इम्युनिटी बूस्टर / अदरक, हल्दी और पत्तेदार सब्ज़ियां सर्दियों में बढ़ाती हैं रोगों से लड़ने की क्षमता

Ginger, turmeric and leafy vegetables kept in winter increases immunity
X
Ginger, turmeric and leafy vegetables kept in winter increases immunity

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 06:50 PM IST
लाइफस्टाइल डेस्क. अगर आपको हमेशा गले में खराश, सर्दी-ज़ुकाम,एलर्जी या पल-पल में रोग होते हैं तो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है। बीमारियों से लड़ने के लिए इसका मजबूत होना जरूरी है, खासतौर पर ठंड में। अपने आहार में कुछ खाद्य पदार्थ शामिल करके स्वस्थ रह सकते हैं। साओल हार्ट सेंटर के निदेशक डॉ. बिमल छाजेड़ बता रहे हैं कि कैसे आप सर्दियों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा सकते हैं।

अदरक में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण

  1. सर्दियों में अदरक सेहत के लिए अच्छी मानी गई है। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जो रोगों से लड़ने में सहायता करती है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मांसपेशियों के दर्द को दूर करते हैं। इसे कई तरह से आहार में शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा एक चम्मच कूटी हुई अदरक को एक कप हल्के गर्म पानी में डालें। इसे ढककर तीन मिनट तक उबालें। फिर छानकर पिएं। इसे रोज़ाना पी सकते हैं।

  2. आहार में लें लहसुन

    सुबह खाली पेट या भोजन में लहसुन खाएं। लहसुन की तीन-चार कलियां कूटकर पेस्ट बनाएं। इसमें शहद मिलाकर सुबह या शाम सेवन करें। इसे चटनी या तड़के के रूप में भी रोजाना खा सकते हैं।

  3. गुणकारी हल्दी

    एक गिलास गर्म दूध में कम से कम आधा छोटा चम्मच हल्दी पाउडर और शक्कर मिलाकर रात को सोने से एक घंटा पहले पिएं। इससे रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी और सर्दी से राहत मिलेगी। ताज़ी कच्ची हल्दी भी इस्तेमाल कर सकते हैं। एक छोटा चम्मच ताज़ी पिसी हुई हल्दी और शहद मिलाकर पेस्ट बनाएं। हफ्ते में दो बार इसे खाएं।

  4. इन्हें आहार में करें शामिल

    मैथी, पालक, बधुआ, साग, हरी मिर्च आदि हरी पत्तेदार सब्ज़ियों का अधिक से अधिक सेवन करें।गाजर, सहजन, चुकंदर, मशरूम खाएं । मशरूम का आम सब्ज़ियों की तरह या उनके साथ सेवन कर सकते हैं। इसमें ऐसे गुण पाए जाते हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। लेकिन इसे अच्छी तरह से धोकर और उबालकर ही खाएं ।

  5. फल-सब्ज़ियों में विटामिन-सी

    विटामिन-सी शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है। ऐसे फल खाएं जिनमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन-सी हो जैसे मौसम्बी, संतरा, नींबू, आंवला, कीवी, शिमला मिर्च आदि। इसके अलावा सीताफल में अधिक मात्रा में विटामिन- ए, विटामिन-सी, आयरन, पोटैशियम, मैग्नेशियम और कॉपर जैसे पोषक तत्व होते हैं। रोज़ाना इसका सेवन करें।

  6. मुनक्का शहद

    ठंड में मुनक्का और शहद का सेवन करने की सलाह दी जाती है। पीनी में भीगा हुआ एक मुनक्के को एक छोटे चम्मच शहद के साथ सुबह और शाम सेवन करें। इसके अलावा सूखे मेवे भी रोज़ाना खा सकते हैं। 

    नोट- रक्तचाप, मधुमेह, हड्डी आदि के रोगी उपरोक्त सलाहों पर अमल से पहले डॉक्टरी परामर्श ज़रूर लें। 

  7. तिल और एसेंशियल ऑइल

    संक्रमण से प्रभावित त्वचा पर नीलगिरी तेल की 4-5 बूंदें लगाएं। कुछ लोगों की त्वचा संवेदनशील होती है इसलिए तेल लगाने से पहले इसमें कुछ बूंदे पानी की मिलाकर लगा सकते हैं। सर्दी-ज़ुकाम होने पर गर्म पानी में तेल की कुछ बूंदें डालकर भाप ले सकते हैं। तिल और तिल से बनी गजक, लड्डू आदि भी खाएं। तिल के तेल से रोज़ाना जोड़ों और शरीर की मालिश करें।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना