--Advertisement--

छात्र संघ चुनाव / विरोध कर रहे छात्रों को रोहतक और कुरुक्षेत्र में पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, कुछ हिरासत में



कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी के थर्ड गेट के बाहर छात्रों पर लाठीचार्ज करते हुए पुलिस। कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी के थर्ड गेट के बाहर छात्रों पर लाठीचार्ज करते हुए पुलिस।
महिला पुलिस ने छात्राओं को भी खदेड़ा। महिला पुलिस ने छात्राओं को भी खदेड़ा।
रोहतक के एमडीयू के बाहर तैनात पुलिस। रोहतक के एमडीयू के बाहर तैनात पुलिस।
एमडीयू में लाठाचार्ज के बाद घायल छात्र। एमडीयू में लाठाचार्ज के बाद घायल छात्र।
एमडीयू में लाठाचार्ज के बाद घायल छात्र। एमडीयू में लाठाचार्ज के बाद घायल छात्र।
घायल छात्र लाठी का निशान दिखाते हुए। घायल छात्र लाठी का निशान दिखाते हुए।
एमडीयू के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्र। एमडीयू के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्र।
X
कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी के थर्ड गेट के बाहर छात्रों पर लाठीचार्ज करते हुए पुलिस।कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी के थर्ड गेट के बाहर छात्रों पर लाठीचार्ज करते हुए पुलिस।
महिला पुलिस ने छात्राओं को भी खदेड़ा।महिला पुलिस ने छात्राओं को भी खदेड़ा।
रोहतक के एमडीयू के बाहर तैनात पुलिस।रोहतक के एमडीयू के बाहर तैनात पुलिस।
एमडीयू में लाठाचार्ज के बाद घायल छात्र।एमडीयू में लाठाचार्ज के बाद घायल छात्र।
एमडीयू में लाठाचार्ज के बाद घायल छात्र।एमडीयू में लाठाचार्ज के बाद घायल छात्र।
घायल छात्र लाठी का निशान दिखाते हुए।घायल छात्र लाठी का निशान दिखाते हुए।
एमडीयू के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्र।एमडीयू के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्र।

  • एमडीयू के गेट नंबर-1 से छात्रों को खदेड़ने के लिए छोड़ी गई आंसू गैस
  • सरकार करा रही अप्रत्यक्ष चुनाव, छात्र कर रहे हैं सीधे चुनाव की मांग

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 04:21 PM IST

रोहतक/कुरुक्षेत्र/सिरसा। हरियाणा में 22 साल बाद 17 अक्टूबर को होने जा रहे छात्र संघ चुनाव पर विवाद शुरू हो गया है। शुक्रवार को प्रदेशभर में अलग-अलग यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के बाहर छात्र संगठनों ने प्रत्यक्ष चुनाव की मांग करते हुए प्रदर्शन किए। वहीं, रोहतक यूनिवर्सिटी और कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन कर रहे छात्रों को भगाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। रोहतक में आंसू गैस भी छोड़ी गई है। कुछ छात्रों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया है।

 

पुलिस के समझाने पर नहीं माने तो किया लाठीचार्ज

  1. छात्रों पर लाठीचार्ज करते हुए पुलिस।

     

    शुक्रवार को रोहतक की महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी (एमडीयू) के गेट नंबर-1, जाट कॉलेज, नेकीराम कॉलेज और राजकीय महाविद्यालय के बाहर छात्र संगठनों ने विरोध प्रदर्शन शुरू किया था। एमडीयू का रास्ता बंद कर देने से विवाद शुरू हुआ। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें समझाने की पूरी कोशिश की लेकिन छात्र नहीं माने।

  2. एमडीयू गेट पर छात्रों को समझाने के लिए एसडीएम राकेश कुमार भी पहुंचे लेकिन, छात्र नहीं माने तो पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दिया। छात्रों को खदेड़ने के लिए 3 आंसू गैस के गोले भी छोड़ी गए। इसमें कुछ छात्रों को हल्की चोट भी आई है। कुछ देर के बाद फिर से छात्र एमडीयू के गेट पर पहुंच गए। उन्हें समझाने के लिए खुद उपकुलपति वीके पूनिया पहुंचे।    
     

  3. कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी में विरोध में प्रदर्शन कर रहे छात्र संघर्ष समिति के सदस्यों ने सुबह 10.30 बजे यूनिवर्सिटी के थर्ड गेट पर ताला लगा दिया। वे वहां बैठकर प्रदर्शन करने लगे। पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश की लेकिन छात्र नेता नहीं माने।

  4. लगभग 11 बजे छात्र यूनिवर्सिटी गेट से उठकर कुरुक्षेत्र-कैथल हाइवे जाम करने के लिए बढ़े तो पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज कर दिया। कुछ छात्र दुकानों के अंदर घुस गए। पुलिस ने उन्हें दुकानों से बाहर निकालकर पीटा। वहीं इनसो छात्र नेता जसविंद्र खैरा और एसएफआई के छात्र नेता शहनवाज को हिरासत में ले लिया है।

  5. कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी में छात्रों पर लाठीचार्ज करते हुए पुलिस।

     

    सिरसा की चौधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी (सीडीएलयू), नेशनल कॉलेज और वूमेन कॉलेज के बाहर छात्रों ने प्रदर्शन किया। सीडीएलयू में छात्रों ने अंदर घुसने की कोशिश की लेकिन यूनिवर्सिटी के गेट बंद कर दिए गए। वहीं दूसरे कॉलेजों के बाहर भी छात्रों ने गेट के बाहर जोरदार प्रदर्शन किया।  
     

  6. बता दें कि हरियाणा में इस बार अप्रत्यक्ष रुप से छात्र संघ चुनाव हो रहे हैं। इन चुनावों का प्रदेश के 11 छात्र संगठनों ने बहिष्कार का एलान किया है। जिस कड़ी में शुक्रवार को प्रदेशभर की यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के बाहर प्रदर्शन हो रहे हैं। इस प्रदर्शन में इनसो, एनएसयूआई, एसएफआई के अलावा डीएएसएफआई , एएमवीए, एआईएसएफ, जीबीएसओ, कुसा, सोपू, एवीएसएसओ, जीसीएसयू आदि शामिल हैं।

  7. अप्रत्यक्ष चुनाव प्रणाली में सबसे पहले क्लास रिप्रजेंटेटिव चुना जाएगा, जो अधिकतम 5 हजार रुपए खर्च कर सकेगा। उसकी उम्र 17 से 22 साल के बीच होनी चाहिए। उम्मीदवार पीजी कर रहा है तो उम्र 25 तय की गई है। चुने गए क्लास रिप्रजेंटेटिव अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव व संयुक्त सचिव और 5 एग्जीक्यूटिव मेंबर का चुनाव करेंगे।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..