चंडीगढ़ / स्लिप रोड का रास्ता रोकने वालों और लेन पर चलने वालों के होंगे चालान: चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस

सिंबोलिक फोटो सिंबोलिक फोटो
X
सिंबोलिक फोटोसिंबोलिक फोटो

  • आगे निकलने के चक्कर में बार-बार न बदलें लेन, चालान से बचना है तो लेन के अंदर ही चलाएं गाड़ी
  • 31 जनवरी तक ट्रैफिक पुलिस अवेयर करेगी, 1 फरवरी से काटेगी चालान, 1 फरवरी से पीक आवर्स में हेवी व्हीकल बैन

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2020, 02:32 PM IST

चंडीगढ़. शहर इस समय बुरी तरह से ट्रैफिक की समस्या से जूझ रहा है। ट्रैफिक पुलिस लगातार प्लानिंग बना रही है, ताकि इस समस्या से जल्द निपटा जा सके। इसके तहत अब सड़कों पर आगे जाने के लिए बार-बार लेन बदलने वालों के खिलाफ ट्रैफिक पुलिस कार्रवाई करेगी।

1 फरवरी से इसे लागू किया जाना है। जो भी शख्स ट्रैफिक जाम के दौरान लेन को तोड़ेगा या गलत तरीके से आगे जाने के लिए बार-बार गाड़ी की लेन चेंज करेगा, उसका चालान काटा जाएगा।


इतना ही नहीं लाइट पॉइंट पर यदि किसी ने दाहिने हाथ की तरफ मुड़ना है और गाड़ी को बाईं तरफ चलाएगा तो उसका भी चालान काटा जाएगा। ट्रैफिक वीक के तहत फिलहाल पुलिस 31 जनवरी तक लोगों को इस बारे में जागरूक करेगी। इसके बाद 1 फरवरी से चालान कटने शुरू हो जाएंगे।

इतना ही नहीं यदि कोई सड़क पर बिना इंटीकेटर दिए लेन को बदलेगा तो उसका भी चालान किया जाएगा। इसके अलावा यदि सड़क पर दो लेन की जगह और ड्राइवर गाड़ी को आगे लेकर जाने के लिए तीसरी लेन बनाएगा तो उसका भी चालान काटा जाएगा।


दक्षिण मार्ग और उद्योग पथ पर रास्ते में गाड़ी नहीं खड़ी कर सकेंगे: यदि आप अपने वाहन को मध्य मार्ग, दक्षिण मार्ग और उद्योग पथ पर पार्क कर उसमें बैठे रहते हैं तो भी आपका चालान किया जाएगा। कई बार देखा जाता है कि सड़कों पर दो लेन ही चल सकती है। कई लोग सड़कों पर गाड़ी खड़ी करते हैं और अपने जानकार को मार्केट में जाकर सामान या कोई चीज लाने के लिए बोल देते हैं। अब ऐसे लोगों का भी चालान किया जाएगा। इसके अलावा भीड़-भाड़ वाली जगह पर आप फोन सुनने के लिए गाड़ी रोकते हैं। एेसे में सड़क पर जाम लगने की स्थिति बन जाती है। इसके लिए अब पुलिस चालान काटना शुरू करेगी। पहले यदि कोई गाड़ी में बैठा होता तो पुलिस चालान नहीं करती थी।


ट्रैफिक कम करने के लिए: चंडीगढ़ की प्रमुख सड़कों में 1 फरवरी से ही हेवी व्हीकल्स की एंट्री भी बंद की जाएगी। इसको लेकर ट्रैफिक पुलिस के प्रपोजल पर निर्देश जारी किए गए हैं। पीक आवर्स यानि सुबह, दोपहर और शाम के समय शहर के खासतौर से एंट्री और एग्जिट प्वाइंट पर ज्यादा ट्रैफिक रहता है। इसके चलते सभी तरह के हेवी व्हीकल्स की आवाजाही पीक आवर्स के दौरान बंद रहेगी। इसमें प्राइवेट बसें, ट्रक और ट्राॅली वगैरह शामिल हैं। आॅफिसर्स के मुताबिक इसको लेकर साथ लगते राज्यों पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश के संबंधित डिपार्टमेंट्स को लैटर भेजे जाएंगे, ताकि पीक आवर्स के टाइम उनकी गाड़ियां चंडीगढ़ में एंटर न करें।

स्लिप रोड के रास्ते में खड़े हुए तो लगेगा जुर्माना: आमतौर पर देखा जाता है कि लोग लाइट पॉइंट पर स्लिप रोड के लिए जाने वाले रास्ते के बीच में वाहन को खड़ा कर देते हैं। एेसे में जिन लोगों को रोड से मुड़ना होता है वे मुड़ नहीं पाते। इससे लाइट पॉइंट पर जाम लग जाता है। 1 फरवरी से रास्ता रोकने वाले ऐसे वाहन चालकों का चालान काटा जाएगा।


500 रुपए का होता है यह चालान:  ये तीनों चालान यदि किसी के कट जाते हैं तो उसे 500 रुपए जमा करवाने के बाद ही उनका दस्तावेज वापस मिलेगा। यदि आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस, इंश्योरेंस या पॉल्यूशन नहीं होगा तो यह रकम ज्यादा बढ़ सकती है।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना