अजब-गजब / पुरुषों की आवाज ना सुन पाना भी एक बीमारी, सुनने की समस्या वाले 13000 लोगों में से भी किसी एक को होती है यह दुर्लभ बीमारी



rare disease in which one can hear women voice but can't hear mens
X
rare disease in which one can hear women voice but can't hear mens

Dainik Bhaskar

Jan 12, 2019, 03:59 PM IST

हेल्थ डेस्क.  चीन में रहने वाली एक महिला दुर्लभ बीमारी से जूझ रही है। उसे पुरुषों की नहीं, सिर्फ महिलाओं की तेज आवाज सुनाई देती है। विशेषज्ञों के मुताबिक, यह बीमारी कान की समस्या से जूझ रहे 13 हजार लोगों में एक को होती है। इसे रिवर्स स्लोप हियरिंग लॉस कहते हैं। ऐसी स्थिति में मरीज को केवल हाई फ्रीक्वेंसी साउंड सुनाई देता है। डॉक्टरों के मुताबिक, महिला में इस बीमारी की वजह तनाव हो सकता है।

लो फ्रीक्वेंसी होती है पुरुषों की आवाज

  1. चीन के जियामेन में रहने वाली चेन को बीमारी का पता तब चला जब एक सुबह उन्हें अपने दोस्त की आवाज सुनाई देना बंद हो गई थी।हालांकि, महिलाओं की आवाज सुनने में उसे किसी भी तरह की परेशानी नहीं थी। महिला को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया है जहां जांच के बाद दुर्लभ बीमारी रिवर्स स्लोप हियरिंग लॉस का पता चला।

  2. क्या है दुर्लभ बीमारी

    रिवर्स स्लोप हियरिंग लॉस उन लोगों में देखा गया, जिन्हें लंबे वक्त से कान से संबंधित समस्या होती है। बीमारी के कारण कम आवृत्ति यानी धीमी आवाज सुनने में दिक्कत होती है।

  3. आवाज को सुनने की क्षमता को एक ग्राफ की मदद से समझा जाता है, इसे ऑडियोग्राम कहा जाता है। आमतौर पर बहरेपन के ज्यादातर मामलों में मरीजों को हाई फ्रीक्वेंसी की आवाज सुनने में परेशानी होती है, लेकिन इस स्थिति में ऑडियोग्राम पर बनने वाला ग्राफ हाई पिच की आवाज के साथ नीचे गिरता जाता है।

  4. लो फ्रीक्वेंसी ना सुनाई देने के मामले में यह स्लोप ढलने की बजाय ऊपर चढ़ता दिखाई देता है, इसीलिए इसका नाम रिवर्स स्लोप हियरिंग लॉस रखा गया। इससे जूझ रहे मरीज इंसानों की सामान्य आवाज के अलावा लो फ्रीक्वेंसी साउंड भी नहीं सुन पाते।

  5. सामान्यत: पुरुषों की आवाज लो फ्रीक्वेंसी और महिलाओं की आवाज हाई फ्रीक्वेंसी की होती है। हालांकि, इस समस्या से जूझ रहे लोग हाई फ्रीक्वेंसी आवाज वाले पुरुषों की आवाज सुन सकते हैं और लो फ्रीक्वेंसी आवाज वाली महिलाओं की आवाज नहीं सुन सकते।

  6. यह बीमारी तनाव के अलावा कान संबंधी बीमारी मेनियर, जेनेटिक डिसऑर्डर, वायरल इन्फेक्शन, किडनी फेलियर और हायपरटेंशन के कारण हो सकती है। सुनने में समस्या वाले 13 हजार लोगों में से किसी एक व्यक्ति को यह बीमारी होती है।

COMMENT