अपराध / हत्या के मामले में पैरोल पर आया और बदल ली पहचान, 5 साल बाद चढ़ा पुलिस के हत्थे



Rohtak Police arrested a parole jumper after 5 years in suspected conditions
X
Rohtak Police arrested a parole jumper after 5 years in suspected conditions

  • रोहतक की कैलाश कॉलोनी के बल्लू उर्फ भगता के रूप में हुई मानसरोवर पार्क से गिरफ्तार संदिग्ध की पहचान
  • 2007 में किया था पड़ोसन पर दो साल पहले हुई चाचा की हत्या का बदला लेने के लिए हमला
  • उम्रकैद की सजा होने के बाद 2014 में पैरोल पर आया और फिर जेल नहीं लौटा

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 04:56 PM IST

रोहतक. रोहतक में मंगलवार को पुलिस ने एक पैरोल जम्पर को 5 साल बाद गिरफ्तार किया है। उसके सिर पर हत्या के एक मामले में 25 हजार रुपए का इनाम था। पता चला है कि पैरोल पर आने के बाद वह पहचान बदलकर अलग-अलग शहरों में रह रहा था। शादी भी कर ली थी। अब पुलिस ने एक गुप्त सूचना पर गिरफ्तार कर लिया।


हरियाणा पुलिस की अपराध जांच शाखा-1 रोहतक के प्रभारी निरीक्षक बिजेन्द्र भंडारी के मुताबिक पुलिस को सूचना मिली थी कि मानसरोवर पार्क में एक व्यक्ति संदिग्ध हालात में घूम रहा है। टीम ने मौके पर दबिश दे उसे हिरासत में लिया तो उसकी पहचान कैलाश कॉलोनी रोहतक के बल्लू उर्फ भगता के रूप में हुई। तलाशी लेने पर आरोपी के पास से एक देसी पिस्तौल बरामद हुई है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ थाना सिविल लाइन में आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। 

 

पुलिस अधिकारी की मानें तो अभी तक की जांच में पता चला है कि भगता अपने परिवार सहित पहले रेडक्राॅस सोसायटी गांधी कैम्प में रहता था। 2005 में भगता के परिवार की पड़ोस में रहने वाली महिला सुषमा के परिवार के साथ लड़ाई हुई। सुषमा व उसके परिवार के लोगों ने भगत के परिवार के साथ मारपीट की थी, जिसमें उसके चाचा को काफी चोटें आई और बाद में मौत हो गई। फिर 2007 में भगता ने अपने चाचा की मौत का बदला लेने के लिए पड़ोसन पर गोली चलाई, जो उसके 9-10 साल के बच्चे को लगी और उसकी मौत हो गई। उधर रेडक्रॉस में साथ काम करते सुषमा के पति पर भी भगता ने सुओं से हमला किया था। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल में भेज दिया। अदालत से बल्लू उर्फ भगता व अंकित को इस मामले में उम्रकैद की सजा हुई थी।

 

बताया जाता है कि इसके बाद 2014 में भगता पैरोल पर आया तो फिर वापस जेल में नहीं लौटा। अब पूछताछ में आरोपी ने बताया कि पैरोल पर फरार होने के बाद उसने शादी कर ली। पहले पानीपत उसके बाद करनाल में रहने लगा। पहचान बदल चुका आरोपी प्लंबर और लैंटर तोड़ने का काम करके अपना गुजारा कर रहा था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना