जानकारी / जानिए जापानी बुखार के बारे में, यह बिमारी 1 से 14 साल की उम्र के बच्चों को अपनी चपेट में लेता है

Know about Japanese fever, this disease affects children between the age of 1 to 14 years
X
Know about Japanese fever, this disease affects children between the age of 1 to 14 years

Dainik Bhaskar

Aug 09, 2019, 11:06 AM IST

जापानी बुखार यानि इन्सेफलाइटिस का प्रकोप देश में करीब 20 राज्यों में हर साल फैलता है। खासकर उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में साल 2017 में जापानी बुखार के कारण एक दिन में 30 बच्चों की मौत हो गई थी। इस साल भी बिहार में इस बीमारी की चपेट में 150 से अधिक बच्चों की जान चली गई। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, इस बीमारी का पहला मामला साल 1871 में सामने आया था। मच्छरों से फैलने वाला ये वायरस डेंगू, पीला बुखार, और पश्चिमी नील वायरस की प्रजाति का ही है।

क्या है इन्सेफलाइटिस यानि जापानी बुखार
इन्सेफ्लाइटिस एक जानलेवा बीमारी है। यह एक ऐसी गंभीर बीमारी है जिसमें आपके दिमाग में सूजन आने लगती है। इसके लिए आपातकालीन इलाज की जरूरत होती है। इस बीमारी का शिकार कोई भी हो सकता है लेकिन सबसे ज्यादा ख़तरा बच्चों और बूढ़ों को होता है।

जापानी इन्सेफ्लाइटिस के लक्षण
जापानी इन्सेफ्लाइटिस में बुखार होने पर बच्चे की सोचने, समझने, और सुनने की क्षमता प्रभावित हो जाती है। तेज बुखार के साथ बार- बार उल्टी होती है। यह बिमारी अगस्त , सितंबर और अक्टूबर माह में ज्यादा फैलता है और 1 से 14 साल की उम्र के बच्चों को अपनी चपेट में लेता है।

जापानी इन्सेफ्लाइटिस से बचाव के उपाय -

  • नवजात बच्चे का समय से टीकाकरण कराएं
  • साफ सफाई का ख़ास ख्याल रखे
  • गंदे पानी को जमा ना होने दे साथ ही साफ और उबाल कर पानी पियें
  • बारिश के मौसम में बच्चों को बेहतर खाना दें
  • हल्का बुखार होने पर डॉक्टर को दिखाए।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना