मसल एक्सरसाइज / लंबाई बढ़ाने के साथ पेट की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है हैंगिंग वर्कआउट



how to do hanging workout and its variation know benefits of hanging workout
X
how to do hanging workout and its variation know benefits of hanging workout

Dainik Bhaskar

Jul 04, 2019, 01:38 PM IST

हेल्थ डेस्क. जब आप हैंगिंग वर्कआउट करते हैं तो शरीर की हर मांसपेशी स्ट्रेच होती है। इससे शरीर के हर हिस्से तक रक्तसंचार व ऑक्सीजन का सही प्रवाह होता है। इस वर्कआउट काे तेज गति में करने से बचना चाहिए। फिजिकल ट्रेनिंग एक्सपर्ट डॉ. श्वेता जैन से जानिए कितनी तरह से हैंगिंग वर्कआउट किया जा सकता है...

कई तरह से किया जा सकता है हैंगिंग वर्कआउट

  1. स्टेंडर्ड नी-रेज

    ''


    इसे करने के लिए बार को कंधों के बराबर चौड़ाई से पकड़ें और अपने घुटनों को मोड़कर धीरे-धीरे ऊपर की तरफ उठाएं। इस दौरान अपनी कमर को स्थिर रखें। इस एक्सरसाइज के 10 रैप के 3 सेट करें।

  2. स्विंग लेग रेज

    इसे करने के लिए हैंगिंग बार को कंधों के बराबर चौड़ाई से पकड़ें। अपने दोनों पैरों को एकसाथ उठाकर कमर के सामने की तरफ ले जाएं। अब पैरों को बिल्कुल ढीला छोड़ दें और नीचे आने दें। फिर पैरों को रोके बिना दोबारा ऊपर लेकर आएं। इस एक्सरसाइज के 10 रैप के 3 सेट करें।
     

  3. हैंगिंग लेग रेज 

    ''

     

    इसके लिए पुल अप बार की जरूरत पड़ती है। पहले चौड़े स्टूल पर खड़े हो जाएं और पुल अप बार पकड़ लें। अब शरीर का बैलेंस बनाते हुए धीरे-धीरे घुटनों को ऊपर उठाएं। घुटनों को सीधा करते हुए पैर फैलाएं और जितनी देर हो सके इस अवस्था में रहें। फिर पैर नीचे ले आएं। इस कसरत को कम से कम 15 से 20 बार करें। इसे तीन के सेट में रोज करना शुरू करें।
     

  4. फायदा : मांसपेशियां होंगी मजबूत, सुधरेगा बॉडी पॉश्चर

    यह वर्कआउट कलाई और हाथों की मांसपेशियों को मजबूती देता है। बाइसेप्स की मांसपेशियों के लिए भी फायदेमंद है। लंबाई बढ़ाने में काफी मदद करता है। पॉश्चर सुधारने में भी इफेक्टिव है। मूड स्विंग की समस्या दूर करने में सहायक है। 
     

  5. सावधानी : घुटनों पर ज्यादा जोर न डालें

    एक्सरसाइज के दौरान घुटनों पर ज्यादा जोर डालने से बचें वरना घुटनों में दर्द हो सकता है या लिगामेंट्स खिंच सकते हैं। पेट और बैक की मसल्स टाइट रखें। नहीं तो लाेअर बैक में दर्द हो सकता है या मांसपेशियों में खिंचाव हो सकता है। ग्लव्स का इस्तेमाल जरूर करें। इससे हाथों की ग्रिप सही रहती है और चोट का डर भी नहीं रहता है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना