जापान / दुनिया के सबसे महंगे खरबूज की कहानी, जिसने इस साल भी रिकॉर्ड बनाया और 31 लाख रुपए में बिका

X

  • खरबूज की इस प्रजाति को केंटालूप कहते हैं, इसे 29 तक प्रदर्शनी में रखा जाएगा ताकि स्थानीय लोग देख सकें
     

May 25, 2019, 11:57 AM IST

लाइफस्टाइल डेस्क. जापान के युबारी में दो खरबूज की बोली लगाई गई और ये 31 लाख 69 हजार 770 रुपए में बिके। इस साल भी इसकी कीमतों ने रिकॉर्ड बनाया गया है। नारंगी रंग वाला यह खरबूज बेहद मीठा होता है। खरबूजे की इस खास प्रजाति को केंटालूप कहते हैं। युबारी के थोक बाजार में ऐसे 1 हजार खरबूजों की बोली लगी है लेकिन रिकॉर्ड एक जोड़े फल बनाया है। आम इंसान इसे देख सकें, इसलिए इसे 29 मई तक प्रदर्शनी में रखा जाएगा। पिछले एक जोड़े खरबूज को 20 लाख रुपए में बेचा गया था।

5 कारण : क्यों है यह इतना खास

जापान में फसलों को बेचने के लिए हर साल मई में इनकी बोली लगाई जाती है। इनमें से कुछ ऐसी भी होती हैं जिन्हें जापानी हद से ज्यादा पसंद करते हैं इसलिए इन्हें बेहद ऊंचे दामों पर बेचा जाता है। केंटालूप खरबूज भी इन्हीं में से एक है। इसे यहां उच्च गुणवत्ता का फल माना जाता है। लंबे समय तक तेज धूप में पकने के कारण यह काफी स्वादिष्ट होता है। काफी महंगा होने के कारण इसे खाना लोग स्टेटस सिंबल समझते हैं।

 

''

माना जाता है कि केंटालूप की शुरुआत रोम और ग्रीस से हुई थी, लेकिन इसकी पुष्टि अब तक नहीं हो पाई है। एक बात और भी प्रचलित है कि 2400 ईसा पूर्व में इसे मिस्र में उगाया गया था। 1700 में इसके बीज आर्मेनिया से लाए गए थे जिसे खरबूजों का गढ़ भी कहा जाता है। इसका नाम इटली में रहने वाले एक समुदाय केंटालूपो के नाम पर पड़ा। उत्तर अमेरिका में इसकी शुरुआत क्रिस्टोफर कोलम्बस ने की थी। इसे चीन, जापान, टेक्सास, कोलोराडो, एरिजोना, टर्की, ईरान, मिस्र और भारत में उगाया जाता है। दुनिया में 51% केंटालूप का निर्यात चीन करता है। 

 

''

युबारी का खरबूज युबारी किंग मेलंस के नाम से जाना जाता है। इसकी पैदावार युबारी के विशेष क्षेत्र में ही होती है और खास तरह की मिठास के लिए जाना जाता है। सलाद, कस्टर्ड में इस्तेमाल होने के अलावा इसे आइसक्रीम के साथ भी खाया जाता है। इसके 100 ग्राम हिस्से में 34 कैलोरी होती है। इसमें विटामिन ए, सी और बी अधिक मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा फायबर, पोटैशियम, कॉपर और ओमेगा-3 की भी पूर्ति होती है। केंटालूप हार्ट, फेफड़े की बीमारियों से बचाता है। यह इम्युनिटी बढ़ाने, वजन घटाने, कैंसर से बचाने के लिए भी जाना जाता है।

 

''

युबारी केंटालूप खरबूज की दो प्रजाति अर्ल्स फेवरेट और बर्पी स्पाइसी केंटालूप का मिश्रण है। इन दोनों प्रजाति के बीजों को मिलाकर युबारी खरबूज को तैयार किया जाता है। गुणवत्ता को बरकरार रखने के लिए बीजों का चुनाव बेहद सावधानी के साथ करते हैं। इसकी पैदावार ग्रीनहाउस में की जाती है। इसे तैयार होने में करीब 100 दिन लगते हैं।

 

''

इसकी पैदावार कम होने के दो कारण हैं। पहला, युबारी में सीमित जगह में इसकी खेती और दूसरा सूरज की गर्मी। ज्यादा तापमान होने के कारण सभी खरबूज पूरी तरह विकसित नहीं हो पाते हैं। गर्मी से बचाने के लिए इन्हें खास तरह की कैप पहनाई जाती है। रोजाना इसकी देखभाल की जाती है, छोटे से छोटे बदलाव पर विशेषज्ञ नजर रखते हैं।

 

''

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना