इनाेवेशन / ध्वनि तरंगों से तोड़ेंगे धमनियों का ब्लॉकेज, ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने बनाई डिवाइस



Soundwaves can treat heart disease by blasting open blocked arteries
X
Soundwaves can treat heart disease by blasting open blocked arteries

  • वैज्ञानिकों ने ट्यूबनुमा डिवाइस को कोरोनरी लिथोप्लास्टी सिस्टम नाम दिया है
  • पहले चरण का ट्रायल सफल, अब यूरोप के 15 केंद्रों में 120 मरीजों पर चल रहा है परीक्षण

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 08:13 PM IST

हेल्थ डेस्क. ब्लॉक हुई धमनियों का इलाज ध्वनि तरंगों से किया जा सकेगा। ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने एक ट्यूब जैसी डिवाइस विकसित की है जो ध्वनि तरंगें पैदा करती है और धमनियों में जमा कैल्शियम तोड़ती है। पहले चरण का ट्रायल सफल रहा है। दूसरे चरण में यूरोप के 15 केंद्रों के 120 मरीजों पर इसका परीक्षण चल रहा है। वैज्ञानिकों ने इसे कोरोनरी लिथोप्लास्टी सिस्टम नाम दिया है।  

बलून की मदद से ध्वनि तरंगें रिलीज करती है डिवाइस

  1. शोधकर्ताओं के मुताबिक, मरीज को लोकल एनेस्थीसिया देकर बलून के साथ डिवाइस को कैथेटर के रूप में ब्लॉक हुई धमनी तक पहुंचाते हैं। ब्लॉकेज तक पहुंचने के बाद बलून फूल जाता है और सेलाइन सॉल्यूशन रिलीज करता है। ऐसी स्थिति में डिवाइस एक्टिव हो जाती है और बलून की मदद से ध्वनि तरंगें रिलीज करने लगती है। ये तरंगे कैल्शियम के ब्लॉकेज को धीरे-धीरे तोड़ती हैं। जरूरत पड़ने पर सर्जरी के दौरान स्टेंट लगाया जाता है। 

  2. JACC जर्नल में प्रकाशित शोध के अनुसार, इस डिवाइस की मदद से 30 मरीजों का इलाज किया जा चुका है। 90 फीसदी मामले सफल रहे हैं। वर्तमान में दूसरा ट्रायल ऑक्सफोर्ड के जॉन रेडक्लिफ हॉस्पिटल और लंदन के किंग्स कॉलेज में किया जा रहा है। 

  3. शोधकर्ताओं के मुताबिक, ज्यादातर हृदय रोगों का कारण ब्लॉकेज के कारण धमनियों का सख्त हो जाना है। इससे हृदय का रक्तसंचार बाधित होता है। सीने में दर्द, धमनियों के डैमेज होने, ब्लड क्लॉट और हार्ट अटैक का कारण बनता है। सर्जरी के लिए स्टेंट या बलून का प्रयोग किया जाता है। लेकिन हर मामले में ऐसा करना खतरनाक रहता है।

  4. शोधकर्ता और कंसल्टेंट कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. पुनीत रामरखा का कहना है कि कई मरीजों में कैल्शियम अधिक इकट्ठा हो जाता है। ऐसे मरीजों में न तो आसानी से कैल्शियम टूट पाता है और न ही बलून फूल पाता है। धमनियों के डैमेज होना का खतरा भी बढ़ जाता है। लेकिन शॉकवेव टेक्नोलॉजी से इसका इलाज संभव है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना