विज्ञापन

इनोवेशन / घावों को 4 गुना तेजी से भरेगा इलेक्ट्रॉनिक बैंडेज, सांसों से होगा ऑपरेट

Dainik Bhaskar

Mar 16, 2019, 07:30 PM IST


american Researchers created electronic bandage that helps wounds heal FOUR TIMES faster
X
american Researchers created electronic bandage that helps wounds heal FOUR TIMES faster
  • comment

  • अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कॉन्सिन मेडिसन ने तैयार किया ई-बैंडेज
  • आमतौर पर घाव भरने में लगते हैं 10-12 दिन, ई-बैंडेज 3 दिन में ठीक करता है चोट
  • शोधकर्ताओं का दावा- बैंडेज पूरी तरह सुरक्षित, कोई साइड-इफेक्ट नहीं
     

हेल्थ डेस्क. अमेरिकी वैज्ञानिकों ने ऐसा इलेक्ट्र्राॅनिक बैंडेज बनाया है जो घावों को 4 गुना तेजी से भरता है। इसे यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कॉन्सिन मेडिसन ने तैयार किया है। इलेक्ट्राॅनिक बैंडेज का प्रयोग चूहे पर किया गया। प्रयोग के दौरान चूहे की पीठ पर हुए घाव पर इसे बांधा गया। जितनी बार चूहा सांस लेता था, उसके बाद इलेक्ट्रिक तरंग पैदा हुई। इससे घाव को ठीक होने में मदद मिली। 

नए ऊतकों के विकसित करने में मदद करता है ई-बैंडेज

  1. शोधकर्ताओं के अनुसार, ई-बैंड बनाने के बाद चूहे की पीठ पर 1 सेंटीमीटर का एक चीरा लगाया गया। 2 दिन बाद देखा गया तो घाव भर चुका था। वहीं दूसरे चूहे जिन्होंने बैंड लगाया हुआ था लेकिन उसमें करंट नहीं जारी हुआ था, उनमें घाव दिख रहा था।

  2. यही प्रयोग उन्होंने जानवरों पर जारी रखा और पाया कि ई-बैंडेज की मदद से 3 दिनों के अंदर घाव को ठीक किया जा सकता है। वहीं आमतौर पर ऐसे घावों को भरने में 10-12 दिन लगते हैं। शोधकर्ताओं का दावा है कि बैंड पूरी तरह सुरक्षित है और इसके कोई साइड-इफेक्ट नहीं हैं। 

  3. शोध के मुताबिक, मधुमेह रोगियों के पैरों में घाव और अल्सर जैसे मामलों में अक्सर इन्हें भरने में काफी समय लगता है। सिर्फ अमेरिका में ही हर साल ऐसे 65 लाख मामले सामने आते हैं। 

  4. 1960 में पहली बार ये पता चला था कि इलेक्ट्रिकल तरंगें घावों को भरने में सक्षम है। सूजन दूर करने के साथ यह नए ऊतकों के विकसित होने मदद करता है और ब्लड सर्कुलेशन दुरुस्त रखता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि इसके लिए खास तरह के इलेक्ट्रिकल सिस्टम की जरूरत होती है जो सिर्फ हॉस्पिटल में मौजूद होते हैं।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन