--Advertisement--

खाली पेट क्या खाएं, क्या न खाएं? क्योंकि कुछ फूड नुकसान भी पहुंचा सकते हैं

कई बार शरीर को फायदा पहुंचाने वाली चीजें भी खाली पेट लेने पर नुकसान पहुंचा सकती हैं। ऐसे में ये ध्यान रखना जरूरी कि क्या खाएं क्या न खाएं।
केलों में मैग्नीशियम भरपूर होता है लेकिन इसके बावजूद खाली पेट इन्हें खाना रक्त में मिनरल्स की मात्रा को बढ़ा सकता है जिसका हृदय के स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ता है। केलों में मैग्नीशियम भरपूर होता है लेकिन इसके बावजूद खाली पेट इन्हें खाना रक्त में मिनरल्स की मात्रा को बढ़ा सकता है जिसका हृदय के स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ता है।
X
केलों में मैग्नीशियम भरपूर होता है लेकिन इसके बावजूद खाली पेट इन्हें खाना रक्त में मिनरल्स की मात्रा को बढ़ा सकता है जिसका हृदय के स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ता है।केलों में मैग्नीशियम भरपूर होता है लेकिन इसके बावजूद खाली पेट इन्हें खाना रक्त में मिनरल्स की मात्रा को बढ़ा सकता है जिसका हृदय के स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ता है।

Dainik Bhaskar

Aug 20, 2018, 11:56 AM IST

हेल्थ डेस्क. जितना खानपान का ध्यान रखना जरूरी है उतना ​ही अहम है यह जानकारी होना कि किस समय क्या खाएं, क्या न खाएं। खासकर सुबह खाली पेट विशेष ध्यान रखें। कई बार शरीर को फायदा पहुंचाने वाली चीजें भी खाली पेट नुकसान पहुंचा सकती हैं। आहार विशेषज्ञ डॉ. शालिनी गार्विन ब्लिस से जानते हैं इसके बारे में....

क्या नहीं खाना है...?

केले- केलों में मैग्नीशियम भरपूर होता है लेकिन इसके बावजूद खाली पेट इन्हें खाना रक्त में मिनरल्स की मात्रा को बढ़ा सकता है जिसका हृदय के स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ता है। 

दही- दही में अच्छी मात्रा में प्रोबायोटिक्स मौजूद होते हैं लेकिन खाली पेट खाने से दही में मौजूद हाइड्रोक्लोरिक एसिड हैल्दी बैक्टीरिया को ख़त्म कर देता है। 

सिट्रस फल- अधिक मात्रा में साइट्रिक एसिड म्यूकस मेम्ब्रेन (श्लेष्मा) को क्षति पहुंचा सकते हैं। नींबू का सेवन किया जा सकता है क्योंकि यह डिटॉक्सिफिकेशन का काम करता है।

क्या खा सकते हैं...? 
सूखे मेवे- प्रोटीन के स्रोत हैं। साथ ही इनमें विटामिन, खनिज, ओमेगा 3 फैटी एसिड व एंटीऑक्सीडेंट होते हैं।
शहद- खनिज, अमीनो एसिड, विटामिन और रोगाणुरोधी तत्व से पूर्ण शहद रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और पाचन संबंधी बीमारियों के ख़तरे को कम करता है। इसे गुनगुने पानी और ओट्स में शक्कर के स्थान पर ले सकते हैं। 

तरबूज़- इलेक्ट्रोलाइट व तरलता का स्तर ठीक रख शरीर में विटामिन्स पहुंचाता है। इसमें फ्लेवेनॉइड नामक एंटीऑक्सीडेंट होता है जो टिश्यू और अंगों को संक्रमण से बचाता है।  .

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..