पेशल ट्रेन चलवाकर भीड़ को कंट्रोल करने का प्रयास किया। वहीं रेलवे टिकट बुकिंग शाखा के स्टाफ ने दो दिन में चंडीगढ़ रूट पर के लिए का सात हजार टिकट बिक्री का दावा किया है।

X
Rohtak - recruit group d
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..