--Advertisement--

रिकॉर्ड / कोयंबटूर के डॉक्टरों ने महिला की ओवरी से 33.5 किलो का ट्यूमर निकाला, बन सकता है वर्ल्ड रिकॉर्ड



coimbatore doctors remove 33 5 kg ovarian tumor waiting for world record
X
coimbatore doctors remove 33 5 kg ovarian tumor waiting for world record

  • ऊंटी की रहने वाली वसंता कोयंबटूर में मजदूरी करती हैं
  • जब पेट का आकार तेजी से बढ़ने लगा और चल-फिरना दूभर हुआ तो वह कोयंबटूर के एक अस्पताल पहुंचीं। 
  • डॉक्टरों के मुताबिक जब वसंता ऑपरेशन कराने पहुंची तो वजन 75 किलो था

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 01:43 PM IST

हेल्थ डेस्क. कोयंबटूर के एक हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने ऑपरेशन करके रिकॉर्ड बनाया है। डॉक्टरों ने एक महिला की ओवरी में मौजूद 33.5 किलो के ट्यूमर को निकालने में कामयाबी पाई है। कोयंबटूर के खेतों में मजदूरी करने वाली वसंता को कई सालों से दर्द की शिकायत थी। जिसके बाद उसने ऑपरेशन कराने का फैसला लिया। वह अब स्वस्थ है। ऑपरेशन करने वाली टीम के हेड डॉ. सेंथिल के अनुसार इतना बड़ा ट्यूमर को सर्जरी से हटाया जाना एक रिकॉर्ड है। इसे इंडियन बुक ऑफ रिकॉर्ड्स से मंजूरी मिल चुकी है। ऑपरेशन से जुड़ी सभी जानकारी गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के लिए भेजी गई हैं। इसे दुनिया के सबसे बड़े ट्यूमर का दर्जा मिल सकता है। 

 

  • पेट का आकार बढ़ा और असहनीय होतो गया दर्द : ऊंटी की रहने वाली वसंता कोयंबटूर में मजदूरी करती हैं। वसंता के अनुसार कई सालों से पेट के निचले हिस्से में दर्द को नजरअंदाज करती आ रही  थीं। कई बार दर्द के कारण खाना तक नहीं खा पाती थी। इलाज के नाम पर सिर्फ दवाएं ले रही थीं। लेकिन जब पेट का आकार तेजी से बढ़ने लगा और चल-फिरना दूभर हुआ तो वह कोयंबटूर के एक अस्पताल पहुंचीं। 
  • जान जाने का था खतरा : डॉक्टरों से टेस्ट किया तो रिपोर्ट चौकाने वाली आई। डॉक्टरों ने वसंता को बताया कि उनकी ओवरी में ट्यूमर है। डॉक्टरों ने ऑपरेशन से इंकार किया क्योंकि हालात बेहद नाजुक थी और जान जाने का खतरा था। वसंता को कोयंबटूर स्थित एक हॉस्पिटल के बारे में पता चला। यहां डॉ. सेंथिल कुमार, डॉ. पीयूष, डॉ. अनीता और डॉ. सतीश कुमार की एक टीम ने वसंता का ऑपरेशन किया और ट्यूमर निकाल दिया।
  • तीन घंटे चला ऑपरेशन : डॉ. सतीश कुमार के मुताबिक ऑपरेशन करने में करीब 3 घंटे लगे। जब वसंता आई तो उसका वजन 75 किलो था। जांच में सामने आया कि वह असल में अंडाशय का कैंसर था। ऑपरेशन के बाद हमने ट्यूमर की जांच की तो उसका वजन 33.5 किलो था। ऑपरेशन करने वाली टीम के हेड डॉ. सेंथिल ने बताया कि यह दुनिया के सबसे अधिक वजन वाले ओवेरियन कैंसर का ट्यूमर था। इसके पहले यह रिकॉर्ड एम्स दिल्ली और पुड्डुचेरी के नाम था। जहां 20 किलो का ट्यूमर सर्जरी की मदद से निकाला गया था। 
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..