• Hindi News
  • Hbr
  • Imran Khan: Pakistan PM Imran Khan got a X 70 Proton car as a gift from his Malaysian counterpart Mahathir Mohamad.

पाकिस्तान / इमरान को मलेशिया के प्रधानमंत्री ने 21 लाख रुपए की कार गिफ्ट की, अगस्त में किया था ऐलान

मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने इमरान खान को लग्जरी कार गिफ्ट की है। मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने इमरान खान को लग्जरी कार गिफ्ट की है।
X
मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने इमरान खान को लग्जरी कार गिफ्ट की है।मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने इमरान खान को लग्जरी कार गिफ्ट की है।

  • महातिर मोहम्मद अगस्त में पाकिस्तान दौरे पर गए थे, उन्होंने वहां यह कार गिफ्ट करने का ऐलान किया था
  • हाल ही में इमरान खान के सलाहकार रज्जाक दाऊद ने इस कार को कुआलालम्पुर में रिसीव किया

दैनिक भास्कर

Dec 15, 2019, 04:31 PM IST

इस्लामाबाद. मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान को एक लग्जरी कार गिफ्ट की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय मुद्रा में इस कार (एक्स-70 प्रोटॉन) की कीमत करीब 21 लाख 15 हजार रुपए है। हाल ही में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के बिजनेस एडवाइजर रज्जाक दाऊद ने इस कार को रिसीव किया। फिलहाल, यह मलेशिया की राजधानी कुआलालम्पुर में है। इसके जल्द ही पाकिस्तान लाए जाने की उम्मीद है। इमरान कुलालम्पुर समिट में हिस्सा लेने के लिए 18 से 20 दिसंबर तक मलेशिया में ही रहेंगे। 
 
अगस्त में की थी घोषणा 
कश्मीर मुद्दे पर सिर्फ दो देशों ने पाकिस्तान का समर्थन किया था। ये हैं मलेशियाई पीएम महातिर मोहम्मद और तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयप एर्डोगन। अगस्त में महातिर पाकिस्तान आए थे। तब उन्होंने कहा था कि वो इमरान को मलेशिया में बनी यह लग्जरी कार उपहार में देना चाहते हैं। इस कार को असेंबल करने के लिए एक प्लांट भी पाकिस्तान में लगाया जा रहा है।


सऊदी अरब को मनाने में व्यस्त हैं इमरान
कुआलालम्पुर में 18 से 20 दिसंबर तक होने वाले सम्मेलन में मलेशिया, पाकिस्तान, तुर्की और ईरान हिस्सा ले रहे हैं। सऊदी अरब और यूएई इसे आर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (ओआईसी) के लिए चुनौती मानते हैं और इससे काफी नाराज हैं। यही वजह है कि 14 दिसंबर को इमरान अचानक सऊदी अरब पहुंचे और प्रिंस सलमान की नाराजगी दूर करने की कोशिश की। ओआईसी मुस्लिम देशों का सबसे मजबूत संगठन है। कश्मीर मुद्दे पर इसने पाकिस्तान के रुख का समर्थन न करते हुए भारत का पक्ष लिया। अगस्त में यूएन महासभा में मलेशिया और तुर्की ने ही पाकिस्तान का समर्थन किया था। खास बात ये है कि अमेरिका भी कुआलालम्पुर समिट को लेकर नाखुशी जाहिर कर चुका है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना