• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rohtak News the sarpanch said the year before the approved transformer did not take place when electricity supply is not available how will the villagers motivate for outstanding bills
--Advertisement--

सरपंच बोले- साल पहले स्वीकृत ट्रांसफार्मर आज तक नहीं लगा, जब बिजली सप्लाई नहीं मिलेगी तो बकाया बिलों के लिए ग्रामीणों को कैसे प्रेरित करेंगे

Rohtak News - उत्तर और दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक शत्रुजीत कपूर ने शनिवार को विकास सदन में...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:16 AM IST
Rohtak News - the sarpanch said the year before the approved transformer did not take place when electricity supply is not available how will the villagers motivate for outstanding bills
उत्तर और दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक शत्रुजीत कपूर ने शनिवार को विकास सदन में बकाया बिल निपटान योजना को लेकर बैठक की। इसमें जिले के सभी सरपंचों, पंचों, नगर निगम पार्षदों को सरकार की ओर से शुरू की गई बकाया बिजली बिल निपटान योजना से अवगत कराया गया। इसके बाद सीएमडी ने जिले के विभिन्न गांवों से पहुंचे पंच व सरपंचों की एक-एक कर समस्या सुनीं। करौथा गांव से आए दिनेश धनखड़ ने सीएमडी को कहा कि गांव के लिए एक 63 केवीए का ट्रांसफार्मर एक साल पहले स्वीकृत हुआ था, लेकिन आज तक उसे लगाया नहीं गया। पूरे गांव की आबादी करीब चार हजार है। पहले से लगे सौ केवीए के ट्रांसफार्मर पर लोड बढ़ने से अक्सर लो वोल्टेज की समस्या पैदा हो जाती है। उन्होंने कहा कि सब डिवीजन नंबर एक की एसडीओ सुमन श्योराण से कई बार एडिशनल ट्रांसफार्मर लगाने की अपील कर चुके, लेकिन आज तक सुनवाई नहीं हुई। जब निगम गांव में पर्याप्त बिजली सप्लाई नहीं देगा तो फिर निगम की बकाया बिजली बिल निपटान योजना में ग्रामीणों को कैसे प्रेरित करेंगे।

दावा: बकाया बिजली बिल निपटान योजना में साढ़े 10 हजार उपभोक्ता शामिल होंगे

रोहतक में जिला विकास भवन में बालंद गांव के सरपंच बल्लू को सम्मानित करते बिजली निगम के सीएमडी शत्रुजीत कपूर और डीसी डॉ. यश गर्ग।

काहनी को डिफाल्टर मुक्त घोषित कराने का वादा

पूरा प्रकरण जानने के बाद सीएमडी शत्रुजीत ने एसई एसके बंसल को शिकायत का निस्तारण करने को कहा है। वहीं काहनी गांव से आए नरेश, पूर्व सरपंच पालेराम ने सीएमडी कपूर से गांव में आठ घंटे बिजली सप्लाई दिए जाने की मांग रखी। सीएमडी ने उनसे गांव को डिफाल्टर मुक्त घोषित कराने वादा लिया। तब गांव में आठ की बजाय का 24 घंटे बिजली सप्लाई सुनिश्चित कराने को आश्वस्त किया। मीटिंग में डीसी डॉ. यश गर्ग, एसपी जश्नदीप सिंह रंधावा, बिजली निगम निदेशक ओके शर्मा, चीफ इंजीनियर वीएस मान, एसई सुरेश कुमार बंसल, देवव्रत शर्मा, एसडीएम राकेश कुमार उपस्थित रहे।

ज्यादा से ज्यादा लोग स्कीम का लाभ लेकर मुख्यधारा से जुड़े

सीएमडी शत्रुजीत कपूर ने सभी सरपंचों, पंचों व नगर निगम के सदस्यों को कहा कि जो उपभोक्ता किसी वजह से बिजली बिल जमा नहीं करवा पाए हैं। वह अब बिना किसी जुर्माना राशि के सिर्फ उपरोक्त आधार पर गणना किए हुए बिल की राशि जमा करवाकर अपना नाम बकायदारों की सूची से निकलवा सकते हैं। उन्होंने अपील की है कि वो गांव व शहरों में सभी लोगों को इस योजना के बारे में जागरूक करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग स्कीम का लाभ लेकर मुख्यधारा से जुड़े।

10,668 उपभोक्ताओं को मिली 49 करोड़ 60 लाख की छूट

इस योजना के अंतर्गत अब तक रोहतक जिले में 10 हजार 668 उपभोक्ता स्कीम का लाभ उठा चुके हैं। जिसके अंतर्गत सिर्फ 6 करोड़ 75 लाख रुपए की राशि जमा करवाकर बकाया बिलों में 49.60 करोड़ रुपए की छूट का लाभ प्राप्त किया है। प्रेरणा समारोह में महम चौबीसी के प्रधान मेहर सिंह, बलंभा के प्रधान सुरेंद्र व निंदाना के प्रधान सूरजमल ने पगड़ी बांधकर सीएमडी शत्रुजीत का स्वागत किया। मीटिंग के दौरान सीएमडी शत्रुजीत कपूर, डीसी डॉ. यश गर्ग ने अच्छा कार्य करने वाले मोखरा के प्रमोद, आंवल के अनिल, खेरड़ी के भूपेंद्र सिंह, बालंद के ओम प्रकाश (बल्लू), सांघी के सतीश व खरैंटी के महिपाल को सम्मानित किया।

इन्हें मिलेगा बकाया बिल निपटान योजना का लाभ

इस योजना में बकाया बिल निपटान की सुविधा 20 किलोवाट तक लोड के घरेलू उपभोक्ता व 5 किलोवाट तक के गैर घरेलू उपभोक्ताओं को दी गई है। जून 2005 से पहले का पूरा बकाया माफ कर दिया गया है। जून 2005 से 30 जून 2018 तक के बकाया बिलों के निपटारे के लिए बिजली खपत कि गणना ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 40 यूनिट प्रति किलोवाट प्रति माह, शहरी घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 50 यूनिट प्रति किलोवाट प्रति माह, ग्रामीण गैर घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 75 यूनिट प्रति किलोवाट प्रति माह व शहरी गैर घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 150 यूनिट प्रति किलोवाट प्रति माह के हिसाब से की जा रही है। बीपीएल उपभोक्ताओं को उपरोक्त दरों पर सिर्फ पिछले एक साल का ही बिल भरना होगा। यह योजना 31 दिसम्बर 2018 तक चालू रहेगी।

काहनाैर: सरपंच पर झूठा बिजली चोरी का केस

विजिलेंस डीएसपी की जांच रिपोर्ट में फर्जी निकला केस

रोहतक | काहनौर ग्राम पंचायत के सरपंच अमित कादयान के घर पर छापा मारकर झूठा बिजली चोरी का केस बनाए जाने का प्रकरण शनिवार को बिजली निगम के सीएमडी शत्रुजीत कपूर के समक्ष पहुंचा। विजिलेंस डीएसपी की जांच रिपोर्ट में निर्दोष पाए गए सरपंच अमित ने सीएमडी के समक्ष कहा कि आरोपी जेई के खिलाफ कार्रवाई करने की सिफारिश विजिलेंस डीएसपी ने एसपी विजिलेंस गुरुग्राम को की है। लेकिन आज तक आरोपी जेई गुलशन लाल के खिलाफ निगम की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई है। सीएमडी ने पूरे प्रकरण को संज्ञान में लेकर कार्रवाई करने को आश्वस्त किया है।

सरपंच अमित कादयान ने बताया कि 7 अक्टूबर 2017 को जेई गुलशन लाल व एएलएम प्रवीन कुमार ने छापा मारकर वीडियोग्राफी कराई। जेई गुलशन लाल ने भवन परिसर में संचालित बैंक के अंदर चल रहे कम्प्यूटर राउटर को एसी चलता हुआ बताकर बिजली चोरी का केस बनाते हुए एक लाख 16 हजार रुपए जुर्माना अदा करने को कहा। सरपंच अमित ने पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच कराने के लिए एसपी विजिलेंस गुरुग्राम को शिकायत दे दी। एसपी विजिलेंस ने करनाल विजिलेंस के उप पुलिस अधीक्षक को जांच सौंप दी।

हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड विजिलेंस के डीएसपी ने 12 अक्टूबर 2017 को जांच टीम ने मौका मुआयना कर तथ्यों को जांचा तो बयानों व साक्ष्यों के आधार पर केस फर्जी पाया गया। रिपोर्ट में डीएसपी ने स्पष्ट किया है कि जांच के दौरान प्राप्त किए गए रिकॉर्ड, बयान, सीडी का अवलोकन व मौके पर दोबारा की गई चेकिंग में जेई गुलशन लाल, एएलएम प्रवीन कुमार ने शिकायतकर्ता अमित कुमार के घर चेकिंग की गई थी। इस विषय में जेई की ओर से शिकायतकर्ता के रिहायशी मकान बारे एलएल वन नंबर 916/23 में 7 अक्टूबर 2017 को लोड 3.403 किलोवाट लिखा गया था।

X
Rohtak News - the sarpanch said the year before the approved transformer did not take place when electricity supply is not available how will the villagers motivate for outstanding bills
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..