HBR नॉलेज / बातचीत के दौरान कर्मचारियों को कमज़ोर महसूस ना करवाएं



Do not make employees feel weak during conversation
X
Do not make employees feel weak during conversation

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 12:29 PM IST

कर्मचारी ध्यान आकर्त करने की को षि शिश करे तो क्या करेंगे जानिए हार्वर्ड बिजनेस रिव्यू से। यह भी जानिए कि प्जेंटे रे शन के दौरान किस तरह अपनी बेचैनी कम की जा सकती है?
 

भावनात्मक रूप से कमज़ोर सहकर्मी को कैसे सहारा दिया जा सकता है?

  1. कुछ कर्मचारी मैनेजर्स का ध्यान आकर्त करने की को षि शिश करते हैं। जब कोई अपना काम दिखाना चाहता है या विश्वास नहीं करता कि उसका काम अच्छा है, तो उनसे सीधे बात करनी चाहिए। एक मीटिंग रखकर विनम्रता से बात करें। ज्यादा सख्ती ना बरतें और ना ही उनकी हर बात खारिज करें। कर्मचारी को अहसास दिलाएं कि आपको उनकी चिंता है। सटीक और ठोस उदाहरण देकर ये बताने की कोशिश करें कि किस तरह उनका व्यवहार आपको और टीम को प्रभावित करता है। कर्मचारियों को प्रोत्साहित करें कि उन्हें बार-बार आश्वासन की जरूरत नहीं होनी चाहिए। वे अपने दोस्तों से मिलकर अपनी भावनाएं व्यक्त कर सकते हैं।

     

    (सोर्स: 4 वेज़ टू मैनेज एन इमोशनली नीडी एंप्लॉई, रॉन करूकी)

  2. प्रजेंटेशन से पहले होने वाली बेचैनी रे को इस तरह कम कर सकते हैं आप

    प्रजेंटेशन के दौरान बेचैन या ज्यादा उत्साहित हो जाते हैं तो शोध बताते हैं कि इस दौरान मेहरबान और उदार बने रहने से तनाव कम होता है। विनम्र स्वभाव अपनाकर खुद को शांत रखा जा सकता है। आप अन्य लोगों के साथ कुछ बांट रहे हैं तो इस बात को प्जेंटे रे शन के दौरान याद रखें। सीधे अपने विषय पर बात करने की बजाय अपने विचार व्यक्त करके शुरुआत की जा सकती है। खुद से पूछें कि कौन लोग मौजदू होंगे? उन्हें क्या चाहिए? फिर प्जेंटे रे शन तैयार करें जिससे सीधे उनकी जरूरतें पूरी की जा सकें। प्रजेंटेशन वाले दिन जरूरत से ज्यादा बेचैन हैं तो धीमी- गहरी सांस लें। प्जेंटे रे शन के दौरान लोगों से आंखें मिलाकर बात करें।

    (सोर्स: टू ओवरकम यॉर फियर ऑफ पब्लिक स्पीकिंग, स्टॉप थिंकिंग अबाउट यॉरसेल्फ, सारा गर्शमैन)

  3. बॉस साथ ना दें तो खुद ही लोगों के साथ व्यक्तिगत संबंध बनाना शुरू करें

    बॉस के कंपनी में सभी के साथ मधुर संबंध हैं, तो वे आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। अगर मैनेजर प्रभावशाली नहीं है तो इसका ये मतलब नहीं कि आप आगे नहीं बढ़ सकते। आप चाहें तो अपने सीनियर्स के साथ व्यक्तिगत संबंध बना सकते हैं। ऐसे लोगों की तलाश करें जिन्हें जानना फायदेमंद होगा, वे आपको जरूरी जानकारियां दे सकते हैं। जो बड़े स्तर पर निर्णय लेने का अधिकार रखते हैं उनसे बातचीत बढ़ाएं। मीटिंग के बाद किसी एग्जेक्यूटिव से मिलकर खुद का परिचय दे सकते हैं और कोई ऐसी जानकारी दे सकते हैं जो उनके लिए उपयोगी हो। 
    (सोर्स: हाउ टू गेट अहेड वेन यॉर बॉस डजन्ट हैव इंफ्लूएंस, एन शुगर)

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना