रिसर्च / बुढ़ापे में बच्चों की तरह तेज दिमाग के लिए रोजाना एक घंटा खेलें सूडोकू और क्रॉसवर्ड्स



Older adults who regularly do Sudoku or crosswords have sharper brains that are 10 YEARS younger
X
Older adults who regularly do Sudoku or crosswords have sharper brains that are 10 YEARS younger

  • यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सेटर और किंग्स कॉलेज लंदन में हुई रिसर्च, शोधकर्ता बोले डिमेंशिया का खतरा घटेगा
  • ब्रिटिश वैज्ञानिकों का दावा, अंकों की पहेली का हल ढूंढने से दिमाग बच्चे की तरह तेज हो सकता है

Dainik Bhaskar

May 16, 2019, 08:22 PM IST

हेल्थ डेस्क. अगर आप रोजाना एक घंटा सूडोकू या क्रॉसवर्ड्स खेलते हैं तो बुढ़ापे में दिमाग 10 साल के बच्चे की तरह तेज हो सकता है। यह दावा ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने किया है। यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सेटर और किंग्स कॉलेज लंदन में हुए शोध के मुताबिक, अंकों की पहेली का हल ढूंढने से दिमाग बच्चे की तरह तेज हो सकता है। शोधकर्ता का कहना है महज एक घंटा ऐसा करने पर भविष्य में गहरा असर दिखता है और डिमेंशिया का खतरा कम हो जाता है।

ब्रेन मांसपेशी की तरह, जितना इस्तेमाल करेंगे उतना बेहतर बनेगा

  1. शोधकर्ता, डॉ. एनी कॉर्बेट के मुताबिक, अंकों की पहेली या क्रॉसवर्ड्स खेलना मेमोरी के लिए एक तरह की एक्सरसाइज है। यह ध्यान केंद्रित करने और समस्या का समाधान ढूंढने की स्किल को बढ़ाती है। ब्रेन में कई तरह के कनेक्शन होते हैं जिन्हें रोजाना पजल जैसी गतिविधियों की जरूरत होती है, इसलिए ऐसी चीजों को अपने रूटीन का हिस्सा बनाएं।

  2. शोध के अनुसार, ब्रेन शरीर में मौजूद मांसपेशी की तरह है। इसका जितना इस्तेमाल करेंगे ये बेहतर होगी और इसकी क्षमता में इजाफा होगा। यह समस्याओं को स्वीकार करना सीखेगा और हल ढूंढने में मदद करेगा। 

  3. शोध में 50-93 साल की उम्र वाले 19 हजार लोगों को शामिल किया गया। इनसे पूछा गया है कि वे महीने, हफ्ते और रोजाना कितनी अंक पहेली को हल करते हैं। इनका हफ्तेभर तक रोजाना ऑनलाइन टेस्ट लिया गया।

  4. लगातार हुए 10 टेस्ट में अंकों या तस्वीरों के क्रम के बारे में पूछा गया। इनमें ऐसे लोगों ने अधिक अंक हासिल किए जो रोजाना सूडोकू या क्रॉसवर्ड्स खेलते थे। जो रोजाना अंक पहेली हल करते थे उनके 10 में से 9 सवाल सही थे और जवाब भी तेजी से दिए गए थे। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना