गर्मी को मात देगी देसी ड्रिंक और पानी की कमी पूरी करने वाले फल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

हेल्थ डेस्क. बढ़ता तापमान बॉडी की एनर्जी को घटाता है। शरीर का तापमान सामान्य से अधिक बढ़ने पर उल्टी, हीट स्ट्रोक, फूड पॉइजनिंग, लू लगना, दस्त, बुखार होने का खतरा बढ़ जाता है। डाइट के कुछ नियमों को फॉलो करके ऐसी मौसमी बीमारियों से बचा जा सकता है। डायटीशियन डॉ. नीतिशा शर्मा से जानिए डाइट से 10 नियम जो गर्मी के असर को करेंगे छूमंतर...

1) डाइट में बढ़ाएं पानी की मात्रा

गर्मी का सबसे पहला असर शरीर की नमी पर होता है। बढ़ता तापमान शरीर में पानी की कमी का कारण बनता और डिहाईड्रेशन के मामले सामने आते हैं। अगर आप प्यास लगने पर पानी पीते है तो इसका मतलब है कि आपको डिहाइड्रेशन होने का खतरा अधिक है। इससे बचने के लिए रोजाना 3-4 लिटर पानी पीएं।

सामान्य पानी के अतिरिक्त शरीर में मिनरल्स व इलेक्ट्रोलाइट, विटामिन के लिए तरल पदार्थों का सेवन करना जरूरी है। इसके लिए डाइट में देसी ड्रिंक जैसे छाछ, नारियल पानी, नींबू पानी, ताजे फलों का रस, केरी का पना (कच्चे आम का पना) जरूर लें। इससे आपके शरीर में चुस्ती व फुर्ती बनी रहेगी।   

गर्मियों में रोजाना एक ऐसा फल जरूर खाएं जिसमें ढेर सारा पानी हो जैसे - तरबूज, खरबूजा, मौसमी। इसके अलावा गर्मियों में आने वाले फलों का सेवन जैसे - अंगूर, आम, खुबानी, आडू, लीची, आलू बुखारा आदि को अपनी डाइट में अवश्य शामिल करें क्योंकि इनमें विटामिन सी, सिट्रिक एसिड, फास्फोरस, आयरन, विटामीन-ए जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। ये इम्यूम सिस्टम को मजबूत बनाने के साथ साथ शरीर को डिहाइड्रेशन से बचाते है।

गर्मियों में हरी सब्जियों का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए क्योंकि इनमें भरपूर मात्रा में पानी होता है। इन्हें बहुत ज्यादा न पकाएं, ऐसा करने पर इनमें मौजूद पानी खत्म हो जाएगा। इस मौसम में लौकी, घीया, तरोई, ककड़ी, खीरा, कद्दू, टमाटर, प्याज, पोदीना, धनिया आदि लें। सलाद में खीरा, टमाटर, प्याज, ककड़ी आदि को रोज शामिल करें।

कैफीन व कार्बोनेटेड पेय पदार्थों जैसे चाय, कॉफी, कोल्डड्रिंक लेने से बचें। इनकी जगह गन्ने का रस, छाछ, तरबूज, पानी, नींबू पानी, ग्रीन टी, केरी का पानी, फलों का रस आदि लें। इसके अलावा ड्राय फ्रूटस की मात्रा सीमित रखें अगर लें भी तो भीगे हुए बादाम, अंजीर अखरोट ले सकते हैं।

  • अधिक मसालेदार, गर्म और ज्यादा नमक वाले खाद्य पदार्थों, जंक फूड, फास्ट फूड खाने से बचे क्योंकि ये एसिडिटी और पेट की समस्या बढ़ाते हैं।
  • कटे हुए फल व सब्जियों का प्रयोग ना करें इन्हें फ्रेश काटकर ही खाएं।
  • बासी या देर तक फ्रिज से बाहर रखें भोजन का सेवन ना करें। इसमें बैक्टीरिया पनपने की आशंका काफी ज्यादा होती है। 
  • इस मौसम मे मांसाहारी खाने के बजाय शाकाहारी अधिक लें।
  • गर्मियों में बाहर खाना खाने की जगह घर पर बना भोजन का सेवन करें।