रिसर्च / टीबी जैसी संक्रामक बीमारी होने से पहले जानकारी देगा एल्गोरिदम सिस्टम, इजराइली वैज्ञानिकों का दावा

Israeli researchers develop algorithm to predict infectious diseases in future
X
Israeli researchers develop algorithm to predict infectious diseases in future

विजमैन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस के शोधकर्ताओं ने विकसित किया संक्रामक बीमारी की जानकारी देने वाला एल्गोरिदम सिस्टम

दैनिक भास्कर

Jul 30, 2019, 03:49 PM IST

हेल्थ डेस्क. इजरायली वैज्ञानिकों ने ऐसा सिस्टम विकसित किया है जो टीबी या दूसरी संक्रामक बीमारी होने से पहले ही अलर्ट कर देगा। ऐसी बीमारियों के होने का खतरा कितना है, यह भी बताया जा सकेगा। नेचर कम्युनिकेशन पत्रिका में प्रकाशित शोध के मुताबिक, रिसर्च शरीर में मौजूद रोगों से लड़ने वाला इम्यून सिस्टम और बैक्टीरिया पर की गई है। विकसित किए नए सिस्टम में एल्गोरिदम का इस्तेमाल किया गया है जो रक्त की जांच कर बताता है संक्रामक बीमारी का खतरा कितना है।

शरीर में लंबे समय तक रहता है टीबी का बैक्टीरिया

यह रिसर्च विजमैन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस के शोधकर्ताओं ने की है। उनके मुताबिक सबसे पहले इम्यून कोशिकाओं और बैक्टीरिया के मिलने पर क्या होता है, इसकी जांच की गई। ऐसे ब्लड का सेंपल लिया गया है जिसमें इम्यून सेल्स और साल्मोनेला बैक्टीरिया थीं।

शोध के अगले चरण में वैज्ञानिकों ने एक एल्गोरिदम तैयार किया जो इन दोनों के मिलने और बैक्टीरिया की संख्या बढ़ने पर क्या शरीर में क्या बदलाव होते हैं, इसकी जानकारी देता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि यह एल्गोरिदम ट्यूबरकुलोसिस (टीबी) होने की शुरुआती अवस्था में इससे निपटने में मदद करता है। 

शोधकर्ताओं के मुताबिक, एल्गोरिदम का पहला प्रयोग नीदरलैंड के एक स्वस्थ व्यक्तियों के ब्लड सेंपल पर किया गया था। इनमें से कुछ लोग साल्मोनेला बैक्टीरिया से संक्रमित थे और उनके इम्यून सिस्टम में हुए बदलाव को रिकॉर्ड किया गया। शोधकर्ता हेव-अवीवी का कहना है एल्गोरिदम पहले इम्यून सेल्स और साल्मोनेला की जांच करता है क्योंकि सबसे ज्यादा बीमारी का कारण यह बैक्टीरिया है। इसके बाद टीबी की मुख्य वजह मायकोबैक्टीरियम ट्यूबरकुलोसिस की जांच करता है।

शरीर में टीबी के वैक्टीरिया का समय से पता चलना इसलिए जरूरी है क्योंकि यह बॉडी में लंबे समय तक रहती है और असर काफी समय बाद दिखता है। नए सिस्टम की मदद से मोनोसाइट्स इम्यून सेल्स की गतिविधि का स्तर भविष्य में बीमारी का खतरा बताने में मदद करेगा। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना