एक्सपर्ट एडवाइज / रोजाना 30 मिनट का वर्कआउट करना जरूरी, सेलेब्रिटी फिटनेस एक्सपर्ट बता रहे हैं, हफ्ते में कितनी बार जाएं जिम?



How many times a week should you go to the gym
X
How many times a week should you go to the gym

Dainik Bhaskar

Aug 31, 2019, 07:43 PM IST

हेल्थ डेस्क. हफ्ते में कितनी बार जिम जाना चाहिए। यह निर्भर करता है आपकी बॉडी, फिटनेस लक्ष्य और शेड्यूल पर। लेकिन फिर भी कुछ चीजें हैं जो यह तय करती हैं कि आपको हफ्ते में कितने दिन जिम जाना जरूरी है। सेलेब्रिटी फिटनेस एक्सपर्ट विनोद चन्ना बता रहे हैं जिम और वर्कआउट से जुड़ी कुछ खास बातें...

ऐसे तय करें जिम जाने के दिन

  1. फिट रहना, शेप में रहना चाहते हैं

    हर दिन लगभग 30 मिनट का समय व्यायाम जरूरी है, चाहे आप वर्कआउट ना भी करते हों। इसमें पैदल चलना, बच्चों के साथ बॉल खेलना या घर के काम करना शामिल हो सकता है।

    फायदे- हफ्ते में चार-पांच बार जिम जाते हैं तो वर्कआउट रुटीन बना रहता है। बीच का समय रिकवरी के लिए होता है। अगर काम के बोझ की वजह से आपके चार-पांच दिन पूरे नहीं हो पाते हैं, तो परेशान होने की बजाय इसे तीन दिन भी किया जा सकता है। एचआइआइटी के जरिए आप कम से कम समय में भी जिम का पूरा फायदा ले सकते हैं। कभी मशीन वर्कआउट की जगह किक बॉक्सिंग, डांस, टेनिस खेल सकते हैं।

  2. वजन कम करना चाहते हैं

    अडल्ट हैं और वजन कम करना चाहते हैं तो 60-90 मिनट की इंटेंस फिजिकल एक्टिविटी फायदेमंद होती है। इस दौरान कैलरी इंटेक का ध्यान रखना जरूरी है। यह आपकी उम्र, डाइट, वजन और जेंडर के हिसाब सेतय होता है। इसके अलावा आप किस तरह के वर्कआउट्स करते हैं इस पर भी निर्भर करता है। वजन घटाने के लिए आपको परा समय कार्डियो और एरोबिक्स को नहीं देना है। दो-तीन दिन की रेसिस्टेंस ट्रेनिंग आपके मसल्स टोन कर देगी। बचे हुए तीन-चार दिन में एरोबिक्स कर सकते हैं।

    फायदे- हफ्ते में चार से पांच दिन जिम जाने से आप अपने डेली वर्कआउट्स एक ही सेशन में पूरे कर सकते हैं। हफ्ते में ज्यादा से ज्यादा दिनों के लिए एक्सरसाइज करने से न सिर्फ वजन घटता है बल्कि आपकी जनरल फिटनेस में भी सुधार होता है।

  3. मसल्स बनाना चाहते हैं

    हफ्ते में तीन से चार दिन के शेड्यूल में हर सेशन में दो मसल ग्रुप्स पर फोकस किया जा सकता है। पांच से छह दिन के रुटीन में आप मसल्स को रेस्ट देने का समय निकाल सकते हैं। आपको एक बार में एक ही मसल ग्रुप पर काम करना चाहिए। अगर रोज जिम जाना चाहते हैं तो जा सकते हैं लेकिन थके हुए मसल्स पर बोझ नहीं डालना है, उन्हें रेस्ट भी दें। इस बीच योग किया जा सकता है, सॉना बाथ लिया जा सकता है या घर के आसपास पैदल चल सकते हैं।

    फायदे- तीन से चार दिन का शेड्यूल है तो आपको आराम काफी मिल जाता है। मसल्स तब नहीं बनते जब आप वजन उठाते हैं, ये तब बनते हैं जब आप रेस्ट लेते हैं। आपका नर्वस सिस्टम भी रेस्ट मांगता है जिससे कि सही तरीके से वर्कआउट किया जा सके।

  4. क्वांटिटी से ज्यादा जरूरी क्वालिटी

    आप जिम में क्या करते हैं ये ज्यादा जरूरी है बजाय इसके कि आप कितना करते हैं। लगभग रोज ही जिम जाते हैं लेकिन ज्यादा मेहनत नहीं करते, गलत तरीके से वर्कआउट करते हैं या ओवरट्रेनिंग से शरीर को थकाते हैं तो आपको वो फायदे नहीं मिलेंगे जो हफ्ते में तीन बार जिम जाने लेकिन सही तरीके से वर्कआउट करके मिल सकते हैं। सही तरीके से वर्कआउट करने के लिए पर्सनल ट्रेनर की मदद भी ली जा सकती है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना